LIVE NOW

MP News Live Updates: कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को पालेगी सरकार, ग्वालियर से होगी शुरुआत

MP News, 6 May 2021: मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ती ही जा रही है. सरकार ने सतना और रीवा जिलों में 30 मई तक शादी पर रोक लगा दी है. इन जिलों में भीड़-भाड़ वाले आयोजन भी नहीं होंगे.

Hindi.news18.com | May 6, 2021, 3:36 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated May 6, 2021
MP News Live Updates: कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को पालेगी सरकार, ग्वालियर से होगी शुरुआत

हाइलाइट्स

3:36 pm (IST)
श्योपुर.मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में कोहराम मच गया है. यहां के जिला अस्पताल में बदइंतजामी के चलते  पिछले 24 घंटों में 15 मरीजों की मौत हो गई है. यहां 1 मई से अभी तक 60 मरीजों की मौत हो चुकी है.जिला प्रशासन इस घटना को दबाने का प्रयास कर रहा है, लेकिन मामला छुपाए नहीं छुप रहा. हालांकि, ये सारी मौतें कोरोना संक्रमण की वजह से नहीं हुई हैं, लेकिन इन मरीजों की हालत भी यहां दयनीय बनी हुई है. मरीजों के परिजन आए दिन हंगामा करते हैं.स्वास्थ्य विभाग की बदइंतजामी की वजह से श्योपुर के जिला अस्पताल में ऐसा कोई दिन नहीं निकल रहा जिस दिन 10-12 मरीजों की जान न जा रही हो. जिले के जिम्मेदार अधिकारी इन हालातों को सुधारने की बजाए, मौतों को छुपाने में जुटे हुए हैं. गुरुवार को सुबह 9 बजे तक एक के बाद एक लगातार 3 मरीजों ने दम तोड़ दिया.

2:43 pm (IST)
भोपाल. मध्य प्रदेश में कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की देखभाल और भरण-पोषण सरकार करेगी. इसके लिए महिला-बाल विकास विभाग ने स्पॉन्सरशिप योजना शुरू की है. शासन ऐसे बच्चे, जिनके माता-पिता का निधन कोरोना के कारण हो गया है अथवा जिनके माता-पिता इस बीमारी की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं, उनके भरण-पोषण की जिम्मेदारी लेने का निर्णय लिया गया है. सबसे पहले ग्वालियर जिले में इसके तहत फिट फेसिलिटी केंद्र की शुरुआत की जा रही है. जिले में संचालित शासकीय विद्यालय और छात्रावासों को ऐसे बच्चों की देखरेख एवं संरक्षण के लिए फिट फेसिलिटी केंद्र घोषित कर बच्चों की उचित देखभाल तथा संरक्षण प्रदान किया जाएगा. साथ ही स्वयंसेवी संस्था, सामाजिक कार्यकर्ता आदि को जोड़कर बच्चों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी.

2:16 pm (IST)
जबलपुर. मध्य प्रदेश (MP) में कोरोना का कहर जारी है. इस बीच पिछले एक माह के जो आंकड़े सामने आए हैं वो और भी भयावह हालत को बयां कर रहे हैं. आंकड़े बता रहे हैं कि कोरोना की इस दूसरी लहर में सबसे ज़्यादा युवा (Youth) चपेट में आ रहे हैं. हालत ये है कि हर 100 में से 37 युवा कोरोना संक्रमित हैं.जबलपुर में पिछले एक माह का जो डाटा सामने आया है उससे ये धारण भी खत्म हो जाती हैं क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर ने बुजुर्गों से ज्यादा युवाओं को अपनी गिरफ्त में लिया है. इसकी वजह जो भी रही हो लेकिन पॉजिटिविटी का ट्रेंड यही कह रहा है कि पिछले एक महीने में आए नए संक्रमितों में 16 फीसदी बुजुर्ग रहे, जबकि नई उम्र के मरीजों का आंकड़ा 35 प्रतिशत तक जा पहुंचा. कोविड-19 की सेकैंड वेव इसलिए भी ज्यादा खतरनाक मानी गई क्योंकि इसके म्यूटेड वायरस ने अच्छी खासी इम्युनिटी रखने वालों का भी अपनी चपेट में लिया है.

1:51 pm (IST)
रायसेन. मध्य प्रदेश सरकार किसानों को लेकर लाख वादे कर ले, लेकिन रायसेन जिले से आ रही ये खबर सच्चाई बयां कर रही है. यहां के शासकीय गेहूं उपार्जन केंद्र तामोट पर सैकड़ों किसान परेशान हो रहे हैं. 15 दिन से दोनों पैरों से विकलांग हाथ जोड़े खड़ा है कि कोई उसकी सुन ले. इतना ही नहीं यहां कोरोना गाइडलाइन का भी पालन नहीं किया जा रहा. इस वजह से स्थिति विस्फोटक होने की आशंका है.जानकारी के मुताबिक, शासकीय गेहूं उपार्जन केंद्र आदिम जाति सेवा सहकारी समिति, तामोट के प्रबंधक छबीलाल की मौत कोरोना संक्रमण से हो गई. इसके बाद सेल्समैन मनोज चौहान को प्रभारी बनाया गया. लेकिन, अभी तक यहां गेहूं की तुलाई ही शुरू नहीं हुई है. सैकड़ों किसानों का माल यहां रखा है. हाताल ये हैं कि जिनका नंबर 15 दिन पहले आया था, वे अभी तक बारी का इंतजार कर रहे हैं.

1:28 pm (IST)
भोपाल. कोरोना संकट काल (Corona crisis) में ऑक्सीजन (Oxygen) की भारी किल्लत के बीच ये खबर राहत देने वाली है. मध्यप्रदेश में अब भरपूर ऑक्सीजन मिलेगी. एक महीने के अंदर प्रदेश में कई ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएंगे. कुछ प्लांट का काम शुरू हो गया है.प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा धीरे धीरे कोरोना की स्थिति नियंत्रित हो रही है. डिस्चार्ज होने वालों की संख्या लगातार बढ रही है. निजी अस्पतालों की समिति भी बना दी गई है. अब समस्या नहीं होने दी जाएगी. न ही किसी के साथ अन्याय होने दिया जाएगा.  आज सीएम खुद ग्रामीण स्तर तक जुड़ेंगे. ऑक्सीजन के क्षेत्र में अब सरप्लस है. कोरोना कर्फ्यू के परिणाम अब धीरे धीरे सामने आने लगे हैं. एमपी ने सभी क्षेत्र में अपने आपको मजबूत किया है. एक महीने के अंदर कई ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएंगे.

12:31 pm (IST)
भिंड. भिंड जिले में कोरोना किल अभियान चलाया जा रहा है. इस अभियान में पब्लिक को सुरक्षित रखने के लिए फ्रंट लाइन में पुलिस खड़ी नजर आ रही है. जिले के अब तक डीएसपी, टीआई सहित 22 जवान कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. इसके अलावा नौ पुलिस जवानों के घर में भी कोरोना वायरस दहशत फैला चुका है. इनके परिवार भी अब असुरक्षित हैं. जिले में चाहे सांप्रदायिक घटना हो या कोई प्राकृतिक आपदा अथवा किसी कुख्यात बदमाश की दहशत. हर वक्त खाकी वर्दी ही फ्रंट में रहती है. हर मोर्चे पर पुलिस आम जनता के लिए सुरक्षा कवच बनकर सामने आई हैवहीं, रात के अंधेरे में भी सड़कों पर तैनात है. पुलिस के इस संकल्प में कई जवान कोरोना के दंश के शिकार हो चुके है. यह बीमारी से अब तक जिले में डीएसपी, टीआई सहित 22 जवान संक्रमित होकर उपचार ले रहे हैं. हालांकि यह जवान कोरोना वायरस को हराकर पुनः फील्ड में लौटकर जनसेवा करने के लिए तत्पर नजर आ रहे हैं.

12:04 pm (IST)
भोपाल. भोपाल में अब पुलिस के रोके जाने पर लोग भड़कने लगे हैं. ऐसे ही एक मामले में भारत टॉकीज तिराहे पर बाइक सवार से पूछताछ करना पुलिस को भारी पड़ गया. बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ ने पुलिसकर्मियों को घेर लिया. इस दौरान कुछ लोग मोबाइल फोन पर वीडियो बनाते हुए पुलिस पर एक वर्ग विशेष को परेशान करने के आरोप लगाते रहे. लोगों के मारपीट के आरोपों को पुलिस ने नकारा है. मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी नॉर्थ भी मौके पर पहुंच गए. उनकी समझाइश के बाद ही लोगों का गुस्सा शांत हुआ. पुलिस के अनुसार भारत टॉकीज तिराहे पर मंगलवारा पुलिस थाना, पुलिस कंट्रोल रूम और ट्रैफिक पुलिस का बल तैनात रहता है. बुधवार शाम ट्रैफिक पुलिस ने बाइक सवार को रोककर उससे पूछताछ की. करीब एक घंटे बाद वहां बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई. वे पुलिसकर्मियों पर भड़कते नजर आए.

11:34 am (IST)
भोपाल. कोविड संक्रमण को रोकने के लिए शहर में अप्रैल में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है. उम्मीद थी कि इससे कम से कम शहर की हवा में तो सुधार होगा, लेकिन जब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीसीबी) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों पर नजर डाली तो मामला उल्टा ही नजर आया. 27 फरवरी को पीएम (पर्टिकुलेट मैटर) 2.5 और पीएम 10 का औसत 41 और 119 था. वहीं 27 मार्च को बढ़कर 72 और 148 हो गया. 27 अप्रैल को दोनों का औसत क्रमश: 123 और 114 हो गया. पीसीबी के वैज्ञानिकों ने इसके 3 मुख्य कारण बताए हैं, जिसमें पहला शहर के आसपास पराली जलाना, दूसरा ज्यादा मात्रा में दाह संस्कार होना और कोरोना कर्फ्यू में भी वाहनों का लगातार आवागमन होना. पराली जलाने से डस्ट पार्टिकल हवा के जरिए शहर में आ रहे हैं.

11:10 am (IST)
ग्वालियर. कोरोना संक्रमण के कारण शहर में होटल, हॉस्टल, रेस्त्रां, मिठाई की दुकानें, स्कूल-कॉलेज और दफ्तर बंद हैं, इसलिए दूध की खपत 60 फीसदी तक घट गई है. कोरोना कर्फ्यू से पहले शहर में 4.5 लाख लीटर दूध की खपत थी, जो अब एक लाख 82 हजार लीटर रह गई है. इसमें डेयरियों से डेढ़ लाख लीटर और पैक्ड मिल्क 32 हजार लीटर बिक रहा है. शेष 2 लाख 68 हजार लीटर दूध को नोवा, पारस, दीनदयाल जैसी कंपनियां पशुपालकों से खरीदकर घी, दूध पावडर आदि बना रही हैं. दूध की मांग घटने के बाद भी इसके दाम स्थिर बने हुए हैं. पशुपालकों को दो से तीन रुपए प्रति लीटर का भाव कम मिल पा रहा है लेकिन उपभोक्ता पुराने दाम पर ही दूध खरीद रहे हैं. शहर में चलने वाली अवैध पशु डेयरियों पर तो मनमाने तरीके से कहीं-कहीं पर दूध के दाम 3 से 5 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ा दिए गए हैं.

10:41 am (IST)
रतलाम. दूसरी शादी के ढाई महीने बाद ही दहेज के छह लाख रुपए मांगकर आरोपी ने पत्नी के साथ मारपीट की और घर से निकाल दिया. मायके जाकर महिला ने मां को बताया और स्टेशन रोड थाने आकर रिपोर्ट दर्ज करवाई. जय भारत नगर निवासी 25 वर्षीय जैनब पति आफताब मंसूरी ने पुलिस को बताया आठ साल पहले सालाखेड़ी निवासी मोहम्मद एजाज से शादी हुई थी. उससे 6 साल का एक बेटा ओवेश है जो मां राबिया के पास रहता है. तलाक होने के बाद पूर्व पति मोहम्मद अजाज ने ओवेश के भरण-पोषण के लिए छह लाख रुपए दिए थे जिससे मां के मकान का लोन चुका दिया है. ढाई महीने पहले जयभारत नगर निवासी आफताब पिता शब्बीर मंसूरी से लव मैरिज की है. शादी के बाद से वह मां से छह लाख रुपए और दहेज के लाने का कहकर प्रताड़ित करता था. मंगलवार दोपहर को रुपयों और दहेज के सामान की मांग की. मना करने पर लात-घूंसे से मारपीट की और घर से निकाल दिया.

LOAD MORE
सतना/रीवा. मध्यप्रदेश में संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए कठोर निर्णय लिए जा रहे हैं. सतना और रीवा ऐसे जिले हैं, जहां 30 मई तक शादी और अन्य सामूहिक आयोजनों पर रोक लगा दी गई है. इसके पहले जबलपुर और सिंगरौली में 17 मई को शादियों पर रोक लगा दी गई थी. मई में शादियों के लिए सबसे ज्यादा 15 दिन मुहूर्त थे। अभी 7 से 30 मई तक 13 मुहूर्त हैं. मध्यप्रदेश में पिछले सात दिनों में पॉजिटिविटी रेट 4% कम हुआ है. मध्य प्रदेश में कोरोना के 12,319 नए केस मिले हैं. राहत की बात यह है, पिछले 8 दिन से संक्रमितों के मिलने का आंकड़ा 13 हजार को पार नहीं कर पाया. पिछले 24 घंटे में 9,643 मरीज ठीक भी हुए. भले ही यह आंकड़ा नए मरीजों की संख्या से करीब ढाई हजार कम है, लेकिन पिछले सप्ताह नए संक्रमितों से ज्यादा मरीज स्वस्थ हुए.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज