• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Madhya Pradesh : बाढ़ में जरूरतमंदों को कैसे मिल रहा है खाना-पानी, कौन बचा रहा जिंदगी?

Madhya Pradesh : बाढ़ में जरूरतमंदों को कैसे मिल रहा है खाना-पानी, कौन बचा रहा जिंदगी?


इंडियन एयरफोर्स बाढ़ ग्रस्‍त क्षेत्रों में लगातार राहत एवं बचाव सामग्री पहुंचा  रही है. (न्‍यूज 18 फोटो)

इंडियन एयरफोर्स बाढ़ ग्रस्‍त क्षेत्रों में लगातार राहत एवं बचाव सामग्री पहुंचा रही है. (न्‍यूज 18 फोटो)

Flood In Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग में आई बाढ़ के दौरान लोगों को खाने-पीने का संकट (Food Crisis) खड़ा हो गया है. हेलिकॉप्टर से गिराए जा रहे खाने के पैकेट.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर चंबल संभाग में आई बाढ़ (Flood) के दौरान लोगों को खाने-पीने का संकट खड़ा हो गया है. सरकार की ओर से प्रभावित लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाने के लिए प्रशासन को निर्देशित किया गया है, लेकिन बाढ़ की वजह से गिरे ग्रामीण इलाकों में लोगों तक खाना पहुंचाना मुश्किल साबित हो रहा है. ऐसे में भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने मोर्चा संभाला हुआ है. गुरुवार को हेलिकॉप्टर (Helicopter) के ज़रिए श्योपुर में 13 लोकेशन पर 4500 खाने के पैकेट ( Food Packets) हेलिकॉप्टर के माध्यम से भेजे गए.

प्रत्येक 2 घंटे के अंतर पर खाद्य सामग्री बाढ़ प्रभावित लोकेशंस पर भेजने का फैसला किया गया है . इसके अलावा खाद्य पदार्थों का एक ट्रक भी श्योपुर के लिए रवाना किया गया, जिसमें 51000 केले, 36000 बिस्किट पैकेट, 500 पैकेट सांची दूध पॉवडर शामिल था.

सीएम ने की आपात बैठक
उधर गुरुवार सुबह ही सीएम शिवराज (CM Shivraj Singh) ने बाढ़ को लेकर फिर आपात बैठक (Emergency Meeting) बुलाई. मुख्यमंत्री निवास में हुई इस बैठक में गृहमंत्री, सीएस, डीजीपी सहित अन्य आला अधिकारी बैठक उपस्थित रहे. साथ ही बैठक में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के जिला प्रशासन, जिलों के प्रभारी मंत्री वर्चुअल जुड़े. बैठक में गृह मंत्री ने कहा कि बांध टूटने जैसी अफवाह न फैले. अफवाह रोकने और लोगो को सतर्क करने का सिस्टम और दुरुस्त किया जाए. मंत्री यशोधरा राजे ने बिजली आपूर्ति बहाल करने पर जोर दिया.

15 हजार से अधिक प्रभावित
बैठक में सामने आई जानकारी के मुताबिक श्योपुर में 15 हज़ार से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. कच्चे मकान गिरे हैं. क्षतिग्रस्त पुल पुलियों का आकलन किया जा रहा है. श्योपुर में मुरैना के रास्ते से आवश्यक व्यवस्थाओं की आपूर्ति बहाल करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं. श्योपुर में ज्यादातर स्थानों पर बिजली आपूर्ति बहाल हो चुकी है. हैंडपम्प का क्लोरीनेशन का काम कल से शुरू होगा. ग्वालियर से बाढ़ग्रस्त क्षेत्रो में खाद्य सामाग्री फ़ूड पैकेट भेजने शुरू कर दिए हैं. मंत्री तुलसी सिलावट ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि ग्वालियर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगातार फ़ूड पैकेट पहुचाए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने मंत्रियों-अधिकारियों से कहा कि बारिश के मौसम में प्रभावितों को वैकल्पिक छत मुहैया कराएं. पीने के शुद्ध पानी के लिए युध्द स्तर पर जुटें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज