सरकार का दावा : गांवों में कंट्रोल में है कोरोना, 6 फीसदी हुई संक्रमण दर

संक्रमण काबू में ही रहे इसलिए ग्रामीण इलाकों में किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है.

संक्रमण काबू में ही रहे इसलिए ग्रामीण इलाकों में किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है.

Bhopal : मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा अभी भी गांव में संक्रमण की दर 6% तक ही है. इसलिए यह भ्रम नहीं होना चाहिए कि गांव में संक्रमण की दर अधिक है. शहरों में संक्रमण की दर अभी 13% है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) के ग्रामीण (Rular area) इलाकों में कोरोना संक्रमण (Corona)  की स्थिति के बारे में सरकार ने बड़ा दावा किया है. इस दावे पर यकीन करें तो सरकार का कहना है ग्रामीण इलाकों में कोरोना की स्थिति कंट्रोल में है. वहां शहरों के मुकाबले संक्रमण की दर कम है. संक्रमण काबू में ही रहे इसलिए ग्रामीण इलाकों में किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है.

गांव में कोरोना की स्थिति को लेकर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग और नरोत्तम मिश्रा ने बयान दिया. अभी तक ग्रामीण इलाकों में कोरोना की स्थिति ठीक नहीं बताई जा रही थी. कहा जा रहा था कि वहां संक्रमण कम्युनिटी स्प्रैड हो रहा है. खुद सरकार इस हालात पर चिंतित थी. लेकिन अब मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा ग्रामीण इलाकों में अत्यधिक जागरूकता आई है.  गांव के बाहर क्वॉरेंटीन सेंटर बनाए जा रहे हैं. गांव के लोग दूसरे गांव के लोगों को अंदर नहीं आने दे रहे हैं. अभी भी गांव में संक्रमण की दर 6% तक ही है. इसलिए यह भ्रम नहीं होना चाहिए कि गांव में संक्रमण की दर अधिक है. शहरों में संक्रमण की दर अभी 13% है.

किल कोरोना अभियान

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा जिलों में आंकलन के बाद ही कोरोना कर्फ्यू हटाने पर फैसला लिया जाएगा. इस बारे में जिला क्राइसेस मैनेजमेंट फैसला लेगा. फिलहाल अभी कर्फ्यू हटने की कोई स्थिति नहीं है. 17 मई के बाद हालात को देखते हुए जिन इलाकों में संक्रमण दर 6 फीसदी से कम होगी वहां इसे हटाने पर फैसला लिया जा सकता है. ग्रामीण क्षेत्रों में किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है. मेडिकल किट दी जा रही है टेस्टिंग चल रही है. उन्होंने कहा सीएम की पहले से सोच थी जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं उनकी मदद की जाए. कोरोना उपचार योजना लागू की गई है. राशन दिया जा रहा है. 24 वर्गो को चिन्हित किया गया है जिन्हें 5 माह का राशन मिले इसके निर्देश दिए गए हैं. जिनके पास आधार कार्ड पात्रता पर्ची न हो उसे भी दिया जाएगा. अगर इस नियम पर कोई राशन नहीं देता है उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे.
ब्लैक फंगस की मॉनिटरिंग

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा ब्लैक फंगस को लेकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं. ऑपरेशन थिएटर तैयार कर रहे हैं. इस बीमारी से संबंधित दवाओं की कमी न हो इसका भी ध्यान दिया जा रहा है. एक्सपर्ट्स से चर्चा कर रहे हैं.




अस्पताल में रेप की घटना की होगी जांच

भोपाल मेमोरियल अस्पताल में संक्रमित महिला से रेप की वारदात पर विश्वास सारंग ने कहा मामले की जांच करवा रहे हैं. पुलिस ने कार्रवाई की है. आरोपी को भी पकड़ लिया है. लेकिन इस बात की जांच भी की जा रही है कि पुलिस ने मामले को क्यों दबाया. इस मामले में जो भी अन्य लोग दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज