MP Honeytrap Pen Drive Case: कमलनाथ आज SIT के सामने क्‍यों नहीं होंगे पेश, क्‍या है इसकी वजह? जानें


मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप केस की जांच कर रही एसआईटी को आज यानी बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से ना ही पेनड्राइव मिल सकेगी और ना उनके बयान दर्ज कर सकेगी

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप केस की जांच कर रही एसआईटी को आज यानी बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से ना ही पेनड्राइव मिल सकेगी और ना उनके बयान दर्ज कर सकेगी

Madhya Pradesh News: मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने हनीट्रैप से जुड़ी पेन ड्राइव सबके और खुद के पास होने की बात कही थी. इसी बयान के बाद अब एसआईटी सक्रिय हो गई है. इस बयान को एसआईटी ने अपनी जांच में शामिल कर लिया है.

  • Share this:

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप केस की जांच कर रही एसआईटी को आज यानी बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से ना ही पेनड्राइव मिल सकेगी और ना उनके बयान दर्ज कर सकेगी. कमलनाथ ने अपने वकील के जरिए एसआईटी उनकी उपस्थिति को लेकर सूचना पत्र भेज दिया है. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, कमलनाथ भोपाल से बाहर हैं. वह 7 जून को भोपाल आ सकते हैं. कमलनाथ के दिल्ली से भोपाल लौटने पर ही उनके बंगले पर एसआईटी जाएगी.

दरअसल, कमलनाथ ने हनीट्रैप से जुड़ी पेन ड्राइव सबके और खुद के पास होने की बात कही थी. इसी बयान के बाद अब एसआईटी सक्रिय हो गई है. इस बयान को एसआईटी ने अपनी जांच में शामिल कर लिया है. इस जांच को आगे बढ़ाने के लिए जिस पेनड्राइव का जिक्र कमलनाथ के द्वारा किया गया उस पेनड्राइव को एसआईटी अपने कब्जे में लेकर आगे का जांच करेगी. इसके लिए ही दो दिन पहले कमलनाथ को नोटिस भेजकर तय समय पर बंगले पर उपस्थित रहने के लिए कहा गया था. एसआईटी के जांच अधिकारी शशिकांत चौरसिया ने दो दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को नोटिस भेजा था. इस नोटिस में हनीट्रैप केस को लेकर दर्ज एफआईआर का जिक्र भी किया गया है. साथ ही नोटिस में लिखा गया है कि 21 मई को ऑनलाइन पत्रकारवार्ता में आपने यह कहा कि हनीट्रैप प्रकरण की सीडी पेनड्राइव आपके पास मौजूद है.

इस ऑनलाइन पत्रकार वार्ता का प्रसारण सोशल मीडिया पर भी किया गया. पेन ड्राइव के संबंध में आपके बयान समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हुए. जांचकर्ता अधिकारी ने लिखा है कि थाना पलासिया इंदौर में हनीट्रैप के मामले में दर्ज केस की जांच में सीडी पेनड्राइव अत्यंत महत्वपूर्ण साक्ष्य है. इस सीडी पेनड्राइव को प्राप्त कर इस अपराध के इन्वेस्टिगेशन को और अधिक प्रभावशाली बनाया जा सकता है.

कमलनाथ को भेजे नोटिस में लिखा है कि अत्यंत महत्वपूर्ण और संवेदनशील हनीट्रैप प्रकरण के संबंध में नवीन तत्व ज्ञात किए जा सकते हैं. आज एसआईटी को जाना था. नोटिस के मुताबिक, एसआईटी को बुधवार को भोपाल स्थित कमलनाथ के बंगले पर जाना था, लेकिन उनकी अनुपस्थिति होने की वजह से अब एसआईटी उनके आने का इंतजार करेगी. नोटिस में लिखा गया था कि हनी ट्रैप केस का अनुसंधान शासन द्वारा गठित एसआईटी कर रही है. आपसे अपेक्षा की जाती है कि 2 जून को दोपहर 12:30 बजे आप अपने श्यामला हिल्स स्थित बंगले पर उपस्थित रहकर कथन और भौतिक साक्ष्य सीडी पेनड्राइव एसआईटी को देने का कष्ट करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज