कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की कोई इच्छा नहीं, जानिए एमपी में रहकर करना क्या चाहते हैं कमलनाथ

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा है कि उनकी इच्छा मध्य प्रदेश की ही सेवा करने की है.

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा है कि उनकी इच्छा मध्य प्रदेश की ही सेवा करने की है.

मध्य प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष कमलनाथ. इनकी कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की कोई इच्छा नहीं. कमलनाथ ने कहा कि मैं एमपी की ही सेवा करना चाहता हूं. जीवन में कई पद मुझे मिल चुके.

  • Last Updated: May 30, 2021, 8:35 AM IST
  • Share this:

भोपाल. प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा है कि कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की उनकी कोई इच्छा नहीं है. वह मध्य प्रदेश की सेवा करना चाहते हैं. उन्हें किसी पद की इच्छा नहीं. लंबे समय तक सांसद और राजनीतिक जीवन में उन्हें कई पद मिल चुके हैं. कमलनाथ भोपाल में मीडिया से ऑनलाइन चर्चा कर रहे थे.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने एक बार फिर बीजेपी सरकार पर हमला बोला. कमलनाथ ने आरोप लगाया कि प्रदेश में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगने से लोग मारे गए. इस बात की जांच होनी चाहिए कि नकली इंजेक्शन अस्पतालों में कैसे पहुंचे. मरीजों को कैसे लगाए गए. ऐसे कितने लोग हैं जिन्हें नकली इंजेक्शन के कारण जान गवानी पड़ी. कमलनाथ ने कहा कि उन्हें लगातार इस बात की सूचनाएं मिल रही हैं कि नकली इंजेक्शन लगने से लोगों की मौत हुई है.

सरकार मौत के आंकड़े सामने रखे- पूर्व सीएम

कमलनाथ ने कहा कि कोविड-19 से लड़ने पर सरकार को ध्यान देना चाहिए. सरकार कोरोना वायरस से हुई मौत का आंकड़ा जनता के सामने रखे. उनका आंकलन है कि 80 फीसदी लोगों की मौत कोरोना के हुई है. सरकार के पास दूसरा कोई आंकड़ा हो तो उसे सार्वजनिक करें. गौरतलब है कि कमलनाथ पहले ही इंडियन कोरोना वेरियंट और उसके बाद मेरा भारत महान, भारत बदनाम जैसे बयान देकर विवादों को खड़ा कर चुके हैं.
विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस को करेंगे मजबूत- कमलनाथ

एक सवाल के जवाब में कमलनाथ ने कहा कि विंध्य में कांग्रेस को मजबूत करने की कोशिश है. इस क्षेत्र की सीटों पर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं था. इसलिए यहां संगठन को मजबूत करने पर पार्टी काम कर रही है. जिन सीटों पर कांग्रेस चार-पांच बार से हार रही है, वहां की समीक्षा की जा रही है. विंध्य में संगठन को मजबूत करने के लिए इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि जिन लोगों का जनता में ज्यादा असर है उन्हें तवज्जो दी जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज