Assembly Banner 2021

दिल्ली से लौटते ही कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर साधा निशाना, बोले चुप नहीं बैठेगी कांग्रेस

कमलनाथ (Kamalnath) के इस ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि वह मध्य प्रदेश (MP) फिलहाल छोड़ने वाले नहीं हैं. सशक्त विपक्ष की भूमिका में वह शिवराज सरकार को चुनौती देंगे.

कमलनाथ (Kamalnath) के इस ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि वह मध्य प्रदेश (MP) फिलहाल छोड़ने वाले नहीं हैं. सशक्त विपक्ष की भूमिका में वह शिवराज सरकार को चुनौती देंगे.

कमलनाथ (Kamalnath) के इस ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि वह मध्य प्रदेश (MP) फिलहाल छोड़ने वाले नहीं हैं. सशक्त विपक्ष की भूमिका में वह शिवराज सरकार को चुनौती देंगे.

  • Share this:
भोपाल.पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने दिल्ली से भोपाल लौटते ही शिवराज सरकार पर बड़ा हमला बोला है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक के बाद एक तीन ट्वीट करते हुए शिवराज सरकार के वादा पूरा न करने की लंबी लिस्ट गिना दी है.साथ ही आखिरी में लिखा है कि कांग्रेस (Congress) इन वायदों को लेकर चुप नहीं बैठेगी.

कमल नाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि चुनाव भी खत्म हो गये. परिणाम भी आ गये लेकिन ना अतिवर्षा और कीटों के प्रकोप से खराब फसलों का किसानों को मुआवजा मिला, ना किसानों को फ़सल बीमा की पर्याप्त राशि मिली. ना कई कर्मचारियों को सातवें वेतनमान की तीसरी किश्त की 25% राशि मिली, ना दिवाली के त्यौहार का घोषित एडवांस मिला, ना मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की लाखों किसानों को दो हज़ार की घोषित किस्त मिली. फिर भी अभी भी घोषणाओं का खेल जारी ? 28 उपचुनाव वाले क्षेत्रों में भी चुनाव के दौरान मतदाताओं को गुमराह करने के लिये हजारों करोड़ की झूठी घोषणाएं की गयीं. बड़े- बड़े वादे और दावे किये गये. कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी, एक-एक घोषणा का हिसाब लेगी.

बीजेपी ने किया पलटवार
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस ट्वीट पर बीजेपी ने पलटवार किया है. बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल के मुताबिक कांग्रेस के सवालों का जवाब हाल ही में 10 नवंबर को जनता ने उपचुनाव में दे दिया है. इसलिए बेहतर होगा कि कांग्रेस चुप रहे.जहां तक कमलनाथ के सवालों और चुप न बैठने की बात है तो फिर इन दिनों खुद कांग्रेस के ही नेता अपने राष्ट्रीय नेताओं को खुली चुनौती दे रहे हैं.



विपक्ष की भूमिका में कमल नाथ
उपचुनाव के नतीजों के बाद बीजेपी के नेताओं की ओर से यह सवाल लगातार उठाया जा रहा था कि नतीजों में हार के बाद कमलनाथ भोपाल या मध्य प्रदेश में नहीं रुकेंगे. वह दिल्ली रवाना हो जाएंगे. लेकिन कमलनाथ के इस ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि वह मध्य प्रदेश फिलहाल छोड़ने वाले नहीं हैं. सशक्त विपक्ष की भूमिका में वह शिवराज सरकार को चुनौती देंगे. लेकिन देखना होगा कि आखिरकार यह चुनौती कितनी मजबूत हो पाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज