आज मेधावी छात्र खुश हैं, उन्हें लैपटॉप के लिए सरकार ने पैसे दिये

साल 2009-10 में मेधावी विद्यार्थी योजना शुरू की गयी थी
साल 2009-10 में मेधावी विद्यार्थी योजना शुरू की गयी थी

रीवा के मेधावी दिव्यांग छात्र कृष्ण कुमार (Krishna kumar) और दृष्टि बाधित छात्रा कीर्ति (Keerti) की पढ़ाई और इलाज का खर्च सरकार उठाएगी.

  • Share this:
भोपाल. एमपी बोर्ड (MP Board) की 12वीं की परीक्षा में 80 फीसदी से ज़्यादा अंक लाने वाले मेधावी विद्यार्थियों को आज सीएम शिवराज ने सरकार की तरफ से लैपटॉप (Laptop) खरीदने के लिए पैसे दिए. प्रदेश भर के 40, 436 से ज्यादा छात्र-छात्राओं के खाते में पैसा डाला गया. 12 वीं बोर्ड परीक्षा में मेरिट में आने वाले मेधावी दिव्यांग छात्र कृष्ण कुमार और दृष्टि बाधित छात्रा कीर्ति की पढ़ाई और इलाज का पूरी खर्च सरकार उठाएगी.

खाते में पहुंचेंगे 101 करोड़ रुपए
कोरोना संकट के बीच इस साल 12 वीं बोर्ड की परीक्षाएं हुई थीं. इसमें 80 परसेंट से पास हुई बच्चों को सरकार की ओर से लैपटॉप खरीदने के लिए पैसे और प्रशस्ति पत्र दिया.इस साल ऐसे करीब 40,436 छात्र-छात्राएं थे. इनके खाते में लैपटॉप खरीदने के लिए कुल 101करोड़ की राशि डाली गई. प्रत्येक छात्र को लैपटॉप के लिए 25 हज़ार रुपए दिए गए हैं. भोपाल के ऐसे करीब 60 मेधावी विद्यार्थियों को इसका लाभ मिला.

कृष्ण और कीर्ति सरकार के हुए
ये कार्यक्रम भोपाल के मिंटो हॉल में हुआ. इसमें भोपाल के बाहर के विद्यार्थी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े. मुख्यमंत्री ने रीवा के चुनरी गांव की छात्रा ख़ुशी और जन्म से हाथ ना होने वाले मेधावी दिव्यांग छात्र कृष्ण कुमार से बात की. सीएम ने कहा तुम एमपी के बेटे हो कृष्ण.तुम्हारी आगे की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी और कृत्रिम हाथ लगवाएगी. दृष्टिबाधित छात्रा कीर्ति के मेरिट में आने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उसकी तारीफ की. उन्होंने कहा कीर्ति को आंखें लगवाने के लिए मां के साथ चेन्नई के शंकर नेत्रालय भेजा जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा यह बच्चे किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं हैं.



2009-10 में हुई थी शुरुआत
बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि पैदा करने और रिजल्ट में सुधार के लिए साल 2009-10 में मेधावी विद्यार्थी योजना शुरू की गयी थी. इसमें 85 फीसदी से ज्यादा अंक लाने वाले छात्रों को लैपटॉप के लिए पैसा दिया जाता था. बीच में 75 परसेंट किया गया लेकिन अब दोबारा इसकी सीमा 80 परसेंट कर दी गयी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज