लाइव टीवी

दिल्‍ली में 'धमाका' करने की तैयारी में MP कांग्रेस, CM कमलनाथ ने जिलों को दिया ये टारगेट

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 21, 2019, 8:37 PM IST
दिल्‍ली में 'धमाका' करने की तैयारी में MP कांग्रेस, CM कमलनाथ ने जिलों को दिया ये टारगेट
दिल्ली की रैली को लेकर सक्रिय हुए कमलनाथ.

देश के आर्थिक हालातों (Economic Conditions) और मोदी सरकार (Modi Government) की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के नेतृत्व में दिल्‍ली में होने वाली की रैली के जबर्दस्‍त तैयारी कर रही है. इसके लिए मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (CM Kamal Nath) ने जिलों को खास टारगेट दिया है.

  • Share this:
भोपाल. देश के आर्थिक हालातों (Economic Conditions) और केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने अब तक के सबसे बड़े आंदोलन की रणनीति पर काम तेज कर दिया है. कांग्रेस की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के नेतृत्व में होने वाली दिल्ली की रैली के लिए कांग्रेस ने सभी जिलों को तीस से चालीस हजार कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचने का टारगेट दिया है. इसको लेकर गुरुवार को भोपाल में कांंग्रेस जिला अध्यक्षों की बैठक हुई, जिसे पीसीसी चीफ और मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) के अलावा कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया (Deepak Babaria) ने भी संबोधित किया.

कमलनाथ ने दिया ये आदेश
पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कांग्रेस जिला अध्यक्षों की बैठक में जिलों में 25 नवंबर को केंद्र के खिलाफ धरना देने और 14 दिसंबर को दिल्ली में होने वाले आंदोलन में बड़ी संख्या में शामिल होने को कहा है. इसके साथ ही सीएम ने कांग्रेस जिला अध्यक्षों को राज्य सरकार की उपलब्धियां आम लोगों तक पहुंचाने का आग्रह किया है. जबकि कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने बैठक में पहुंचे जिला अध्यक्षों और प्रभारियों की अटेंडेंस लगाई. जबकि पार्टी बैठक में नहीं पहुंचे जिला अध्यक्षों की रिपोर्ट तैयार करेगी.

बैठक में अपनों ने फिर जताई नाराजगी

कांग्रेस जिला अध्यक्षों की बैठक में नेताओं ने संगठन और सत्ता के खिलाफ फिर अपनी नाराजगी जाहिर की. जिला अध्यक्षों ने पीसीसी के सुस्त रवैये को लेकर बाबरिया से शिकायत की,तो वहीं मंत्रियों के सुनवाई नहीं करने के मामले को भी उठाया. प्रदेश प्रभारी बाबरिया ने कहा है कि ग्यारह महीने सत्ता में रहने के कारण सुस्त पड़े संगठन को फिर सक्रिय किया जाएगा. जबकि संगठन के बूते पर मंत्री बने चेहरों को कार्यकर्ताओं की सुनवाई करना होगा. बाबरिया ने कहा है कि कार्यकर्ताओं की उपेक्षा बर्दाश्त नहीं होगी और वचनपत्र पर अमल पर नजर रखने के लिए मेनिफेस्टो इम्प्लीमेंटेशन कमेटी का गठन होगा. बाबरिया ने कांग्रेस में दुकान चलाने वालों को सजा देने की की बात कही है.

bhopal , congress, kamal nath
14 दिसंबर को दिल्ली में सोनिया गांधी के नेतृत्‍व में होगी कांग्रेस की रैली.


ऐसे रहेगा धरना कार्यक्रम
Loading...

कांग्रेस ने तय किया है कि केंद्र के खिलाफ भोपाल छोड़ सभी जिलों में 25 नवंबर को धरना होगा. जबकि भोपाल में कुछ वजह से ऐसा 26 नवंबर को धरना होगा.

ये भी पढ़ें-

प्रज्ञा पर कांग्रेस का तंज-जिन पर संगीन आरोप, वो क्या देश की रक्षा करेंगी!
बैंक के 'ढोल बजाओ अभियान' से दहशत में बकायेदार, इतने करोड़ की होनी है वसूली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 5:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...