• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP में पुलिस परिवार के बच्चे बनेंगे हीरो-हीरोइन, और भी बहुत कुछ है उनके लिए...

MP में पुलिस परिवार के बच्चे बनेंगे हीरो-हीरोइन, और भी बहुत कुछ है उनके लिए...

परंपरागत कोर्स के अलावा ये नए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पुलिस परिवार के बच्‍चों को रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराने में मददगार साबित होंगे

परंपरागत कोर्स के अलावा ये नए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पुलिस परिवार के बच्‍चों को रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराने में मददगार साबित होंगे

BHPAL. पुलिस परिवार के बच्‍चों को जॉब ओरिएन्‍टेड कोर्स कराने के लिए पुलिस आईटीआई भोपाल (ITI BHOPAL) और स्‍कूल ऑफ ब्रॉडकॉस्टिंग एंड कम्‍यूनिकेशन मुंबई के बीच एमओयू (MOU) हुआ. विशेष पु‍लिस महानिदेशक ट्रेनिंग अरूणा मोहन राव और एसबीसी डायरेक्‍टर डॉ. तुषिर चौधरी ने एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश पुलिस परिवार (Police Pariwar) के बच्चे अब फिल्मों में काम कर सकेंगे. वह अभिनेता और अभिनेत्री बन सकेंगे. उन्हें पत्रकार बनने का मौका भी मिलेगा. इसके अलावा भी कई रोजगार के रास्ते खुलेंगे. यह सब संभव हो पाया है पुलिस की आईटीआई (ITI) में शुरू हुए रोजगार से जुड़े शॉर्ट टर्म ट्रेनिंग से.

पुलिस परिवार के बच्‍चों को जॉब ओरिएन्‍टेड कोर्स कराने के लिए पुलिस आईटीआई भोपाल और स्‍कूल ऑफ ब्रॉडकॉस्टिंग एंड कम्‍यूनिकेशन मुंबई के बीच एमओयू हुआ. विशेष पु‍लिस महानिदेशक ट्रेनिंग अरूणा मोहन राव और एसबीसी डायरेक्‍टर डॉ. तुषिर चौधरी ने एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए.

ये भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली गेंद पर आउट हुए क्लीन बोल्ड, फिर बरसाए चौके-छक्के, VIDEO

ट्रेनिंग से मिलेगा रोजगार
एसबीसी के सहयोग से पुलिस परिवार के बच्‍चों के लिए शार्ट टर्म के जॉब ओरिएन्‍टेड ट्रेनिंग जैसे एंकरिंग, टीवी होस्टिंग, कॉपीराइटिंग फॉर एडवर‍टा‍इजिंग, डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म मेकिंग, फिल्‍म एंड टीवी प्रोडक्‍शन, मोबाइल जर्नलिज्‍म, फोटोग्राफी एंड वीडियोग्राफी, पॉडकास्‍ट, पब्लिक रिलेशन, रेडियो जॉकी एंड वायसिंग, रिपोटिंग, स्क्रिप्‍ट राइटिंग, थियेटर एंड एक्टिंग, वीडियो एडिटिंग और राइटिंग स्किल शुरू किए गए हैं. एसबीसी को भोपाल की माखनलाल यूनिवर्सिटी की मान्यता है. एक सप्‍ताह में ही दो प्रतिष्ठित संस्‍थानों से एमओयू पुलिस परिवार के बच्‍चों के बेहतर भविष्य में मदद करेगा.

परंपरागत कोर्स के अलावा नए कोर्स…
आईटीआई प्राचार्य अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक पुलिस आईटीआई भोपाल सुमन गुर्जर ने बताया कि परंपरागत कोर्स के अलावा ये नए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पुलिस परिवार के बच्‍चों को रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराने में मददगार साबित होंगे. प्रवेश प्रक्रिया पहले की तरह ही होगी. उन्‍होंने बताया कि आईटीआई परिसर में छात्र, छात्राओं के हॉस्‍टल, लायब्रेरी, प्‍लेग्राउंड, जिम, हॉस्पिटल/ओपीडी, मेस और शासन नियमानुसार स्‍कॉलरशिप की सुविधा भी उपलब्‍ध है. कोर्स में लेटेस्‍ट टेक्‍नोलॉजी के माध्‍यम से स्‍टूडेंट्स को पढ़ाया जाएगा ताकि उन्हें जॉब प्‍लेसमेंट में आसानी होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज