• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • BHOPAL MP EX CM DIGVIJAY SINGH WROTE TO SHIVRAJ SINGH CHOUHAN BLACK FUNGUS BLACK MARKETING MPNS

ब्लैक फंगस के इंजेक्शन की कालाबाजारी का खतरा, दिग्विजय सिंह ने CM शिवराज को क्यों लिखा पत्र

दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर अपील की है. (File)

ब्लैक फंगस मामला: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने सीएम शिवराज को पत्र लिखा है. दिग्विजय सिंह ने ब्लैक फंगस की दवा की कालाबाजारी का अंदेशा जताया है. उन्होंने शिवराज से मरीजों का ध्यान रखने की अपील की है.

  • Share this:
भोपाल. प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच अब ब्लैक फंगस का खतरा मंडरा रहा है. इस मामले पर अब सियासत भी जोर पकड़ने लगी है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर ब्लैक फंगस के लिए जरूरी इंजेक्शन की कालाबाजारी और नकली इंजेक्शन का कारोबार शुरू होने का अंदेशा जताया है.

दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज से अनुरोध किया है कि ब्लैक फंगस के इलाज के लिए जरूरी इंजेक्शन मरीजों को अस्पतालों के जरिए उपलब्ध कराए जाएं. इसकी कालाबाजारी और नकली दवा के कारोबार को रोकने के लिए सरकार सख्त कदम उठाए. सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि इस बीमारी के इलाज के लिए जरूरी एंटी फंगल इंजेक्शन बाजार से गायब हो गए हैं और उनके परिजन भटक रहे हैं. ऐसे में सरकार को कुछ ठोस कदम उठाने चाहिए.

भोपाल के अस्पताल में उपलब्ध नहीं इंजेक्शन

दरअसल इस बात की खबरें आ रही हैं की ब्लैक फंगस के इलाज के लिए जरूरी इंजेक्शन मरीजों को नहीं मिल पा रहा. भोपाल में मरीज इस इंजेक्शन को दूसरे जिलों से लेकर आ रहे हैं. राजधानी के हमीदिया अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए एंटीफंगस लाइपोसोमल, एम्फोटोरेसिन इंजेक्शन बीते 10 दिनों से उपलब्ध नहीं हैं.

सीएम शिवराज ने एक दिन पहले ही दिए निर्देश

बता दें, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को अफसरों के साथ बैठक में इस बात के निर्देश दिए हैं की ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों को लेकर व्यवस्था बनाई जाए. इस बीमारी के लिए उपयोगी दवा की कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने के लिए जिला प्रशासन सतर्क रहें. कोरोना के संक्रमण में रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी और नकली इंजेक्शन लगाने के मामले को लेकर हड़कंप के हालात हैं और ऐसे में अब ब्लैक फंगस के लिए जरूरी एंटीवायरल इंजेक्शन की कमी को लेकर सियासत भी जोर पकड़ने लगी है.