लाइव टीवी

बिजली पर बवाल: शिवराज को कमलनाथ के मंत्री की सलाह, कहा- अपना राजनैतिक स्तर न गिराएं

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 11, 2019, 6:36 PM IST
बिजली पर बवाल: शिवराज को कमलनाथ के मंत्री की सलाह, कहा- अपना राजनैतिक स्तर न गिराएं
ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने शिवराज सिंह चौहान पर साधा निशाना.

मध्‍य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह (Priyavrat Singh) ने बिजली के बिलों को लेकर पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) पर भ्रम फैलाने और वैधानिक कार्रवाई करने के बयान से अच्‍छा खासा बवाल मच गया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में बिजली के बिलों को लेकर सियासत गर्म है. पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) पर भ्रम फैलाने और वैधानिक कार्रवाई करने के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह (Priyavrat Singh) के बयान से अच्‍छा खासा बवाल मच गया है. जबकि पूर्व सीएम ने कहा है कि जहां भी उपभोक्ताओं को भारी बिजली बिल (Electricity Bill) दिए जाएंगे. उसका विरोध होगा. वहीं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने उन्‍हें नसीहत दी है कि वह (शिवराज) अपना राजनीतिक स्‍तर ना गिराएं.

शिवराज ने कही ये बात
शिवराज ने आज टवीट कर कहा है कि प्रदेश में अन्यायपूर्ण बिजली बिलों की वसूली नहीं होने दूंगा. उन्‍होंने कहा है कि बिजली उपभोक्ता को सौ से ज्यादा का बिल देने पर विरोध होगा. वहीं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने शिवराज पर जवाबी हमला बोलते हुए कहा है कि प्रदेश में किसी को भी अन्यायपूर्ण बिल नहीं दिए जा रहे हैं. सरकार ने बिजली बिल सौ रुपए सौ यूनिट करने का फैसला लिया है और इंदिरा गृह ज्योति योजना में बिजली उपभोक्ताओं को कम दर के बिजली बिल दिए जा रहे हैं. ऊर्जा मंत्री ने शिवराज को सलाह देते हुए कहा है कि शिवराज को घटिया राजनीति से बचना चाहिए और अपना राजनैतिक स्तर बनाएं रखना चाहिए.

दरअसल, शिवराज सिंह चौहान प्रदेश भर में सरकार के बिजली बिलों को लेकर विरोध जता रहे हैं. उनका कहना है कि जहां भी उपभोक्ताओं को भारी बिजली बिल दिए जाएंगे, उसका विरोध होगा. हालांकि अब इस पूरे मामले को लेकर छिड़ी सियासत गरम है.

ऊर्जा मंत्री ने पेश किए आंकड़े
हाल ही में ऊर्जा मंत्री ने अपने एक साल का ब्यौरा देते हुए कहा था कि बिजली कंपनियों पर कुल 37 हजार 963 करोड़ रुपये ऋण था, जो अब लगभग 44 हजार 975 करोड़ हो गया है. बावजूद इसके राज्य सरकार ने घरेलू उपभोक्ताओं के लिए इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू की है. इसे अगस्त में संबल योजना से जोड़ते हुए सभी घरेलू उपभोक्ताओं, जिनकी 30 दिन की मासिक खपत 150 यूनिट से कम है, को 100 यूनिट की खपत का 100 रुपये बिल दिया जा रहा है. जबकि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के घरेलू उपभोक्ताओं को 30 यूनिट तक की खपत पर 25 रुपये का बिल दिया जा रहा है, लेकिन शिवराज सिंह चौहान लोगों में भ्रम फैला रहे है और सरकार लोगों को गुमराह करने के मामले में शिवराज पर वैधानिक कार्रवाई कर सकती है. इसके जवाब में ही शिवराज अब ऐलान किया है कि वो बिजली बिलों को लेकर नाराज उपभोक्ताओं के साथ खड़े होंगे.
ये भी पढ़ें-
MP में खाद की किल्लत पर सख्‍त हुए CM कमलनाथ, अधिकारियों को दिए ये निर्देश
कमलनाथ सरकार का बड़ा फैसला, Land Pulling Policy के तहत किसानों को लौटाएगी जमीन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 6:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर