MP Congress NEWS : अजय सिंह की नाराजगी का असर, राकेश सिंह को रीवा से हटाया, राजा पटैरिया बने नये प्रभारी

राकेश चौधरी को रीवा का प्रभारी बनाने पर अजय सिंह को एतराज था

Congress Politics in MP ; कमलनाथ (Kamalnath) ने रीवा जिले जिम्मेदारी कांग्रेस (Congress) से बीजेपी में गए और फिर वापस कांग्रेस में लौटे चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को दी थी. कमलनाथ के इसी फैसले को लेकर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नाराज हो गए थे. विवाद इतना बड़ा था कि कमलनाथ और अजय सिंह के बीच इगो की लड़ाई तेज हो गई थी.

  • Share this:
 भोपाल. कांग्रेस नेता अजय सिंह (Ajay singh) की नाराज़गी काम कर गयी. चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को रीवा (Rewa) से हटा दिया गया है. पीसीसी चीफ कमलनाथ ने अब उनकी जगह बुंदेलखंड के वरिष्ठ नेता राजा पटैरिया को प्रभारी बना दिया है. चौधरी को मुरैना भेज दिया गया है.

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के करीब डेढ़ महीने पहले बनाए गए 58 जिलों के प्रभारियों को लेकर उपजा विवाद अब तक थम नहीं पाया है. सबसे ज्यादा विवाद रीवा जिले के प्रभारी को लेकर था. पीसीसी चीफ कमलनाथ ने रीवा जिले जिम्मेदारी कांग्रेस से बीजेपी में गए और फिर वापस कांग्रेस में लौटे चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को दी थी. कमलनाथ के इसी फैसले को लेकर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नाराज हो गए थे. विवाद इतना बड़ा था कि कमलनाथ और अजय सिंह के बीच इगो की लड़ाई तेज हो गई थी. अजय सिंह ने प्रदेश में कांग्रेस सरकार गिरने पर कमलनाथ के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा था कि वो विंध्य का अपमान कर रहे हैं.
नाराज थे अजय सिंह
अजय सिंह के मुखर विरोध को चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को रीवा का प्रभारी बनाने से जोड़कर देखा जा रहा था. अजय सिंह की नाराजगी के बाद कांग्रेस पार्टी ने साफ कर दिया था कि किसी के विरोध के कारण किसी जिले के प्रभारी को नहीं बदला जाएगा. लेकिन अब इसे अजय सिंह की नाराजगी और दबाव ही माना जाएगा कि रीवा जिले का प्रभारी बदल दिया गया.

तीन नये प्रभारी
कमलनाथ ने चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को रीवा से हटाकर मुरैना जिले का प्रभारी बनाया है. वही रीवा जिले की जिम्मेदारी बुंदेलखंड के सीनियर नेता राजा पटैरिया को दी गई है. कांग्रेस पार्टी ने आज कई जिलों के प्रभारियों को बदल दिया. पीपीसी ने पूर्व मंत्री तरुण भनोट को कटनी, हेमंत कटारे को शिवपुरी और राजेंद्र मिश्रा को टीकमगढ़ का प्रभारी बनाया है.

क्या था पूरा विवाद
2023 के विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर कमलनाथ ने 58 जिलों में पार्टी नेताओं को प्रभारी नियुक्त किया था. नेताओं की जिम्मेदारी थी कि वह प्रभार वाले जिलों में जाकर जिला इकाई और पीसीसी के बीच समन्वय बनाने के साथ 2023 के चुनाव की तैयारी में जुट जाएं. लेकिन इन नियुक्तियों को लेकर पार्टी के अंदर ही विवाद खड़ा होने लगा था. अब विरोध के सुरों को थामने के लिए कांग्रेस पार्टी ने रीवा सहित कई जिलों के प्रभारियों को बदल दिया है. अब देखना यह है कि प्रभारियों की अदला-बदली के बाद विवाद कितना थम पाता है.

पार्टी का बयान
कांग्रेस के संगठन मंत्री चंद्रप्रभाष शेखर ने कहा है कि कुछ जिलों के प्रभारियों को बदला गया है. यह पार्टी का आंतरिक मामला है. रीवा के प्रभारी चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी को हटाकर मुरैना का प्रभारी बनाया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.