लोकसभा चुनाव 2019 : कांग्रेस ने तय किए चेहरे, 29 सीटों के लिए इन धुरंधरों का नाम

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस तत्कालीन बीजेपी सरकार के खिलाफ एंटी इंकंमबेंसी कैश कराने में कामयाब हुई थी. अब वो लोकसभा चुनाव में बीजेपी सांसदों के खिलाफ जनता की नाराजगी को भुनाने की तैयारी से मैदान में उतर रही है.

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 8, 2019, 2:51 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 : कांग्रेस ने तय किए चेहरे, 29 सीटों के लिए इन धुरंधरों का नाम
(फाइल फोटो)
Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 8, 2019, 2:51 PM IST
इलेक्शन 2019 फतह करने के लिए कांग्रेस ने बीजेपी के मुकाबले अपने प्रत्याशी पहले तय कर लिए हैं.पार्टी ने बारह सीटों पर सिंगल नाम तय किए हैं. बाकी सत्रह सीटों पर पार्टी अगले सप्ताह नाम फायनल करेगी.

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस तत्कालीन बीजेपी सरकार के खिलाफ एंटी इंकंमबेंसी कैश कराने में कामयाब हुई थी. अब वो लोकसभा चुनाव में बीजेपी सांसदों के खिलाफ जनता की नाराजगी को भुनाने की तैयारी से मैदान में उतर रही है. पार्टी,जनता में पकड़ रखने वाले चेहरों के साथ युवा चेहरों को उतार रही है. गुरुवार को दिल्ली में हुई कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में बारह लोकसभा सीटों पर सिंगल नाम तय कर लिए गए हैं. बाकी सत्रह सीटों पर पार्टी ने दो से तीन नाम का पैनल तैयार किया है.इस पर आखिऱी फैसला सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की बैठक में होगा

कांग्रेस ने जिन 12 लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी तय किए हैं उनमें....

गुना-शिवपुरी से ज्योतिरादित्य सिंधिया

झाबुआ-रतलाम से कांतिलाल भूरिया
छिंदवाड़ा से नकुलनाथ
मंदसौर से मीनाक्षी नटराजन
Loading...

मुरैना से रामनिवास रावत
सतना से अजय सिंह
सीधी से राजेंद्र सिंह
भिंड से महेंद्र बौद्ध
खजुराहो से रामकृष्ण कुसमरिया
खंडवा से अरुण यादव
धार से गजेंद्र सिंह
बैतूल से अजय शाह

नाम भले ही तय कर लिए गए हों, लेकिन पार्टी एन मौके पर भी प्रत्याशी बदल सकती है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक यदि कोई बड़ा नाम किसी लोकसभा सीट पर आता है तो उसे बदला जाएगा.
लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कराने के लिए पार्टी इस बार प्रत्याशी चयन पर खासा फोकस कर रही है और यही कारण है कि विधानसभा चुनाव में हारने वाले चेहरों के लोकसभा क्षेत्रों को बदला गया है. साथ ही पार्टी इस बार नेता पुत्रों पर भी दांव लगाने के मूड में है..हालांकि पार्टी साफ कर चुकी है इस बार वो किसी विधायक को टिकट नहीं देगी.

ये भी पढ़ें - फिलहाल एमपी में सवर्णों को नहीं मिल पाएगा 10 फीसदी आरक्षण, ये है वजह

कांग्रेस उन जिताऊ चेहरों को उतार रही है, जो बीजेपी को कड़ी टक्कर दे सकते हैं. यहीं कारण है कि पार्टी ने लोकसभा प्रभारियों से ज़रिए रायशुमारी, फिर चर्चा और सर्वे को आधार बनाते हुए प्रत्याशियों के नाम का पैनल तैयार किया है. पार्टी की कोशिश है कि 2014 के नतीजों के पलट इस बार ज्यादा सीटें जीतने के लिए खरे उतरने वाले चेहरों पर ही चुनाव में दाव लगाया जाए.

ये भी पढ़ें - MP में लोकसभा की सभी 29 सीटों के लिए कांग्रेस ने तय किए नाम, हर सीट पर पैनल

2009 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 27 सीटें जीती थीं. कांग्रेस के खाते में सिर्फ गुना शिवपुरी और छिंदवाड़ा की सीट आयी थी. बाद में हुए उपचुनाव में रतलाम-झाबुआ की सीट कांग्रेस ने जीती थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 8, 2019, 2:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...