भोपाल: CM शिवराज ने की 10 जिलों के स्टूडेंट्स से बात, कहा- पढ़ाई की सारी सुविधाएं देगा ये मामा
Bhopal News in Hindi

भोपाल: CM शिवराज ने की 10 जिलों के स्टूडेंट्स से बात, कहा- पढ़ाई की सारी सुविधाएं देगा ये मामा
CM शिवराज ने की 10 जिलों के स्टूडेंट्स से बात (फाइल फोटो)

लॉकडाउन पीरियड में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) से छात्र-छात्राओं ने बातचीत कर अपने अनुभव भी शेयर किए. अपने सपनों के बारे में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बताया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भोपाल. लॉकडाउन के दौरान प्रदेश भर के स्कूल कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान पूरी तरह से बंद हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने शनिवार को लॉकडाउन के दौरान घरों से ही पढ़ाई कर रहे स्कूली छात्र-छात्राओं से बातचीत की. 10 जिलों के छात्र छात्राओं से चर्चा कर कहा कि पढ़ाई-लिखाई की सारी सुविधाएं मामा अपने भांजे-भांजियों को देंगे. आप सभी अपनी पढ़ाई की चिंता ना करें सिर्फ कोरोना (Corona) से बचाव के लिए सजग रहें. उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन पीरियड में स्कूली छात्र-छात्राएं घर पर ही रह कर पढ़ाई कर रहे हैं. दूसरी तरफ अपने हुनर को भी विकसित कर रहे हैं. इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 10 जिलों के बच्चों से बातचीत की.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आप सभी के राशन और खाद्य सुरक्षा भत्ते की व्यवस्था की गई है. आप सभी बस अपनी पढ़ाई पर फोकस करें. जब भी स्कूल शुरू होंगे तो आपकी किताबें और यूनिफॉर्म आपको मिल जाएगी. संबल योजना के विद्यार्थियों के लिए भी सरकार व्यवस्था करेगी. बच्चों की फीस के साथ ही सारी सुविधाओं के इंतजाम की जिम्मेदारी हमारी है. आप सभी स्कूली बच्चे सिर्फ पढ़ाई पर ध्यान दें आपकी हर सुविधाओं का ख्याल आपके मामा रखेंगे.

स्कूल में कोरोना से बचाव के लिए रखें ध्यान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छात्र-छात्राओं से कहा कि कोरोना से बचाव के लिए स्कूल में आप सभी एक-दूसरे से दो गज की दूरी बनाकर रखें. जब भी स्कूल और दूसरी जगह जाए तो मास्क लगाना ना भूलें. सेनेटाइजर के साथ ही दूसरी सावधानियों का भी पूरी तरह पालन करें. कोरोना खत्म हो जाएगा लेकिन आप सभी को और दूसरे स्टूडेंट को स्वस्थ रहने के लिए इन सभी बचावों को अपनी जिंदगी में अमल में लाना होगा. कोरोना से डरना नहीं है, लापरवाही भी आप सभी को नहीं करनी होगी. हम सभी एक दिन मिलकर कोरोना को जरूर हराएंगे. आप सभी कोरोना के डर को दूर कर अपने बेहतर भविष्य के लिए अपने भविष्य पर फोकस करें.



सीएम से बच्चों ने बांटे अपने अनुभव


लॉकडाउन पीरियड में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से छात्र-छात्राओं ने बातचीत कर अपने अनुभव भी शेयर किए. अपने सपनों के बारे में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बताया. देवास की उत्तरांशी ने मुख्यमंत्री से कहा कि वह मेहनत से पढ़ने का इरादा रखती है, अब वह चाहती है कि जल्द से जल्द स्कूल खुल जाए. डिंडोरी के सौरभ ने मुख्यमंत्री से कहा कि लॉकडाउन की अवधि में उसने पढ़ाई भी की और खेती किसानी के काम में भी पापा की मदद की. सौरभ इंजीनियर बनना चाहते हैं. गुना के अनुज ने कहा कि आठवीं के साथी 9 वीं की किताबें उन्होंने पढ़ ली है और वह आगे जाकर इंजीनियर बनना चाहते हैं. सीधी की दुर्गा ने अपनी पढ़ाई के बारे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को रूबरू कराया तो छतरपुर के दिव्यांश और ग्वालियर की रिचा ने भी दो महीने में अपने पढ़ाई के अनुभव मुख्यमंत्री से साझा किए. खंडवा की राधिका ने कहा कि उसने पढ़ाई के साथ मां के घर के कामों में भी मदद की वह आगे जाकर इंस्पेक्टर बनाती है. सागर की गीतांजलि ने कहा कि वह घर के काम में सहयोग करती है वो डॉक्टर बनना चाहती है. विदिशा की खुशी आईपीएस ऑफिसर बनना चाहती है और कोरोना संकट में पुलिस के काम को देखकर आईपीएस में जाना चाहती है. सीहोर की काजल पढ़ाई के प्रति गंभीर है और उसका सपना इंस्पेक्टर बनने का है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! इंदौर में corona रिकवरी रेट 50 फीसदी से अधिक, डेथ रेट में भी कमी
First published: May 30, 2020, 9:34 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading