5 स्तर की रणनीति पर कर रहे काम, जानिए सीएम शिवराज ने केंद्रीय मंत्रियों से क्या कहा, क्या बनाया प्लान

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने केंद्रीय मंत्रियों को कोरोना पर बनाई गई रणनीति के बारे में जानकारी दी.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केंद्रीय मंत्रियों और अधिकारियों से बात की. सीएम ने बताया कि प्रदेश में कोरोना को लेकर कैसा काम चल रहा है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में 5 स्तर की रणनीति पर काम हो रहा है.

  • Share this:
भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केंद्र में मध्य प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहे केंद्रीय मंत्रियों के साथ बुधवार अहम बैठक की. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई इस बैठक में कोरोना संक्रमण को लेकर चर्चा की गई. बैठक में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गए एमपी के अधिकारी भी शामिल हुए. इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की स्थिति के बारे में जानकारी दी.

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश में 5 स्तरीय रणनीति आइडेंटीफाई, टैस्ट, आइसोलेट, ट्रीट एवं वैक्सिनेट अपनाकर कोरोना नियंत्रण के लिए दिन-रात कार्य किया जा रहा है. कोरोना की गति को नियंत्रित कर लिया गया है. अब निरंतर संक्रमण कम हो रहा है. नए प्रकरणों तथा सक्रिय प्रकरणों दोनों की संख्या कम हो रही है. प्रदेश में किल कोरोना अभियान एवं कोरोना कर्फ्यू के अच्छे परिणाम सामने आए हैं.

कौन कौन हुआ शामिल?

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में केन्द्रीय मंत्री थावरचंद्र गेहलोत, नरेन्द्र सिंह तोमर, धर्मेन्द्र प्रधान, फग्गन सिंह कुलस्ते और प्रहलाद पटेल शामिल हुए. सभी मंत्रियों ने आश्वस्त किया कि आगे भी मध्यप्रदेश को केन्द्र सरकार का सहयोग मिलता रहेगा. उन्होंने कहा कि कोविड नियंत्रण के‍ लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित पूरी टीम बधाई की पात्र है.

सीएम ने किया धन्यवाद

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और फग्गन सिंह कुलस्ते को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके सहयोग से प्रदेश के 5 जिलों में 350 बिस्तर वाले कोविड केयर सेंटर मोइल कंपनी के माध्यम से बनाए जा रहे हैं. इनमें ऑक्सीजन लाइन, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स के साथ ही वैंटीलेटर्स भी लगाए जा रहे हैं.

किल कोरोना अभियान के माध्यम से कोरोना मरीज को 'आइडेंटिफाई' किया जा रहा है. प्रदेश में रोज लगभग 65 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं. प्रदेश में केन्द्र सरकार के सहयोग से तथा राज्य सरकार के मद से कुल 96 ऑक्सीजन संयंत्र लगाए जा रहे हैं. गौरतलब है कि सीएम लगातार कोरोना को लेकर बैठकें कर रहे हैं.