Corona संक्रमण पर शिवराज की नजर, जबलपुर में प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक, हो सकते हैं बड़े फैसले

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कोरोना को लेकर बड़ी बैठक करेंगे. (File)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज जबलपुर प्रवास पर हैं. वे कोरोना संक्रमण की रफ्तार को थामने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. इस बैठक में बड़े निर्णय लिए जा सकते हैं.

  • Share this:
भोपाल. प्रदेश में कोरोनावायरस को रोकने में लगी शिवराज सरकार अब जिलेवार बैठकों के जरिए व्यवस्थाओं पर फोकस कर रही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जबलपुर में प्रशासनिक अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ बड़ी बैठक करेंगे. बैठक में मुख्यमंत्री कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहे उपायों का फीडबैक लेंगे.

बता दें, अपने जबलपुर जाने से पहले ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अफसरों को कह दिया है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए कोई भी अफसर या फिर जनप्रतिनिधि एयरपोर्ट पर अगवानी करने न आए. निर्धारित बैठकों में ही सभी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. शिवराज ने कार्यकर्ताओं से भी अनुरोध किया है कि कोरोना संक्रमण को लेकर जरा सी चूक घातक साबित हो सकती है. इसलिए उनके जबलपुर दौरे के दौरान कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन किया जाए.

पहुंचने से पहले ही दिशा-निर्देश जारी

सीएम शिवराज ने अफसरों से कहा है कि जबलपुर दौरे के दौरान काफिले में निर्धारित गाड़ियों के अलावा कोई अतिरिक्त गाड़ी नहीं होगी. दरअसल मुख्यमंत्री लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेशभर से फीडबैक लेने का काम कर रहे हैं. लेकिन आज मुख्यमंत्री जबलपुर में पहुंचकर मौके पर हालातों का जायजा लेंगे और यही कारण है कि उन्होंने पहले ही दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं. ताकि, उनके पहुंचने पर किसी तरीके की भीड़ न जुटे और कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन हो सके.



केंद्र सरकार की मदद से बनेंगे कोविड सेंटर

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए और मरीजों को इलाज मुहैया कराने के लिए अब केंद्र सरकार मददगार साबित हो रही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ आज केंद्रीय पेट्रोलियम और रसायन मंत्री धर्मेंद्र प्रधान समेत MOIL और GAIL के अफसरों की एक अहम बैठक हुई. जिसमें प्रदेश के 5 जिलों मंडला, डिंडोरी, बालाघाट, सिवनी और नरसिंहपुर में सर्व सुविधा वाले कोविड केयर सेंटर बनाए जाने को लेकर सहमति बनी. इन सभी सेंटर में ऑक्सीजन लाइन और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के साथ वेंटीलेटर की भी सुविधा होगी.

11 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट भी शुरू किए जाएंगे

प्रदेश को अतिरिक्त क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर भी केंद्र सरकार मुहैया कराएगी. बैठक में तय हुआ कि हर बेड पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर होगा. मंडला में 100, बालाघाट में 100, डिंडोरी में 50, सिवनी में 60, नरसिंहपुर में 40 बिस्तर के सीसीसी बनाए जाएंगे. जिस पर ऑक्सीजन लाइन की सुविधा के अलावा हर बेड पर ज्यादा क्षमता के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लगाए जाएंगे. साथ ही 50 बेड पर वेंटिलेटर भी होंगे.