Home /News /madhya-pradesh /

MP : नर्सिंग होम्स की मनमानी पर सरकार सख्त, इलाज के नाम पर लूट हुई तो सीधे FIR होगी

MP : नर्सिंग होम्स की मनमानी पर सरकार सख्त, इलाज के नाम पर लूट हुई तो सीधे FIR होगी

सीएम शिवराज ने कहा कि  कई नर्सिंग होम्स अपने सेंटर को धन उगाही का केन्द्र बना लिया है, उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें.

सीएम शिवराज ने कहा कि कई नर्सिंग होम्स अपने सेंटर को धन उगाही का केन्द्र बना लिया है, उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें.

MP News: सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने अफसरों से कहा कि स्वास्थ्य का क्षेत्र मानव सेवा का क्षेत्र है. नर्सिंग होम्स ने मानव सेवा छोड़ अपने सेन्टर्स को धन उगाही का केन्द्र बना लिया है, उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई कर FIR दर्ज करें. प्रदेश में हर जरूरतमंद को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. इलाज के नाम पर मरीजों से मनमानी लूट करने वाले नर्सिंग होम संचालकों से सरकार अब सख्ती से निपटेगी.इलाज के नाम पर लूट हुई तो अब सीधे FIR दर्ज की जाएगी. खुद सीएम शिवराज ने नर्सिंग होम्स के इस रवैए पर चिंता जताते हुए अफसरों को सख्त निर्देश दिये हैं.

सीएम शिवराज ने प्राइवेट नर्सिंग होम्स में इलाज के नाम पर हो रही लूट पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि ऐसे नर्सिंग होम जिन्होंने अपने सेंटर्स को धंधा बना लिया है उनके संचालकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए. आत्म निर्भर मध्य प्रदेश के रोडमैप के तहत स्वास्थ सेवाओं को लेकर बनाए गए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की आज मंत्रालय में बैठक हुई.

बेहतर स्वास्थ्य सेवा सरकार की प्राथमिकता
सीएम शिवराज ने अफसरों से कहा-स्वास्थ्य का क्षेत्र मानव सेवा का क्षेत्र है. नर्सिंग होम्स ने मानव सेवा छोड़ अपने सेन्टर्स को धन उगाही का केन्द्र बना लिया है, उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई कर FIR दर्ज करें. प्रदेश में हर जरूरतमंद को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है.

ये भी पढ़ें-ग्वालियर चिड़ियाघर में सफेद बाघिन ने दिया 2 शावकों को जन्म, Video देख आप भी हो जाएंगे खुश

वापिस करना पड़ी थी मनमानी फीस
प्रदेश में आए दिन इस तरह की शिकायतें सामने आती हैं कि कुछ नर्सिंग होम्स इलाज के नाम पर मनमानी फीस वसूल रहे हैं. कोरोना काल के दौरान भी ऐसी शिकायतें आई थीं जिसके बाद सरकार को जांच के लिए समिति गठित करनी पड़ी थी. जांच के बाद कई मरीजों के पैसे सरकार की ओर से कार्रवाई के बाद अस्पतालों को वापस भी करने पड़े थे.

समय सीमा में पूरा करें काम
आत्म निर्भर मध्य प्रदेश के रोडमैप को लेकर बने ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार संकल्पित है. स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ावा देने के लिए व्यापक पैमाने पर काम हुए हैं. सरकारी अस्पतालों को सख्त निर्देश हैं कि वो दवा और ऑक्सीजन उपलब्ध रखें. आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप अनुसार स्वास्थ्य के क्षेत्र में निर्धारित लक्ष्य को समय-सीमा में पूरा किया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा स्वास्थ्य विभाग की हर योजना आम आदमी के फायदे के लिए चलाई जाती है. हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि इन योजनाओं का लाभ हर आदमी को मिले. बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में अभी तक कुल 2 करोड़ 53 लाख आयुष्मान कार्ड का वेरिफिकेशन हो चुका है.

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स का अपग्रेडेशन
प्रदेश में 5091 उप स्वास्थ्य केन्द्रों का हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स में अपग्रेडेशन किया जा रहा है. इसमें 71 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है. 2850 उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर्स नियुक्त करने के चयन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. इसके अलावा 1134 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर्स में बदला जा चुका है. इसमें निर्धारित लक्ष्य का 95 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है. इन सेंटर्स पर 128 प्रकार की दवाइयां उपलब्ध कराई गई हैं. बैठक में बताया गया कि आयुष हेल्थ एवं वेलनेस केन्द्र बनाए गए हैं. 362 केन्द्रों में योग शिक्षक योगाभ्यास करवा रहे हैं. भोपाल और इंदौर में आयुष सुपर स्पेशलिटी अस्पताल बनाए जा रहे हैं जिनका लगभग 50 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है.

Tags: CM Madhya Pradesh MP News, CM Shivraj Singh Chouhan, Nursing Recruitment

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर