अपना शहर चुनें

States

कांग्रेस ने किया 'भारत बंद' का समर्थन, सरकार बोली- जबरदस्ती या हिंसा करने पर खैर नहीं

कांग्रेस ने अपनी ज़िला इकाइयों को इसके विरोध में ज्ञापन सौंपने का निर्देश दिया है.. (सांकेतिक तस्वीर)
कांग्रेस ने अपनी ज़िला इकाइयों को इसके विरोध में ज्ञापन सौंपने का निर्देश दिया है.. (सांकेतिक तस्वीर)

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने कॉरपोरेट सेक्टर को फायदा पहुंचाने के लिए कृषि कानून को लागू करने का आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार से तीनों कानून वापस लेने की मांग की है. दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि 8 दिसंबर को होने वाले बंद में वह सहयोग करे.

  • Share this:
भोपाल. कृषि कानून (agricultural law) के खिलाफ दिल्ली में डटे किसान संगठनों के आह्वान पर एमपी में कांग्रेस (Congress) ने बंद का  समर्थन किया है. आठ दिसंबर को होने वाले भारत बंद को लेकर मध्यप्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच जोर आजमाइश भी तेज हो गई है. बीजेपी सरकार ने चेतावनी दे दी है कि अगर बंद के लिए किसी ने जबरदस्ती या हिंसा की तो उसकी खैर नहीं.

प्रदेश कांग्रेस ने कल मंगलवार को किसानों की ओर से बुलाए जा रहे भारत बंद का कांग्रेस ने समर्थन कर दिया है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने सभी जिला इकाइयों को निर्देश जारी कर दिया है. इसमें कहा गया है कि जिला स्तर पर कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन कर उनकी मांगों के समर्थन में प्रशासन को ज्ञापन सौंपे. पीसीसी चीफ कमलनाथ ने जिला इकाइयों से कहा है कि वो केंद्र सरकार के 3 नए कृषि कानून के विरोध में हो रहे भारत बंद को मध्य प्रदेश में पूरा समर्थन दें.

कृषि का काला कानून
पीसीसी चीफ ने कहा बिना चर्चा पारित किए गए तीन नए कृषि कानून को लागू करना किसानों को पूरी तरह से बर्बाद करने का फैसला है. न्यूनतम समर्थन मूल्य की कोई गारंटी का जिक्र कानून में नहीं है. मंडी व्यवस्था खत्म की जा रही है. इन कानूनों से सिर्फ कॉरपोरेट जगत को फायदा होगा और जमाखोरी मुनाफाखोरी को बढ़ावा मिलेगा. काले कानून का कांग्रेस पार्टी मध्यप्रदेश में 8 दिसंबर को विरोध करेगी.
पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी बंद का समर्थन किया है. उन्होंने प्रदेश वासियों से अपील की है कि 8 दिसंबर को वह भारत बंद का समर्थन करें. दिग्विजय सिंह ने कॉरपोरेट सेक्टर को फायदा पहुंचाने के लिए कृषि कानून को लागू करने का आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार से तीनों कानून वापस लेने की मांग की है. दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि 8 दिसंबर को होने वाले बंद में वह सहयोग करे. कांग्रेस पार्टी का भारत बंद को पूरी तरह से समर्थन होगा. कांग्रेस के साथ बसपा और सपा ने भी बंद का समर्थन किया है.



 सरकार की चेतावनी
प्रदेश सरकार ने साफ कर दिया है कि आठ दिसंबर को भारत बंद के नाम पर लोगों को परेशान किया गया या हिंसा फैलाई गई तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी. प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा भारत बंद के नाम पर किसी को परेशान नहीं होने दिया जाएगा और जबरदस्ती बंद कराया गया तो सरकार सख्ती के साथ निपटेगी. सहकारिता मंत्री ने प्रदेश के किसानों से कांग्रेस और दूसरे दलों के फैलाए जा रहे भ्रम में नहीं आने की अपील की है. उन्होंने कहा कृषि बिल किसानों को फायदा पहुंचाने वाला है. लेकिन कांग्रेस और दूसरे दल कृषि कानून को लेकर किसानों में भ्रम फैला रहे हैं.जनता को बंद से दूर रहना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज