• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP NEWS : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार ने एडवांस में बुक किये 50 ऑक्सीजन टैंकर

MP NEWS : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार ने एडवांस में बुक किये 50 ऑक्सीजन टैंकर

MP सरकार इन टैेकर्स के लिए एडवांस पैमेंट भी कर रही है.

MP सरकार इन टैेकर्स के लिए एडवांस पैमेंट भी कर रही है.

BHOPAL. प्रदेशभर के सरकारी अस्पतालों में 176 पीएसए प्लांट लगाए जा रहे हैं. इससे रोजाना करीब 1,07,490 लीटर प्रति यूनिट यानी कि 215 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अस्पतालों में मरीजों के बिस्तर तक पहुंचेगी. सरकार का दावा है कि प्रदेश में 28 पीएसए प्लांट शुरू हो गए हैं.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना की दूसरी लहर (Second wave of corona) के कहर और उससे निपटने में नाकामी से सबक लेते हुए सरकार अब तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों में जुट गई है. ऑक्सीजन की कमी के कारण दूसरी लहर में सबसे ज्यादा परेशान झेलनी वाली सरकार ने अब एडवांस बुकिंग शुरू कर दी है. प्रदेश सरकार ने ऑक्सीजन(Oxygen) की कमी से निपटने के लिए अभी से एडवांस में ऑक्सीजन टैंकर बुक कर दिए हैं.

प्रदेश के मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया के मुताबिक सरकार ने कोरोना काल में 96 ऑक्सीजन टैंकर बुक किए थे जिसके जरिए जिलों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई थी. इस बार सरकार ने अभी से 50 ऑक्सीजन टैंकर की बुकिंग कर दी है. इनका पेमेंट भी सरकार अभी से कर रही है. केंद्र की तरफ से जो गाइडलाइन जारी की गई है उसी के तहत ऑक्सीजन की कमी से निपटने के लिए सरकार पर्याप्त इंतजाम करने में जुटी है.

हर मेडिकल कॉलेज में प्लांट
मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया के मुताबिक  हर एक मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन स्टोरेज की व्यवस्था की जा रही है. मेडिकल कॉलेजों में 4 से 14 दिन तक ऑक्सीजन को स्टोरेज किया जा सकेगा. सरकार के 176 पी एस ए प्लांट लगाने में भी तेजी लाने की कोशिश की जा रही है. कई जगह पर ऑक्सीजन प्लांट पूरे हो चुके हैं बाकी ऑक्सीजन प्लांट को भी पूरा करने पर जोर दिया जा रहा है.

दूसरी लहर में फजीहत
दूसरी लहर के दौरान प्रदेश में हर दिन 685 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही थी. लेकिन अब अस्पतालों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार तेजी के साथ काम कर रही है. प्रदेशभर के सरकारी अस्पतालों में 176 पीएसए प्लांट लगाए जा रहे हैं. इससे रोजाना करीब 1,07,490 लीटर प्रति यूनिट यानी कि 215 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अस्पतालों में मरीजों के बिस्तर तक पहुंचेगी. सरकार का दावा है कि प्रदेश में 28 पीएसए प्लांट शुरू हो गए हैं. वहीं एयर सेपरेशन यूनिट से हर दिन 160 मीट्रिक टन ऑक्सीजन तैयार करने का प्लान है.

क्या है सरकार की प्लानिंग
-सेकंड वेव के पीक़ पर डेली डिमांड 685 मीट्रिक टन थी अब 176 पीएसी प्लांट लगने से 225 मीट्रिक टन ऑक्सीजन बनेगी.

-ऐयर सेपरेशन यूनिट से 160 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई की कोशिश है.

-MLO टैंक की स्टोरेज कैपेसिटी 750 मीट्रिक टन निर्धारित की गई है

-एल एम ओ स्टोरेज की कैपेसिटी 291 मीट्रिक टन बढ़ाने का लक्ष्य है

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज