• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP News: ‘हम दुनिया से आंख मिलाकर बात करेंगे,’ जानिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने क्यों कही ये बात

MP News: ‘हम दुनिया से आंख मिलाकर बात करेंगे,’ जानिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने क्यों कही ये बात

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी के ई-चिंतन में जो बात कही, उसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी के ई-चिंतन में जो बात कही, उसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

Madhya Pradesh News: इस समय केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक बयान की चर्चा हो रही है. उन्होंने कहा, ‘हम न झुकाकर करेंगे, न उठा कर करेंगे, हम आंख मिलाकर बात करेंगे.' सिंधिया ने ये बात बीजेपी के ई-चिंतन शिवर को संबोधित करते हुए कही.

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस से बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) अब कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने की श्रेणी में भी शामिल हो गए हैं. शनिवार को पार्टी के ई-चिंतन शिविर में जिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक ऐसी बात कही जिसे लेकर सियासी गलियारों में खूब चर्चा हो रही है. इसके सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं.

विदेश नीति में केंद्र सरकार की उपलब्धियों के विषय पर हुए इस ई-चिंतन शिविर में सिंधिया ने कहा- ‘हम न आंख झुका कर बात करेंगे, न आंख उठा कर बात करेंगे, हम आंख मिलाकर बात करेंगे.’ हालांकि बीजेपी के ई-चिंतन शिविर से मीडिया को दूर रखा गया था लेकिन चिंतन शिविर की यह तीन प्रमुख लाइनें सिंधिया ने खुद अपने सोशल मीडिया हैंडल से शेयर की हैं.

विदेश मंत्री भी कर चुके संबोधित

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विदेश नीति पर जिस ई-चिंतन शिविर को संबोधित किया उस विषय पर पहले विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी संबोधन दे कर चुके हैं. हालांकि जयशंकर के संबोधन में सभी राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए थे. उसके बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने भी दो दिन पहले ही इसी विषय पर प्रदेश पदाधिकारियों को संबोधित किया था, जिसमें मंत्री भी शामिल हुए थे. केंद्रीय मंत्री सिंधिया के संबोधन में जिलों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल हुए.

क्या है ई चिंतन ?

बीजेपी ने केंद्र सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच ले जाने के लिए एक नया फॉर्मूला तैयार किया है. इसके तहत वह अपने जमीन स्तर तक के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने का काम कर रही है. चूंकि, यह समय कोरोना का है, इसलिए इस प्रक्रिया को ई-चिंतन शिविर नाम दिया गया है. इस चिंतन कार्यक्रम के तहत हफ्ते में एक दिन केंद्रीय स्तर के बड़े नेता प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों को संबोधित करते हैं. उसके बाद उसी विषय को लेकर प्रदेश या केंद्र के नेता जिलों के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हैं. ई-चिंतन शिविर में प्रदेश और जिलों के सभी कार्यकर्ताओं का वर्चुअल तरीके से जुड़ना अनिवार्य है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज