MP सरकार ने कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना से इन कोरोना वॉरियर्स को किया बाहर

37 वर्षीय डॉक्टर संकेत मेहता को ऑक्सीजन की कमी और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद आईसीयू में भर्ती करवाया गया था. 
37 वर्षीय डॉक्टर संकेत मेहता को ऑक्सीजन की कमी और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद आईसीयू में भर्ती करवाया गया था. 

योजना में संशोधन कर अब स्वास्थ्य (Health), चिकित्सा शिक्षा और आयुष विभाग के सफाई कर्मचारी, वार्ड ब्वॉय, नर्स, आशा कार्यकर्ता, पैरामेडिक्स, तकनीशियन, डॉक्टर (doctors), विशेषज्ञ और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को इससे बाहर कर दिया गया है.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) ने मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना की मियाद 31 अक्टूबर तक बढ़ा दी है. केंद्र सरकार ने कोविड-19 (Covid 19) महामारी की रोकथाम के लिए काम कर रहे कोरोना वॉरियर्स के लिए ये योजना शुरू की थी. मध्य प्रदेश सरकार ने इसमें संशोधन कर गृह, नगरीय विकास और राजस्व विभाग के कर्मचारी, नगर-निगम के सफाई कर्मियों को योजना से बाहर कर दिया है.

कोरोना वॉरियर्स अब मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना का लाभ 31 अक्टूबर तक ले सकेंगे. मध्यप्रदेश सरकार ने भारत सरकार की योजना का विस्तार कर उसमें स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा, नगरीय विकास गृह, राजस्व एवं स्थानीय निकायों में काम कर रहे कर्मियों को भी शामिल किया था. अब योजना में संशोधन करके गृह, नगरीय विकास और राजस्व विभाग के कर्मचारी, नगर-निगम के सफाई कर्मी भी होंगे योजना से बाहर कर दिया है. अब इस स्कीम के दायरे में अब वही लोग आएंगे, जो सीधे तौर पर कोविड संक्रमण को रोकने में जुटे हैं. इनमें कोविड के अधिकृत अस्पताल, कोविड केयर सेंटर, कोविड टेस्टिंग लैब, क्वारेंटाइन सेंटर में काम करने वाले शामिल हैं.सर्वे, सैंपल कलेक्शन, कंटेनमेंट में पर्यवेक्षण और सफाई का काम करने वाले ही पात्र होंगे. इसके साथ ही कोविड के काम में मृत व्यक्ति के परिजनों को दावा आवेदन भी अब 45 दिन के भीतर करना होगा. पहले इसके लिए तीन महिने तक का समय था.

ये मिलेगा लाभ
योजना में पात्र कर्मचारी के कल्याण के लिये उनके दावेदार को 50 लाख रुपये का भुगतान किया जायेगा.
-क्वारेंटाइन पीरियड के दौरान या कोविड योद्धाओं के इलाज के लिये किसी भी प्रकार का खर्च कर्मचारी या उसके दावेदार को भुगतान या देय नहीं होगा.


-योजना में दी गई राशि पात्र कर्मी द्वारा व्यक्तिगत रूप से ली गई अन्य बीमा पॉलिसी अथवा शासन के कर्मी के लिये लागू बीमा योजना के तहत मिलने वाली राशियों के अतिरिक्त होगी.



पूर्व सीएम कमलनाथ की सरकार से मांग
पूर्व सीएम कमलनाथ ने अपने ट्वीट में सरकार पर निशाना साधा है.साथ ही संशोधनों को तत्काल निरस्त करने की मांग की है.पूर्व सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि "इस कोरोना महामारी में हमारे डॉक्टर्स , नर्स , विशेषज्ञ, आशा- आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सफ़ाई कर्मी, पेरामेडिकल स्टाफ़, स्वास्थ्य कर्मी बड़ी संख्या में फ़ील्ड में अपनी जान जोखिम में डाल कोरोना योद्धा की तरह रात-दिन काम कर रहे हैं. अवसर है उनको प्रोत्साहित करने का लेकिन मध्यप्रदेश में कोरोना वारियर्स के लिये बनी कोविड योद्धा कल्याण योजना में संशोधन की जानकारी सामने आयी है.मैं सरकार से मांग करता हूं कि इन संशोधनों को तत्काल निरस्त किया जाए और पूर्व की भांति सारे कोरोना वॉरियर्स को इस योजना का लाभ मिलता रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज