अपना शहर चुनें

States

MP : नेता प्रतिपक्ष के लिए कांग्रेस में घमासान, बुंदेलखंड के नेताओं ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (फाइल फोटो)
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (फाइल फोटो)

2020 में हुए 28 सीटों के उपचुनाव में बुंदेलखंड में सागर ज़िले की सुरखी और छतरपुर की बड़ा मलहरा सीट कांग्रेस (Congress) के हाथ से निकल गयीं. अब बुंदेलखंड के दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव (by Election) होना है. ऐसे में पार्टी के नेता कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए नेता प्रतिपक्ष बुंदेलखंड क्षेत्र से बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) विधानसभा में विपक्ष के नेता (Leader of opposition) भले ही कमलनाथ हों लेकिन कांग्रेस के अंदर नेता प्रतिपक्ष पद के लिए दावेदारी दिन-ब-दिन तेज हो रही है. कांग्रेस में अब नेता प्रतिपक्ष के लिए आधा दर्जन से ज्यादा नेता अपनी दावेदारी जता रहे है. नई मांग बुंदेलखंड से उठी है. पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर को नेता प्रतिपक्ष बनाने के लिए बुंदेलखंड के कांग्रेस विधायक और नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को पत्र लिखा है.

अभी मध्य प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष दोनों कमलनाथ हैं. उप चुनाव के कारण नया नेता प्रतिपक्ष न चुनकर कांग्रेस ने दोनों पद कमलनाथ को ही दे रखे थे ताकि पार्टी में दो केंद्र न बनें. लेकिन अब उप चुनाव निपट चुके हैं इसलिए दावेदार फिर सक्रिय हो गए हैं. इस बार अपने नये नेता के लिए कांग्रेस विधायक क्षेत्रवाद को हवा दे रहे हैं.

बृजेन्द्र सिंह की वकालत
बुंदेलखंड के छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, दमोह और निवाड़ी के कांग्रेस नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिख दिया है. इसमें उन्होंने नेता प्रतिपक्ष बुंदेलखंड से बनाए जाने की मांग रखी है. कांग्रेस नेताओं ने अपने पत्र में लिखा है कि नेता प्रतिपक्ष का पद विंध्य और ग्वालियर क्षेत्र के पास रहा है. अब बुंदेलखंड के चेहरे को नेता प्रतिपक्ष बनाया जाना चाहिए. ताकि बुंदेलखंड में कांग्रेस मजबूत हो सके. बुंदेलखंड के कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक को भी इस संबंध में पत्र लिखा है. इन नेताओं ने खुलकर कहा है कि पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर को नेता प्रतिपक्ष बनाया जाए.




28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के बाद यह माना जा रहा है कि कमलनाथ दोहरी जिम्मेदारी में से एक पद छोड़ेंगे. पार्टी इस बात के संकेत दे चुकी है कि कमलनाथ प्रदेश अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे. लेकिन नेता प्रतिपक्ष का पद छोड़ सकते हैं. इन्हीं संकेतों के बाद पार्टी के अंदर नेता प्रतिपक्ष के दावेदारों के बीच होड़ सी मच गई है. इस पद की रेस में पहले से ही पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह, पूर्व नेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन, सज्जन सिंह वर्मा, एनपी प्रजापति, विजयलक्ष्मी साधौ का नाम चल रहा है. इसके अलावा पूर्व मंत्री पीसी शर्मा भी नेता प्रतिपक्ष के लिए अपनी दावेदारी जता चुके हैं. अब नया नाम बुंदेलखंड से सामने आया है.

 विधानसभा सत्र 28 दिसंबर से
मध्य प्रदेश विधानसभा का सत्र 28 दिसंबर से शुरू होने वाला है. सत्र से पहले 27 दिसंबर को नेता प्रतिपक्ष और पार्टी अध्यक्ष कमलनाथ ने विधायक दल की बैठक बुलाई है. विधायक दल की बैठक से पहले कांग्रेस विधायकों ने अपने नाम को आगे बढ़ाते हुए लॉबिंग तेज कर दी है. इसमें नया नाम बृजेंद्र सिंह राठौर का जुड़ गया है.

बुंदेलखड में हालत पतली
2020 में हुए 28 सीटों के उपचुनाव में बुंदेलखंड में सागर ज़िले की सुरखी और छतरपुर की बड़ा मलहरा सीट कांग्रेस के हाथ से निकल गयीं. अब बुंदेलखंड के दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है. ऐसे में पार्टी के नेता कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए नेता प्रतिपक्ष बुंदेलखंड क्षेत्र से बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.

इन नेताओं ने लिखी चिट्ठी
पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर को नेता प्रतिपक्ष बनाने के लिए महाराजपुर से विधायक नीरज दीक्षित, बंडा से विधायक तरवर सिंह लोधी, निवाड़ी जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश सिंह दांगी, शहर कांग्रेस कमेटी दमोह अध्यक्ष यशपाल सिंह ठाकुर, टीकमगढ़ जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष संजय कासगर, बंडा जनपद पंचायत अध्यक्ष देव प्रशांत सिंह सहित कई नेताओं ने पत्र लिखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज