हॉटस्पॉट जहांगीराबाद में 4 साल की बच्ची कोरोना पॉजिटिव, एंबुलेंस देख रोने लगी, फिर...
Bhopal News in Hindi

हॉटस्पॉट जहांगीराबाद में 4 साल की बच्ची कोरोना पॉजिटिव, एंबुलेंस देख रोने लगी, फिर...
अधिकारियों ने भी बच्ची को समझाइश दी.

पिता ने समझाया और स्वास्थ्य अमले में तैनात अधिकारियों ने कहा 'बेटी आप ठीक हो जाओगे, वहां पर आपको बहुत सारी चॉकलेट मिलेगी'. इसके बाद 4 साल की बच्ची अपने पिता के साथ एंबुलेंस में बैठकर अस्पताल गई.

  • Share this:
भोपाल. अपने पिता का हाथ थामे चार साल की कनक ने जब एंबुलेंस को देखा तो वह जोर-जोर से रोने लगी. उसे पता था कि एंबुलेंस से उसे अस्पताल ले जाया जाएगा. पिता ने समझाया और स्वास्थ्य अमले में तैनात अधिकारियों ने कहा 'बेटी आप ठीक हो जाओगे, वहां पर आपको बहुत सारी चॉकलेट मिलेगी'. इसके बाद 4 साल की बच्ची अपने पिता के साथ एंबुलेंस में बैठकर अस्पताल गई.

प्रदेश का सबसे हॉटस्पॉट जहांगीराबाद (Jahangirabad) इलाका बन गया है. यहां पर हर रोज 15 से लेकर 20 मरीज पॉजिटिव निकल रहे हैं. अभी तक 180 से ज्यादा पॉजिटिव (COVID-19) मरीज इसी इलाके से मिले हैं. इनमें 9 लोगों की मौत भी हो चुकी है. यहां पर प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. शहर के दूसरे इलाकों की तुलना में जहांगीराबाद इलाके से हर रोज 300 लोगों का सैंपल लिया जा रहा है.

पिता का नहीं छोड़ा हाथ



4 साल की कनक अपने परिवार के साथ जहांगीराबाद इलाके में रहती हैं. उसके मोहल्ले में कई लोग कोरोना पॉजिटिव (Coronavirus) पाए गए. मोहल्ले के लोगों से ही कनक भी कोरोना से संक्रमित हुईं. जब स्वास्थ्य विभाग के अमले को कनक की रिपोर्ट मिली तो वे उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए जहांगीराबाद इलाके पहुंचे. स्वास्थ्य विभाग की  सूचना पर कनक के पिता अपनी बेटी को लेकर एंबुलेंस के पास पहुंचे. स्वास्थ विभाग का अमला डिटेल नोट कर रहा था. इसी दौरान कनक को यह एहसास हुआ कि उसे अब अस्पताल में एंबुलेंस के जरिए ले जाया जाएगा. एंबुलेंस को अपने करीब खड़ा देखकर कनक जोर-जोर से रोने लगी. उसने अपने पिता का हाथ नहीं छोड़ा.
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा....

बच्ची को रोता देख स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने उससे कहा कि बेटी आप अस्पताल जाकर जल्द ठीक हो जाओगी. आप रोना बंद करो. वहां पर आपको बहुत सारी चॉकलेट मिलेगी. पिता के समझाने पर भी कनक ने रोना बंद नहीं किया. सभी जानकारी जुटाने के बाद स्वास्थ विभाग की टीम कनक को लेकर बैरागढ़ स्थित प्राइवेट अस्पताल पहुंची. बच्ची के साथ उसके पिता ने दिया. कनक ने अपने पिता का हाथ नहीं छोड़ा. अस्पताल में कनक का इलाज शुरू हो गया है.

सबसे हॉटस्पॉट ये इलाका

जहांगीराबाद इलाके में 125000 लोग रहते हैं. ये पुराने भोपाल (Bhopal) का इलाका है. यहां तैनात टीम लोगों से लगातार अपील कर रही है कि लोगों को डरने की जरूरत नहीं. वो सामने आकर अपना सैंपल दें. सरकार सभी के साथ है और सभी की मदद भी कर रही है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि यहां पर सबसे ज्यादा सकरी गलियां हैं, मल्टीस्टोरी है. यही कारण है कि यहां पर तेजी से संक्रमण फैला है.

प्रशासन ने पूरे इलाके को सील कर दिया है. लोगों को घरों में क्वारंटाइन किया गया है. 3 लेयर में सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है. 24 घंटे पुलिस अधिकारी कर्मचारी तैनात रहते हैं. इसके अलावा नगर निगम का अमला भी साफ सफाई के अलावा इलाके में जाकर सैनिटाइज करता है. राजस्व विभाग का अमला भी लगातार लोगों के सैंपल और डाटा तैयार कर रहा है.

ये भी पढ़ें: 

62 साल के डायबिटिक पुलिसकर्मी ने जीती कोरोना से जंग, 'फिल्मी स्टाइल' में लोगों ने किया वेल्कम 

शिवराज सरकार के नए श्रम कानून का विरोध, इंटक बोला- मजदूर नहीं मालिकों को होगा फायदा, PM मोदी को लिखा पत्र 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज