होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /मध्य प्रदेश में PFI पर UAPA एक्ट के तहत होगा एक्शन, सरकार ने जारी किया गजट नोटिफिकेशन

मध्य प्रदेश में PFI पर UAPA एक्ट के तहत होगा एक्शन, सरकार ने जारी किया गजट नोटिफिकेशन

MP Latest News: मध्य प्रदेश में पीएफआई संगठन के खिलाफ यूएपीए एक्ट के तहत होगी कार्रवाई.

MP Latest News: मध्य प्रदेश में पीएफआई संगठन के खिलाफ यूएपीए एक्ट के तहत होगी कार्रवाई.

Bhopal News: पीएफआई (PFI Ban) संगठन पर बैन लगने के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) सरकार ने भी एक बड़ा फैसला लिया ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मध्य प्रदेश में प्रतिबंधित पीएफआई संगठन पर यूएपीए एक्ट के तहत होगा एक्शन
सरकार ने गजट नोटिफिकेशन किया जारी
पीएचक्यू ने पुलिस को हाईअलर्ट पर रहने के दिए निर्देश

भोपाल. देश में पीएफआई संगठन पर प्रतिबंध लगाने के बाद अब मध्य प्रदेश सरकार ने इसको लेकर गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. अब भोपाल-इंदौर पुलिस कमिश्नर के साथ सभी जिलों के कलेक्टर प्रतिबंधित पीएफआई संगठन के खिलाफ यूएपीए एक्ट के तहत कार्रवाई कर सकेंगे. एमपी होम डिपार्टमेंट की जानकारी के अनुसार राज्य शासन ने गजट नोटिफिकेशन जारी कर इंदौर और भोपाल के पुलिस कमिश्नर, जिलों के पुलिस अधिकारियों और जिला मजिस्ट्रेट को पॉपुलर फ़्रंट ऑफ इंडिया के साथ उसके सहयोगी संगठनों के खिलाफ यूएपीए में कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.
अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने बताया कि केन्द्र सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया और इसके सहयोगी संगठन रिहैब इंडिया फाउंडेशन (आरआईएफ), कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई), ऑल इंडिया इमाम्स काउंसिल (एआईआईसी), नेशनल कन्फेडरेशन ऑफ ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन, नेशनल विमेन फ्रंट, जूनियर फ्रंट, एंपावर इंडिया फाउंडेशन तथा रिहैब फाउंडेशन केरल को विधि-विरुद्ध क्रिया-कलाप (निवारण) अधिनियम 1967 (UAPA)के तहत प्रतिबंधित कर दिया है. उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार की अधिसूचना  27 और 28 सितम्बर 2022 के क्रम में मध्य प्रदेश में इंदौर और भोपाल के पुलिस आयुक्तों और समस्त जिला मजिस्ट्रेट को अपने क्षेत्राधिकार में उक्त अधिनियम की धारा 7 और 8 के अधिकारों के उपयोग के लिए अधिकृत करने संबंधित अधिसूचना राजपत्र में प्रकाशित कर जारी की गई है.
एमपी पुलिस हाई अलर्ट पर

पीएफआई पर प्रतिबंध के बाद त्योहारी सीजन के  मद्देनजर मध्य प्रदेश पुलिस हाई अलर्ट पर है. मंगलवार को गिरफ्तार किए गए 21 पीएफआई के सदस्यों को जेल भेज दिया गया. एमपी एटीएस ने जिला पुलिस के साथ अलग-अलग जिलों से गिरफ्तार किया था. जिला पुलिस ने आरोपियों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की थी. 8 जिलों से 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था जिलों की पुलिस ने ही आरोपियों से पूछताछ के बाद उन्हें जेल भेजा.

ये भी पढ़ें:  PFI Banned: PFI क्या है, क्या करती है; बैन क्यों लगा है और इसका क्या असर होगा? जानें डिटेल में

आरोपी के पास से बरामद दस्तावेज मोबाइल लैपटॉप इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जानकारी को पुलिस ने एमपी एटीएस से साझा किया है. सूत्रों के अनुसार इंटेलिजेंस इनपुट के बाद पुलिस मुख्यालय ने इंदौर, उज्जैन, भोपाल, खंडवा, खरगोन, नीमच, मंदसौर, शाजापुर, श्योपुर के पुलिस कप्तानों को पहले से ज्यादा सतर्क रहने के निर्देश दिए है. त्योहारी सीजन में विशेष सतर्कता और कड़ी निगरानी के निर्देश दिए है पीएफआई जैसे संदिग्ध संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है. बैन के बाद हमले की साजिश के इनपुट मिले थेगरबा, दुर्गा पांडाल, मंदिर, और बाजार निशाने पर है.

Tags: Bhopal news, Mp news, PFI

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें