Assembly Banner 2021
LIVE NOW

Rising MP Live Updates: कमलनाथ ने उठाया ईवीएम पर सवाल, कहा- शक दूर करने मतपत्र से कराएं चुनाव

Rising Madhya Pradesh 2021: मध्‍य प्रदेश की राजनीति और सामाजिक-सांस्कृतिक क्षेत्रों की हस्तियां सोमवार को एक साथ एक मंच पर आईं. इस दौरान न सिर्फ राज्य के विकास के बारे में बातचीत हुई, बल्कि सत्‍ता और विपक्ष के बीच जमकर तकरार भी हुई.

Hindi.news18.com | March 8, 2021, 8:48 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated March 8, 2021
Rising MP Live Updates: कमलनाथ ने उठाया ईवीएम पर सवाल, कहा- शक दूर करने मतपत्र से कराएं चुनाव

हाइलाइट्स

8:48 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: कमलनाथ ने कहा- सेकंड लाइन लीडरशिप को प्रमोट करना जरूरी. मैंने किसी पद के लिए आवेदन नहीं किया. जितना चला पा रहा हूं चला रहा हूं. 23 नेताओं के सोनिया को चिट्ठी लिखने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा- ये सभी मेरे मित्र हैं. उनका कहना था कि सोनिया जी का स्वास्थ्य ठीक नहीं है. जिस दिन गुलाबनबी आजाद जम्मू से दिल्ली से आए तो हमारी मुलाकात हुई. तब तो कोई ऐसी बात ही नहीं थी. हमारा मुकाबला भाजपा के संगठन से है. कांग्रेस को भी ऐसी संगठन खड़ा करना है. अफसरों पर कमलनाथ  कहा- 15 साल पहले जो आएएस बना उसने केवल बीजेपी की ही सरकार देखी. अफसर अपनी विचारधारा घर पर रखें. प्रशासन को नया मोड़ देना था. ये चुनौती थी. प्रदेश के अधिकारी प्रशंसा के लायक हैं. हमें इनका सही उपयोग करना है. हम ड्राइवर को कुक नहीं बना सकते. हर आदमी किसी न किसी विचारधारा से जुड़ा होता है. लेकिन उसे मंत्रालय लाना जरूरी नहीं. बंगाल चुनाव कमलनाथ बंगाल की जनता काफी समझदार है. ममता जैसी नेता, उनकी निष्ठा और सक्रीयता का कोई सानी नहीं. मैंने ये कहा कि मैं यहा रहूंगा. आराम का प्रश्न ही नहीं है.

8:21 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: कांग्रेस की सरकार में दलालों के अड्डे वाले सवाल पर कमलनाथ ने कहा-  मंत्रालय में कैमरा है, रिकॉर्ड है. शिवराज जी कुछ भी कहें. जनता क्या कहती है. मैंने कहा मप्र की पहचान माफिया नहीं होगी. लेकिन अब तो बीजेपी ही माफिया है. माफिया जानती थी कि कमलनाथ को कोई दबा नहीं सकता. मैंने अधिकारियों से कहा था जहां माफिया हो वहां कार्रवाई करना. गोडसे के समर्थक के सवाल पर कमलनाथ ने कहा- विधायक आए. वे बोले कांग्रेस का है. तीस साल रहा कांग्रेस में. सर्टिफिकेट देखे मैंने. अगर कोई अपनी गलती सुधार रहा है तो उसमें कुछ गलत है. शिवराज भी बोलेंगे कि अगर मुझे सुधार करना है तो उनको भी ले लेंगे. ईवीएम का क्या चक्कर है. बीजेपी ईवीएम से क्यों चुनाव कराना चाहती है. अमेरिका, जापान, यूरोप में ईवीएम नहीं है, तो बीजेपी की क्या जिद है. आप हमारा वोट नहीं लूट रहे, जनता का लूट रहे हैं. अगर किसी को शक है, तो मतपत्र से चुनाव कराइए. आप जनता को धोखा दे रहे हो. मैं मप्र छोड़ने वाला नहीं. मप्र ने मुझे बहुत कुछ दिया है. हमने शिवराज से भी कहा मदद के लिए पूरी तरह तैयार हैं. आज बहुत बड़ी चुनौती है.

8:18 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: कांग्रेस के विधायकों के बीजेपी में आने पर कमलनाथ ने कहा कि उनके पास कोई बहाना नहीं था. वो ये थोड़ी कहते कि हमने सौदा कर लिया. कुछ न कुछ तो कहना है. जनता समझदार है. आगे आने वाला समय तय करेगा. मुझे इस बात का दुख है कि जिसकी शुरुआत की थी वो आगे नहीं बढ़ पाई. कृषि क्षेत्र की चुनौति, मैन्युफैक्चरिंग कैसे हो, निवेश विश्वास पर आता है, मप्र देश का हृदय है. बेरोजगारी, आज के नौजवान समझदार हैं. आज गांव का युवा एमबीए कर लेता है. फिर वो कहीं का नहीं रहता, बेरोजगारी है. बड़ी चुनौती है. हमारी गिनती बड़े प्रदेशों से हो, छोटे प्रदेशों से न हो. आज 70 फीसदी अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है. किसान पैदा गरीबी में होता है, मरता गरीबी में है. दस दिन में कहीं किसानों का कर्ज माफ होता है. 11 महीने थे मेरे पास. शिवराज अपने सालों का जवाब दें. देश में अपराध की राजधानी बन गया है. आज हर वर्ग परेशान है. सभी परेशान हैं.

8:10 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: ‘हमें तो अपनों ने लूटा’ थीम पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज पर तंज कसा. कहा- मैं बाहर सुन रहा था. प्रदेश चलाने में और मुंह चलाने में बहुत अंतर होता है. इस तरह की राजनीति मैं भी कर सकता था. सौदेबाजी की राजनीति मैं नहीं करता. मैं इस प्रकार की राजनीति नहीं चाहता. बाबा साहब ने हमारा संविधान रचा. उन्होंने नहीं सोचा कि सौदे की राजनीति भी होगी. बाहर मध्य प्रदेश बदनाम हो गया है. बिकाऊ राजनीति प्रदेश की पहचान हो गई है. बैंगलुरु गए विधायक मुझसे बात करते थे. मैंने कहा जो ठीक लगे आप करो. कमलनाथ से नाराज थे तो सौदा क्यों किया.  

7:59 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: ‘2 मई दीदी गई...’ नारे पर सीएम ने कहा – ममता के खिलाफ आक्रोश है. मोदी जी की लहर है. मैं तो घूमकर आ रहा हूं बंगाल. दिन भर खड़ा रहा. जनता का जैसा सैलाब वहां दिखा उस पर विश्वास करना मुश्किल. उन्होंने कहा कि बंगाल में 130 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हुई. अबकी पार बंगाल में 200 पार. नारी के सम्मान पर उन्होंने कहा- हमारे देश में कहा गया है कि नारी तू नारायणी. हमारी बहन, हमारी बेटियां हर चीज में दक्ष हैं. इसलिए आज तय किया कि बहनों को मौका मिलना चाहिए. बता दें, शिवराज आज सुबह महिला सफाईकर्मियों से मिले. उन्होंने कहा - जब मैंने उनसे सवाल किया कि क्या किया जाए. उन्होंने कहा कि केवल सम्मान चाहिए. उन्होंने कहा कि बहन बेटियों को सम्मान, समानता, शिक्षा स्वावलंबन और सुरक्षा के लिए केवल सरकार नहीं, समाज को भी आगे आना चाहिए. बेटों को शिक्षा दें, मानसिकता बदलने की जरूरत है. मेरी अपील है कि महिलाओं को सम्मान करे, शिक्षा दें. बेटी नहीं बचाओगे तो बहू कहां से लाओगे. बेटी बचाएं बेटी बढ़ाएं. सब मिलकर काम करें.

7:56 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों पर शिवराज ने कहा कि नरेंद्र मोदी को मैं दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं. वे सस्ती लोकप्रियता नहीं चाहते. मोदी ने देश का सम्मान बढ़ाया है. ये बिल किसानों के हित में हैं. अगर कोई किसान अपने उत्पादन को कहीं भी बेचना चाहता है तो वो स्वतंत्र है. हमने फसल खरीदने में पंजाब को पीछे छोड़ दिया. मप्र में कोई किसान आंदोलन नहीं है. देश में भी नहीं है. एक छोटा सा समूह है, जो ये आंदोलन चला रहे हैं. वो भी हमारे भाई हैं.

7:55 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: मप्र में लव जिहाद के सवाल पर शिवराज ने कहा - प्यार एक अलग चीज है. कुटिलता के कारण बेटियों का फुसलाना, शादी करके उनकी जिंदगी नर्क बना देना कहां की बात है. हम 14 साल की बेटी को हैदराबाद से लाए, नेपाल से लाए. उन्होंने कहा- बेटियों की जिंदगियों से खेलने वाले नहीं बचेंगे. ऐसे लोगों के खिलाफ कानून बनाना हमारा धर्म है. धर्म स्वातंत्र्य विधेयक बन गया है. हम किसी को नहीं छोड़ेंगे. हमारा एनकाउंटर करने का कोई इरादा नहीं है. आरएसएस की तुलना पाकिस्तान के मदरसों करने के राहुल गांधी के सवाल पर सीएम ने कहा कि इसमें तो केवल प्रार्थना ही कर सकते हैं. राहुल भैया के होते हुए किसी को दुश्मन की जरूरत ही नहीं. गोडसे के समर्थक की कांग्रेस में एंट्री पर शिवराज ने कहा कि ये तो कांग्रेस ही जाने कि क्या मापदंड हैं.

7:52 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: मप्र में सत्ता के दलाल के सवाल पर शिवराज ने कहा कि दलाल सक्रीय थे. वल्लभ भवन दलाली का अड्डा बन गया था. पिछली सरकार अपने ही आदमी की नहीं सुन रहे थे. इस दौरान मेरे दिमाग में कहीं भी सत्ता नहीं थी. मैं बंगला खाली करने वाला था. मैंने सत्ता सौंपी. वे चला नहीं पाए. हम क्या कर सकते हैं. शहर के नाम बदलने पर उन्होंने कहा – हर शहर की अहमियत होती है. होशंगाबाद सहित शहरों के अलग-अलग नाम थे. प्रबल मांग उठ रही है नाम बदलने की. नर्मदा के पास रहने वाली जनता की मांग थी कि इसका नाम नर्मदा नगर किया जाए. इसमें बुराई क्या है.

7:46 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा - इंदौर में थे एसे लोग थे जो जनता को लूट रहे थे.  सोसायटी बनाई, जनता ने पैसे जमा किए. उन्होंने कहा - जमीन में जमीन में गाड़ने का ये मतलब नहीं कि उन्हें गड्ढ़ा खोदकर गाडूं. ये लोग किसी की सरकार में भी चिपक जाते हैं. कई चिटफंड कंपनियां हैं. पैसे खाकर भाग गई. केवल एफआईआर से काम नहीं चलेगा. अकेले इंदौर 300 840 जनता के पैसे की एक-एक पाई वसूली जाएगी. संपत्ति राजसात कर रहे हैं. 8400 करोड़ की जमीन मुक्त करा चुके हैं. फूल वज्र. हम राजनीति मतभेद के कारण कार्रवाई नहीं करते. आपकी ड्यूटी है जैसा व्यवहार हो वैसा कर्म की जाए. कमलनाथ अपने विधायकों को पहचान ही नहीं पाए. सवाल तो कमलनाथ को अपने आपसे पूछना चाहिए. सिंधिया जननेता हैं. कंपटेबली काम कर रहा हूं. साथ के लोग बढ़िया काम चला रहे हैं. राहुल के बारे में क्या कहें. उनकी ट्यूबलाइट बहुत देर से चलती है. जब सिंधिया उनके साथ थे उनको बैठाया नहीं अब बात कर रहे हैं. राहुल के उत्तर हम सब एक हैं. हर हिस्से की अपनी अहमियत है. राहुल जहां जाते हैं बंटाढार करते हैं.

7:36 pm (IST)

Rising Madhya Pradesh 2021: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने न्यूज 18 मप्र के सुपर प्राइम टाइम को लॉन्च किया. न्यूज़ 18 नेटवर्क समूह (News18 Network) के एडिटर इन चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) ने सीएम का स्वागत किया. उन्होंने सीएम से सवाल किया कि उनकी ये पारी पिछली पारी से किस तरह अलग है. सीएम ने कहा – मुझे नहीं पता था कि मेरा वनवास सवा साल में खत्म हो जाएगा. मेरे आते ही कोरोना आ गया. 8 महीने ऐसे ही निकल गए. सारे काम ठप थे. खजाने में पैसे नहीं थे. मेरा मानना है- वो सीएम क्या जो रोता ही रहे कि पैसे नहीं है. इन्ही सब में वक्त निकल गया. हमारा फोकस कोरोना की व्यवस्था, संसाधन जुटाने की कोशिश में निकल गए. मुझे गर्व है ये कहने में कि चाहे किसान हों, गरीब हों, पेंशनधारी हों या मजदूर हों, हमने 86000 करोड़ रुपए किसानों के खाते में डाले. सभी को मिलाकर बात करें तो 118000 करोड़ जनता के खाते में डाले. उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी अद्भुत व्यक्ति हैं. वो आपदा को अवसर में बदलना चाहते हैं .सारी दुनिया उनकी मुरीद है. उन्हें हनुमान संजीवनी, आत्मनिर्भर भारत, आत्म निर्भर मप्र. एक्सपर्ट्स को जोड़ा. रोडमैप बना दिया. एजुकेशन, स्वास्थ्य, गुड गवर्नेंस को लेकर है रोडमैप. इस बात की बजट पढ़िए, ये बजट ब्यूरोक्रेट ने नहीं बनाया. ये हमारी सोच से निकला है. मप्र की जीडीपी दस लाख करोड़ पार कर जाएगी.

LOAD MORE
भोपाल. भोपाल और इंदौर के साथ मध्यप्रदेश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए रविवार रात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समीक्षा बैठक की. इस दौरान प्रदेश भर में नए केसों को लेकर चर्चा की गई. नए केस के बढ़ने के कारणों के बारे में अधिकारियों से जानकारी हासिल की. हालांकि बैठक के बाद भी अभी नाइट कर्फ्यू लगाने जैसा निर्णय नहीं लिया गया. बैठक में शामिल चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि एक बार फिर दो दिन बाद समीक्षा बैठक करेंगे. फिलहाल अभी निर्णय नहीं लिया गया है. हर पहलू पर नजर रखे हैं. दो दिन बाद समीक्षा बैठक में भोपाल और इंदौर के साथ प्रदेश भर में बढ़ रहे कोरोना केस की समीक्षा की जाएगी. उसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज