कमलनाथ ने डिफॉल्टर किए प्रदेश के बैंक, गृह मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री के लिए कह दी इतनी बड़ी बात, जानिए क्यों

मप्र के गृह मंत्री ने पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान पर उन्हीं को घेर लिया. (File)

मप्र के गृह मंत्री ने पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान पर उन्हीं को घेर लिया. (File)

MP Political News: मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर निशाना साधा. मिश्रा ने कहा कमलनाथ प्रदेश के सारे बैंकों को डिफॉल्टर करके चले गए.

  • Last Updated: May 1, 2021, 1:00 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में लगातार फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच भी सियासत जारी है. बीजेपी ने कांग्रेस को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर घेरा है. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ जी ऑक्सीजन बैंक बनवाने की बात करते हैं. जबकि मुख्यमंत्री रहते हुए सारी बैंकों को डिफॉल्टर करके चले गए. मिश्रा ने कहा कि छत्तीसगढ़, राजस्थान और महाराष्ट्र में आप की सरकार है तो वहां आपने ऑक्सीजन बैंक क्यों नहीं बनाए.

नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ के साथ प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह को RSS फोबिया हो गया है. दिग्विजय सिंह जिस समाज के पैरोकार हैं, उस समाज ने अगर देश में कहीं भी कोविड-19 सेंटर चलाया हो तो कम से कम उसका ट्वीट ही कर दे. राष्ट्र सेवा करने वाले संगठन पर उंगली उठाकर वे निंदनीय कृत्य कर रहे हैं.

वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा

प्रदेश के गृह मंत्री ने यह भी कहा कि JNU के कुछ लोग कोरोना वैक्सीन पर जनता को भ्रमित करने में आगे हैं. टुकड़े-टुकड़े गैंग वाले लोगों का  भाव देश में वैक्सीन के प्रति भ्रम पैदा करने का है. इस वक्त हम दो मोर्चों पर लड़ाई लड़ रहे हैं. एक जंग कोरोना से और दूसरी आलोचना और भ्रम पैदा करने वाले नाकारा लोगों से.
कमलनाथ पर पहले भी तंज कस चुके मिश्रा

गौरतलब है कि मिश्रा पहले भी प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कस चुके हैं. कुछ महीनों पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार के कर्ज लेने पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि ये यह सरकार कर्ज़  पर ही टिकी हुई है. इस सरकार पर राजनीतिक और आर्थिक कर्जे का बोझ रखा हुआ है. इस पर  मिश्रा ने कहा था कि पूर्व की कांग्रेस सरकार जब कर्ज़ लेती थी तो IIFA अवार्ड के लिए ही कर्जा लिया करती थी. हमारी सरकार ने कर्ज लिया है जनता के विकास के लिए. आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिए. कोरोना  की स्थिति से निपटने के लिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज