Assembly Banner 2021

EXCLUSIVE : फेथ कंपनी पर छापे के बाद इनकम टैक्स के रडार पर 100 से ज़्यादा अफसर और नेता

भोपाल के आसपास के इलाकों में दोनों कंपनियों ने करोड़ों की प्रॉपर्टी खरीदी है

भोपाल के आसपास के इलाकों में दोनों कंपनियों ने करोड़ों की प्रॉपर्टी खरीदी है

एक मौजूदा मंत्री सहित कई बड़े रसूखदारों के साथ फेथ बिल्डर के साथ संबंध थे. इतना ही नहीं गोल्डन कंपनी के मालिक की पीयूष गुप्ता के भी कई आईपीएस, आईएएस और रिटायर्ड अफसरों से संबंध थे.

  • Share this:
भोपाल.राजधानी भोपाल में हाल ही में फेथ कंपनी पर इनकम टैक्स (Income Tax) के छापे (raid) के बाद अब 100 रसूखदार उसके रडार पर आ गए हैं. बिल्डर्स, अफसरों और राजनेताओं का महा गठबंधन भी सामने आया है. इनकम टैक्स विभाग जल्द इन सभी रसूखदारों की बेनामी संपत्ति के बारे में पूछताछ के लिए समन जारी करेगा.

दिल्ली से आई इनकम टैक्स विभाग की अलग-अलग टीमों ने भोपाल के बिल्डर राघवेंद्र सिंह तोमर और सूरज गुप्ता की कंपनी और उनसे जुड़े ठिकानों और लोगों पर छापा मारा था. छापे की कार्रवाई पूरी हो चुकी है. तीन दिन चली कार्रवाई के दौरान इनकम टैक्स की टीम ने राघवेंद्र सिंह तोमर के चूनाभट्टी स्थित फेथ कंपनी के दफ्तर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज ज़ब्त किए. साथ ही कोहेफिजा स्थित गोल्डन कंपनी के मालिक पीयूष गुप्ता के घर और उसके नौकरों और रिश्तेदारों के घर से भी दस्तावेजों को जब्त किए गए. इन दस्तावेजों की जांच पड़ताल में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. बिल्डर राघवेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गुप्ता की कम्पनी में 1000 करोड़ की बेनामी सम्पत्ति के इंवेस्टमेंट की आशंका है. इन रसूखदारों ने काली कमाई को व्हाइट करने के लिए कंपनियों में इन्वेस्ट किया था.

अफसरों-राजनेताओं का महागंठबंधन
इन दोनों बिल्डर्स की कंपनी के साथ अफसर और राजनेताओं का महागठबंधन भी सामने आया है. इस गठबंधन के तहत करोड़ों रुपए की काली कमाई को व्हाइट कियागया. एक मौजूदा मंत्री सहित कई बड़े रसूखदारों के साथ फेथ बिल्डर के साथ संबंध थे. इतना ही नहीं गोल्डन कंपनी के मालिक की पीयूष गुप्ता के भी कई आईपीएस, आईएएस और रिटायर्ड अफसरों से संबंध थे.अफसर और राजनेताओं के महागठबंधन की वजह से कंपनियों ने कम समय में करोड़ों का साम्राज्य खड़ा कर लिया. इनकम टैक्स विभाग तमाम दस्तावेजों की जांच कर रहा है. उस बेनामी संपत्ति के पीछे छुपे रसूखदार का पता लगाया जा रहा है. इन कंपनियों में इन्वेस्टमेंट करने वालों में रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस अफसरों के साथ मौजूदा आईएएस आईपीएस अफसर शामिल हैं. साथ ही कई राजनेताओं के साथ बड़े रसूखदारों का भी इन्वेस्टमेंट है.




बिल्डर्स ने अपने नौकरों के नाम पर करोड़ों की प्रॉपर्टी करने के बाद खरीद-फरोख्त की है. सूत्रों ने बताया कि भोपाल के आसपास के इलाकों में दोनों कंपनियों ने करोड़ों की प्रॉपर्टी खरीदी है. ये प्रॉपर्टी रसूखदारों की बताई जा रही है. सूत्रों ने बताया कि भोपाल के केचमेंट एरिया में रसूखदारों ने सस्ते में जमीन खरीदी है. इतना ही नहीं भोपाल बायपास, सीहोर बायपास, विदिशा रोड, बैरसिया रोड, जेल रोड, रातीबड़, परवलिया और भोपाल से लगे आसपास के इलाकों में मेन रोड पर करोड़ों की संपत्तियों में इन्वेस्टमेंट भी किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज