लाइव टीवी

नशे की गिरफ्त में मध्य प्रदेश, लगातार कार्रवाई के बावजूद तेजी से बढ़ रहा नशे का कारोबार

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 10, 2019, 9:39 PM IST
नशे की गिरफ्त में मध्य प्रदेश, लगातार कार्रवाई के बावजूद तेजी से बढ़ रहा नशे का कारोबार
नशे के खिलाफ इस साल पुलिस को मिली भारी सफलता

पुलिस मुख्यालय (PHQ) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश का दिल नशे की गिरफ्त में है. नई सरकार के गठन के बाद मध्‍य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) और नारकोटिक्‍स विंग नशे के खिलाफ लगातार अभियान चला रहे हैं, जिसे बड़ी सफलता भी मिली है, लेकिन प्रदेश में नशे का कारोबार कितना फैल चुका है, इस बात का भी पता चला है.

  • Share this:
भोपाल. पिछले 11 माह की अवधि में मध्‍य प्रदेश पुलिस ने नशे के 3270 प्रकरण दर्ज किए. इन मामलों में नशे के अवैध करोबार में लिप्‍त 4051 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, साथ ही लगभग 14292 किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ भी जब्‍त किए गए हैं. मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (CM Kamalnath) ने मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अवैध मादक पदार्थों के कारोबार पर सख्‍ती से अंकुश लगाने की हिदायत पुलिस विभाग को दी थी. पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह के निर्देश पर प्रदेश के हर जिले की पुलिस, मैदानी ईकाइयों और नारकोटिक्‍स विंग द्वारा नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ अभियान बतौर कार्रवाई की जा रही है.

4 सालों की तुलना में नशे का कारोबार बढ़ा
यहां चौंकाने वाली बात ये है कि पुलिस की लगातार कार्रवाई के बावजूद ये मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. इससे साफ होता है कि पुलिस या तो दिखावे की कार्रवाई कर रही है या फिर नशे के कारोबार को रोकना पुलिस के बूते की बात नहीं रह गया है. अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक नारकोटिक्‍स अजय कुमार शर्मा ने बताया कि मुख्‍यमंत्री के निर्देशों के पालन में नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ चलाए गए. प्रदेशव्‍यापी विशेष अभियान को पुलिस और नारकोटिक्‍स विंग ने प्रभावी तरीके से अंजाम दिया है.

News - पिछले 11 महीनों में ही पुलिस ने 14 हजार किलो से ज्यादा मादक पदार्थ जब्त किए हैं.
पिछले 11 महीनों में ही पुलिस ने 14 हजार किलो से ज्यादा मादक पदार्थ जब्त किए हैं.


नशे के खिलाफ अभियानों को बड़ी सफलता  
पिछले 4 वर्षों की तुलना करें तो नारकोटिक्‍स विंग को मौजूदा साल में बड़ी सफलता मिली है. पिछले 11 माह के दौरान नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ 3270 प्रकरण पंजीबद्ध कर 4051 आरोपियों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली है, वहीं 2016 के दौरान 790 प्रकरणों में 1117 आरोपी, साल 2017 के दौरान 1323 प्रकरणों में 1800 आरोपी और साल 2018 के दौरान 1922 प्रकरणों में 2558 आरोपी पकड़े गए थे.

नहीं रूक रही मादक पदार्थों की बिक्रीसरकार तमाम दावें करती है, लेकिन हर सरकार की पोल उस समय खुल जाती है, जब ऐसे अभियान के दौरान भारी मात्रा में तरह-तरह के मादक पदार्थ बरामद होते हैं. पिछले 11 महीनों में पुलिस एवं नारकोटिक्‍स विंग ने मिलकर लगभग 14292 किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ जब्त किे हैं इनमें अफीम, गांजा व डोडा चूरा शामिल किए गए हैं. जबकि साल 2016, 2017, 2018 तीनों वर्षों में कुल मिलाकर लगभग 2850 किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ जब्‍त किए गए थे.

2016 में कुल लगभग 292 किलोग्राम, वर्ष 2017 में कुल लगभग 528 किलोग्राम व वर्ष 2018 में कुल लगभग 2 हजार 30 किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ जब्‍त हुए थे. पुलिस एवं नारकोटिक्‍स विंग ने मिलकर पिछले 11 माह के दौरान प्रतिबंधित नशीले केमिकल की 29882 से अधिक सीरप व गोलियां इत्‍यादि भी जब्‍त की हैं.

ये भी पढ़ें -
CAG रिपोर्ट के बाद कमलनाथ सरकार ने तलब किया सिंचाई और नहरों के ठेकों का लेखा जोखा
जबलपुर: ऐसे पुलिस के हत्थे चढ़ा गैंगस्टर 'रावण', जिसकी गर्लफ्रेंड थी 'मंदोदरी'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 9:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर