एमपी के वित्त मंत्री ने 800 करोड़ के कर्ज को बताया वाजिब, कहा- विपक्ष है नासमझ

Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 5, 2018, 1:18 PM IST
एमपी के वित्त मंत्री ने 800 करोड़ के कर्ज को बताया वाजिब, कहा- विपक्ष है नासमझ
Jayant Malaiya (File Photo)

जयंत मलैया के मुताबिक कर्ज़ लिया जाना गलत नहीं है, लेकिन गैर ज़िम्मेदार विपक्ष को ये बात समझ नहीं आ सकती. मलैया ने कहा कि कर्ज़ अपनी सीमा में लिया जा रहा है

  • Share this:
मध्य प्रदेश वित्तमंत्री जयंत मलैया ने 800 करोड़ का कर्ज़ लेना सही बताया है. जयंत मलैया के मुताबिक कर्ज़ लिया जाना गलत नहीं है, लेकिन गैर ज़िम्मेदार विपक्ष को ये बात समझ नहीं आ सकती. मलैया ने कहा कि कर्ज़ अपनी सीमा में लिया जा रहा है और इससे विकास कार्य ही किए जाते हैं. विपक्ष को इस बात की समझ ही नहीं है.

कैबिनेट को लेकर मलैया ने कहा कि कुछ मुद्दों पर सिर्फ चर्चा की जानी है, कोई नीतिगत फैसले नहीं लिए जाने हैं. वहीं पार्टी के बागियों को लेकर मलैया ने कहा कि कांग्रेस को बागियों से नुकसान उठाना पड़ेगा लेकिन कुसमारिया से उन्हें खास फर्क नहीं पड़ेगा. पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमारिया मलैया के खिलाफ दमोह और पथरिया से चुनावी मैदान में हैं.

दरअसल, पहले से करीब पौने दो लाख करोड़ रुपए के कर्ज़ में डूबी एमपी सरकार ने फिर 800 करोड़ रुपए का कर्ज़ लेने का फैसला किया है. चुनाव नतीजों से ठीक पहले एमपी सरकार ने एक बार फिर कर्ज़ लेने का फैसला किया है. सरकार 10 साल के लिए बाज़ार से 800 करोड़ रुपए का कर्ज़ लेने जा रही है. ये कर्ज़ डेवलपमेंट प्रोग्राम के नाम पर लिया जाएगा. इस सिलसिले में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है.

बीजेपी की मानें तो डेवलपमेंट के नाम पर कर्ज़ लेने में कोई हर्ज़ नहीं है. मध्य प्रदेश सरकार मौजूदा वक्त में 1.81 लाख करोड़ के कर्ज़ में डूबी है. इसी वित्तीय वर्ष में करीब 12 हजार करोड़ रुपए का कर्ज़ लिया जा चुका है. ऐसे में इतना तय है कि आने वाली जो भी सरकार होगी कर्ज़ उसके लिए बड़ी चुनौती होगा.

यह पढ़ें- मध्यप्रदेश में सरकार किसी की भी बने वो कर्ज़ के भारी बोझ तले दबी होगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2018, 11:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...