अपना शहर चुनें

States

किसानों के समर्थन में कांग्रेस 19 को मनाएगी विरोध दिवस, नेता करेंगे उपवास

कांग्रेस नेता गांधी प्रतिमा के सामने उपवास पर बैठेंगे.
कांग्रेस नेता गांधी प्रतिमा के सामने उपवास पर बैठेंगे.

किसान आंदोलन के खिलाफ भाजपा के किसान सम्मेलन के जवाब में कांग्रेस के 1 दिन के उपवास से प्रदेश का सियासी माहौल गर्म हो उठा है.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (MP) में कांग्रेस किसानों के समर्थन में बीजेपी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 19 दिसंबर को विरोध दिवस मनाएगी. पूरे प्रदेश में राजधानी भोपाल से लेकर ब्लॉक स्तर तक पार्टी के नेता उपवास करेंगे. कांग्रेस (Congress) ने इसके लिए सभी जिला इकाइयों को निर्देश जारी कर दिए हैं. इसी दिन पार्टी पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों के खिलाफ भी प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन करेगी.

पेट्रोल डीजल के साथ ही रसोई गैस की कीमतों में फिर इजाफा हुआ है. पेट्रोलियम कंपनियों ने मंगलवार को रसोई गैस की कीमतें ₹50 बढ़ा दी  हैं. 15 दिन में पेट्रोलियम कंपनियों ने घरेलू गैस के सिलेंडर के दाम में ₹100 बढ़ा दिए हैं. राजधानी में उपभोक्ताओं को 14.2 किलो का घरेलू गैस सिलेंडर बिना सब्सिडी वाला ₹700 में मिल रहा है. भोपाल में कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम 1301 रुपए 50 पैसे से बढ़कर 1337 रु 50 पैसे हो गए हैं. पेट्रोल डीजल के साथ ही रसोई गैस के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने आंदोलन का ऐलान किया है.





किसान आंदोलन का समर्थन
कांग्रेस पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों पर शहरी इलाकों के वोटरों को साधने की कोशिश में है. यही कारण है कि नगरीय निकाय चुनाव से पहले बड़े शहरों में बड़े स्तर पर आंदोलन का ऐलान कांग्रेस ने किया है. वो किसान आंदोलन का समर्थन कर रही है. 19 दिसंबर को कांग्रेस नेता उपवास के जरिए किसान आंदोलन का समर्थन करेंगे और कृषि कानून के खिलाफ अपनी नाराजगी जताएंगे.

गांधी प्रतिमा के सामने धरना
कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश पर 19 दिसंबर को कांग्रेसी विरोध प्रदर्शन और उपवास करेंगे. भोपाल में भी कांग्रेस के बड़े नेता उपवास कर किसान आंदोलन का समर्थन करेंगे.

बीजेपी की सलाह
वहीं बीजेपी ने कांग्रेस को पश्चाताप दिवस मनाने की सलाह दी है. बीजेपी के मुताबिक कांग्रेस जब सत्ता में थी तब पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाए गए. राजस्थान में पेट्रोल और डीजल सबसे ज्यादा महंगा है. वहां कांग्रेस की सरकार है. महंगाई पर कांग्रेस पार्टी ढोंग कर रही है.

सियासी माहौल गर्म
पेट्रोल डीजल और एलपीजी सिलेंडर के बढ़ते दाम से प्रदेश की जनता भी परेशान है. किसान आंदोलन के खिलाफ भाजपा के किसान सम्मेलन के जवाब में कांग्रेस के 1 दिन के उपवास से प्रदेश का सियासी माहौल गर्म हो उठा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज