LIVE NOW

MP News Live Updates: भोपाल में ब्लैक फंगस के 20 नए मरीज मिले, अलग-अलग अस्पतालों में 100 से ज्यादा भर्ती

MP News, 17 May 2021: भोपाल. राजधानी में ब्लैक फंगस के 20 और मरीज मिले. अब शहर के विभिन्न अस्पतालों में इसके 100 मरीज भर्ती हैं. जबकि 8 मरीजों की सर्जरी की गई है.

Hindi.news18.com | May 17, 2021, 3:22 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated May 17, 2021
MP News Live Updates: भोपाल में ब्लैक फंगस के 20 नए मरीज मिले, अलग-अलग अस्पतालों में 100 से ज्यादा भर्ती

हाइलाइट्स

3:22 pm (IST)
भोपाल. मध्य प्रदेश में 24 मई से कोरोना संक्रमित और ब्लैक फंगस के मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. प्रदेश के संविदा स्वास्थ्यकर्मियों ने 24 तारीख से हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है. संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने सोमवार को कलेक्टर और सीएमएचओ को ज्ञापन दिया. उनक मांग है कि उन्हें 90 फीसदी वेतन दिया जाए.संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुनील यादव का कहना है कि 19 हज़ार से ज्यादा कर्मचारी कोविड वार्ड, अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. कोरोना संक्रमित होने के बावजूद भी कर्मचारी आधे वेतन में काम कर रहे हैं. जबकि, सामान्य प्रशासन विभाग ने संविदा कर्मचारियों को 90% वेतनमान देने के निर्देश दिए हैं. सभी विभागों को 90% वेतनमान दिया जा रहा है. 

2:55 pm (IST)
रीवा. रीवा जिले से अजीबो-गरीब खबर आ रही है. यहां पति के साथ सो रही महिला को पता ही नहीं चला कि उसके साथ बलात्कार हो गया है. जब पता चला तो वह चिल्लाई, लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुका था. पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. बलात्कार की यह अजीबोगरीब घटना मऊगंज थाना क्षेत्र में हुई है. हालांकि, ये कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही.पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, महिला पति और पांच साल के बच्चे के साथ झोपड़ी में रहती है.  शुक्रवार रात पूरा परिवार सो रहा था, तब अंधेरे का फायदा उठाकर अंजान शख्स झोपड़ी में घुसा और महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने लगा. महिला के मुताबिक, उसे लगा कि पति है, लेकिन जब उसे बिस्तर के दूसरे कोने में पति के होने का अहसास हुआ तो वह शोर मचाकर उठ गई.

2:29 pm (IST)
गुना. सोमवार से 18 -45 वर्ष की उम्र के नागरिकों के किये वेक्सिनेशन का दूसरा फेज शुरू हो गया. जिले में केवल शहर के 3 सेंटर पर वैक्सीन दी जा रही है. सोमवार को 520 नागरिकों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है. पहले फेज में 97 प्रतिशत टारगेट पूरा हो पाया था. सोमवार से शुरू हुए दूसरे फेज के लिए रविवार देर शाम स्लॉट ओपन किया गया जिसमे चंद मिनटों में ही सभी रजिस्ट्रेशन हो गए और स्लॉट बंद कर दिया गया. स्लॉट में रजिस्ट्रेशन पाने में सफल हुए नागरिक सुबह से ही वेक्सिनेशन केंद्रों पर पहुंचने लगे थे. दूसरे फेज के पहले दिन जिले के २३ केंद्रों में से केवल तीन केंद्रों पर 18+ के नागरिकों को वैक्सीन दी जा रही है.

1:45 pm (IST)
भोपाल. आयुर्वेद और एलोपैथी में यूं तो कई बार मतभेद देखने को मिले हैं लेकिन कोरोना की वजह से आई आपदा में कई विशेषज्ञ ये मानने लगे हैं कि आयुर्वेद की वजह से कोरोना के कई गंभीर मरीजों (Corona patients) जान बच गयी. दावा है कि भोपाल में जिस वक्त अस्पतालों में इलाज के लिए बेड नहीं मिल रहे थे उस वक़्त कई मरीजों को आयुर्वेद की दवाओं के इस्तेमाल से घर पर ही ठीक करने में मदद मिली.भोपाल के पंडित खुसीलाल  शर्मा आयुर्वेद महाविद्यालय से पढ़ाई करने वाले डॉक्टर सूर्यभान गुर्जर उन्हीं में से एक हैं जिन्होंने आयुर्वेद से कोरोना मरीजों का सफल इलाज करने का दावा किया है. सूर्यभान की मानें तो उनके पास आने वाले कुछ मरीजों को उन्होंने केवल आयुर्वेद से ठीक किया जबकि कुछ मरीजों को एलोपैथी की दवाओं के साथ आयुर्वेदिक दवाईयां दी.

1:13 pm (IST)
भोपाल. कोरोना अब मध्य प्रदेश को कुछ राहत देता दिख रहा है. यहां अब कोरोना कंट्रोल में आने लगा है. संक्रमण की दर लगातार घट रही है जो गिरकर 9 फीसदी पर आ गयी है. वहीं रिकवरी रेट बढ़कर 90 प्रतिशत के पास पहुंचने वाला है. कोरोना कर्फ्यू  के कारण हालात नियंत्रण में आते दिख रहे हैं. मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा निरंतर मॉनिटरिंग और जनता के सहयोग से कोरोना नियंत्रण की स्थिति में आता जा रहा है. उन्होंने बताया कोरोना से बीमार होने वाले मरीज़ों की दर अब 9.1 रह गई है जबकि उसके मुकाबले रिकवरी की दर बढ़कर 87.5 प्रतिशत हो गई है.

12:40 pm (IST)
जबलपुर. कोरोना आपदा को लेकर विपक्ष अब सरकार से ऑडिट मांग रहा है. पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत में सरकार से कोरोना काल में उपयोग में लाई गई रेमडेसिविर इंजेक्शन, आवश्यक दवाओं में शामिल फेबीफ्लू, टेमीफ्लू समेत अन्य दवाओं की आपूर्ति और मध्य प्रदेश में इसकी खपत को लेकर ऑडिट की मांग की है.पूर्व वित्त मंत्री का मानना है कि अगर 4000 रेमडेसिविर इंजेक्शन मध्य प्रदेश में आए, लेकिन अस्पतालों में 12000 इंजेक्शन लग गए तो आखिर इतनी बड़ी खेप कहां से आई. 

12:10 pm (IST)
ग्वालियर. ग्वालियर में कोरोना के हालातों से निपटने के लिए  500 बिस्तर का नया अस्पताल बनेगा. इसमें बेहतर इलाज के लिए सभी अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध रहेंगे. डबरा में स्वीकृत 50 बिस्तर के अस्पताल का निर्माण भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को संभाग स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में ये बातें कही. बैठक में केन्द्रीय कृषि, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर सहित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य मौजूद थे.

11:44 am (IST)
भोपाल. चक्रवाती तूफान टाऊते का मध्य प्रदेश में जबरदस्त असर देखने को मिला. रविवार को प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश हुई.  राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कई हिस्सो में दिनभर बादल छाए रहे. मौसम विभाग का कहना है कि तूफान टाऊते के असर के चलते तेज हवाओं के साथ दो से तीन दिनों तक बारिश होगी. हालांकि, बारिश के बाद भी प्रदेश के कई जिले खूब तपे. शाजापुर में 42.8 डिग्री, रायसेन-रतलाम में 42.6 डिग्री और राजगढ़ 42.2 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया.

11:14 am (IST)
जबलपुर. जबलपुर के मझौली के अभाना गांव निवासी मुन्नीबाई (45) की हत्या हैंडपंप के विवाद में की गई थी. पुलिस ने चंद घंटों के अंदर ही रविवार रात को मामले में दो आरोपियों को दबोच लिया. दोनों आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त बकानुका हंसिया और उनके खून से सने कपड़े जब्त कर लिए. पुलिस दोनों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया. जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया. अभाना गांव निवासी मुन्नीबाई का पति कोजीलाल रैकवार सुबह जंगल में तेंदूपत्ता तोड़ने चला गया था. उसके बेटे नरेश व छोटा भी सुबह काम पर निकल गए थे. मुन्नीबाई घर में अकेली थी। दोपहर में कोजीलाल घर पहुंचा तो परछी में उसकी पत्नी की रक्तरंजित लाश पड़ी थी. रास्ते में उसे संदीप और अंशुल ठाकुर भागते हुए दिखे थे. गांव वालों ने भी बाद में मझौली पुलिस को यही बताया था.

10:47 am (IST)
भोपाल. राजधानी में ब्लैक फंगस के 20 और मरीज मिले. अब शहर के विभिन्न अस्पतालों में इसके 100 मरीज भर्ती हैं. जबकि 8 मरीजों की सर्जरी की गई है. इनकी हर दिन बढ़ती संख्या को देखते हुए रविवार को हमीदिया अस्पताल में 30 बेड का नया वार्ड शुरू कर दिया गया है. गांधी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि हमीदिया में ब्लैक फंगस के 34 मरीज भर्ती हैं. इनमें 31 रैफर होकर आए हैं. वहीं, होशंगाबाद रोड के एक निजी अस्पताल में रीवा की एक डॉक्टर का भी इलाज चल रहा है. इस बीच, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (एम्स) के डायरेक्टर डॉ. सरमन सिंह ने बताया कि अस्पताल में भर्ती होकर कोविड का इलाज कराने वाले मरीजों की अपेक्षा होम आइसोलेशन में स्टेरॉयड दवाएं लेकर ठीक हुए मरीजों को ब्लैक फंगल के संक्रमण का खतरा ज्यादा है. इसकी वजह अस्पताल की अपेक्षा लोगों के घरों में फंगस और उसके स्पोर की मौजूदगी पर्यावरण में ज्यादा होना है.

LOAD MORE
भोपाल. मध्य प्रदेश में 18 से 44 साल तक के लोगों को कोरोना का टीका लगाने का अभियान सोमवार से शुरू हो रहा है. सरकार ने 31 मई तक 9.10 लाख लोगों को वैक्सीनेशन का टारगेट रखा है. पिछले 10 दिनों में इस आयु वर्ग के 1 लाख 82 हजार 378 लोगों को ही पहला डोज लग पाया है, जबकि टारगेट 1 लाख 48 हजार डोज लगाने का था. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 18+ लोगों का 17 से 31 मई के बीच 9 दिन वैक्सीनेशन किया जाएगा. इसके लिए हर दिन करीब 1 हजार से 1100 सेशन होंगे. पहले दिन सोमवार को 90 हजार लोगों को टीका लगाने का टारगेट है. इसके लिए प्रदेश के हर जिले में 900 सेशन किए जा रहे हैं.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज