लाइव टीवी

CM शिवराज का बड़ा ऐलान, बोले- प्रदेश के भाई-बहन जहां हैं, वहीं रुकें, सरकार वहन करेगी खर्च
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 29, 2020, 8:17 PM IST
CM शिवराज का बड़ा ऐलान, बोले- प्रदेश के भाई-बहन जहां हैं, वहीं रुकें, सरकार वहन करेगी खर्च
एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान. (फाइल फोटो)

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)ने कोरोना वायरस (Coronavirus) की आपदा के बीच कई बड़े ऐलान किए हैं. राज्‍य सरकार ना सिर्फ दूसरे प्रदेशों में फंसे लोगों का खर्च वहन करेगी बल्कि किसान क्रेडिट कार्ड के भुगतान की तारीख भी बढ़ा दी है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)ने कोरोना वायरस ( Coronavirus) की आपदा के बीच कई बड़े ऐलान किए हैं. सीएम ने दूसरे प्रदेशों में रोजी रोटी के लिए गए प्रदेश वासियों से कहा है कि मध्‍य प्रदेश के मजदूर भाई-बहन जो दूसरे राज्यों में हैं, मेरा उनसे आग्रह है कि वे जहां हैं, वहीं रुकें. मैंने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से आग्रह किया है कि वे आपके रहने और खाने की व्यवस्था करें. इसमें जो खर्च आएगा,वह हमारी सरकार वहन करेगी.

आपको बता दें कि 14 अप्रैल तक कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरा देश लॉकडाउन किया गया है, लेकिन दूसरे प्रदेशों में काम करने गए लोगों के अपने घर लौटने के सिलसिले ने मध्‍य प्रदेश समेत सभी राज्‍य सरकारों की मुसीबत बढ़ा दी है. इसके अलावा सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर भी अहम फैसला लिया है.

किसानों के लिए किया ये ऐलान
यही नहीं, सीएम शिवराज ने किसानों को भी बड़ी राहत दी है. उन्‍होंने कहा कि मैं किसान भाइयों से कहना चाहता हूं कि चिंता मत करिए. किसान क्रेडिट कार्ड के भुगतान की तिथि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया गया है. यह फसल कटाई का समय है, इसलिए हार्वेस्टर पर रोक नहीं है, फसल कटेगी और हम खरीदी की भी पूरी व्यवस्था करेंगे.



कोरोना वायरस का मध्‍य प्रदेश में कहर


अभी तक मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस के 39 मामले पॉजिटिव आए हैं, जिसमें से दो लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि इंदौर 24 केस के साथ टॉप पर बना हुआ है. जबकि इस आपदा से निपटने के लिए सीएम शिवराज हर संभव प्रयास कर रहे हैं. यही नहीं, इंदौर में हालात बिगड़ने के बाद तो उन्‍होंने वहां के कलेक्‍टर और डीआईजी को भी बदल दिया था. वहीं, इंदौर के नये कलेक्‍टर मनीष सिंह ने सख्‍त रूख अपनाते हुए शहर को पूरी तरह लॉकडाउन करने की घोषणा कर अपने इरादे जता दिए हैं. देशभर में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 979 हो गई है तो मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 26 हो गया है.

प्रदेश में क्वारेंटाइन या आइसोलेशन से मना करने पर दर्ज की जाएगी FIR
मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का कोई संदिग्ध या पॉजिटिव संक्रमित या संस्था या परिसर या मकान मालिक क्वारेंटाइन या आइसोलेशन से मना नहीं कर सकता है, मना करने पर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा. जिला दंडाधिकारी (कलेक्टर) को एमपी एपीडेमिक डिसीजेज एक्ट 2020 के तहत यह अधिकार दे दिया गया है. शनिवार को एक्ट का गजट नोटिफिकेशन जारी किया गया है. एक्ट को एक साल के लिए लागू किया गया है. एक्ट का उल्लंघन करने पर आईपीसी की धाराओं के तहत दंडात्मक कार्रवाई का प्रावधान किया गया है. किसी भी नर्सिंग होम या क्लीनिक या अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों को कोविड 19 के संदिग्ध या पॉजिटिव प्रकरणों की सूचना जिले की एकीकृत बीमारी सतर्कता ईकाई को तुरंत देनी होगी.

 

ये भी पढ़ें

इंदौर को कोरोना से बचाने उतरे नये कलेक्‍टर, बोले-हरी सब्जियों के पीछे ना भागें

 

'कोरोना कहर' के बीच बदले इंदौर कलेक्टर और DIG, कांग्रेस के निशाने पर आए शिवराज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 8:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading