अपना शहर चुनें

States

कृषि खरीद केंद्रों पर अव्यवस्था से CM शिवराज नाराज़, अफसरों को दी हिदायत

शिवराज ने कहा फौरन व्यवस्था दुरुस्त की जाएं
शिवराज ने कहा फौरन व्यवस्था दुरुस्त की जाएं

एमपी (MP) में अब तक 97 हजार मीट्रिक टन बाजरा का समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है.करीब 38 हजार 400 किसानों ने इस मौसम में समर्थन मूल्य पर बाजरा बेचने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराया था.

  • Share this:
भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) बाजरा, ज्वार, धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी के इंतजामों से संतुष्ट नहीं हैं. उन्होंने अधिकारियों से इस पर नाराजगी जाहिर की है.मुख्यमंत्री इस बात से नाराज थे कि समर्थन मूल्य पर खरीदी केंद्रों पर व्यवस्था दुरुस्त नहीं है इससे किसान परेशान हैं.

मुख्यमंत्री समर्थन मूल्य पर खरीद व्यवस्था की बैठक कर रहे थे. उन्होंने कलेक्टर के साथ-साथ बैठक में मौजूद अधिकारियों से नाराजगी जाहिर की. सीएम ने कहा किसी भी स्थिति में किसानों को दिक्कत नहीं होनी चाहिये. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अब तय किया है कि वो उपार्जन की रोज समीक्षा बैठक करेंगे. सीएम ने कलेक्टर्स से प्रतिदिन उपार्जन की रिपोर्ट देने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री ने मुरैना जिले में बाजरा उपार्जन बाजरा व्यवस्थाओं की जानकारी ली और कलेक्टर से नाराज़गी जाहिर की. उन्होंने कहा बाजरा खरीदी केन्द्रों में तत्काल आवश्यकतानुसार बारदाना उपलब्ध कराया जाए.किसानों का एक-एक दाना बाजरा समर्थन मूल्य पर खरीदा जाये.खरीदी, परिवहन, बारदाना और किसानों को भुगतान की व्यवस्था हर स्थिति में चाक-चौबन्द रखी जाये

बाहर से आने वालों पर कार्रवाई करें
सीएम ने बैठक के दौरान बाहर के राज्यों से बाजरा लेकर आने वाले ट्रकों और बाजरे को राजसात कर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए. अधिकारी उपार्जन केन्द्रों में भविष्य में होने वाली बाजरा की आवक का आंकलन कर एडवांस में सारे इंतज़ाम करें. मुख्यमंत्री ने कहा मैं जनता और किसानों के लिये काम कर रहा हूं. किसानों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होने दूंगा.मैं किसानों से स्वयं मिलकर बात करूंगा. उनकी तकलीफ जानकर उसे दूर करूंगा. सीएम ने निर्देश दिए कि भोपाल से सीधे फोन पर किसानों से बात की जाये और उनकी उपार्जन से जुड़ी समस्याओं की जानकारी लेकर तत्काल निपटारा किया जाए.



खरीद की स्थिति
एमपी में अब तक 97 हजार मीट्रिक टन बाजरा का समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है. 30 नवम्बर को बाजरा उपार्जन केन्द्रों में 900-900 गठान बारदाना, एक और 2 दिसम्बर को 500-500 गठान बारदाने उपलब्ध कराए जाएंगे. अभी 9 हजार 638 किसानों से बाजरा खरीदना बाकी है. करीब 38 हजार 400 किसानों ने इस मौसम में समर्थन मूल्य पर बाजरा बेचने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज