होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

कांग्रेस ने BJP को पछड़ा, अब ABVP से आगे निकला NSUI, जानिए क्या है पूरा मामला

कांग्रेस ने BJP को पछड़ा, अब ABVP से आगे निकला NSUI, जानिए क्या है पूरा मामला

कुछ दिन पहले दावा किया गया था कि  टि्वटर पर एमपी कांग्रेस के 9.18 फॉलोअर्स हैं जबकि बीजेपी के सिर्फ 7.83 लाख हैं.

कुछ दिन पहले दावा किया गया था कि टि्वटर पर एमपी कांग्रेस के 9.18 फॉलोअर्स हैं जबकि बीजेपी के सिर्फ 7.83 लाख हैं.

BhopalNews: एमपी एनएसयूआई के ट्विटर पर 21, 600 फॉलोअर्स हैं, जबकि ABVP के ट्विटर पर सिर्फ 7787 फॉलोअर्स ही हैं. यानी एनएसयूआई के मुकाबले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के आधे फॉलोअर्स भी नहीं हैं.

भोपाल. एमपी (MP) में सत्ता पर काबिज बीजेपी (BJP) अब भी कांग्रेस से पिछड़ी हुई है. ये मोर्चा है सोशल मीडिया (Social Media) का जिसमें बीजेपी से ज्यादा कांग्रेस के फॉलोअर्स हैं. पार्टी के मुख्य संगठन के बाद अब एनएसयूआई (NSUI) ने भी दावा किया है उसके एबीवीपी से ज्यादा फॉलोअर्स हैं.

एमपी में बीजेपी-कांग्रेस ट्विटर सियासत के बाद अब एनएसयूआई-एबीवीपी में तुलना हो रही है. एनएसयूआई स्टेट को ऑर्डिनेटर रवि परमार ने ट्वीट कर संगठन को एबीवीपी से आगे बताया है. एमपी एनएसयूआईके ट्विटर पर 21, 600 फॉलोअर्स हैं, जबकि एबीवीपी के ट्विटर पर सिर्फ 7787 फॉलोअर्स ही हैं. यानि एनएसयूआई के मुकाबले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के आधे फॉलोअर्स भी नहीं हैं.

बीजेपी-कांग्रेस में ट्विटर पर जंग जारी
कुछ दिनों पहले बीजेपी और कांग्रेस के बीच टि्वटर फॉलोअर्स को लेकर सियासत हुई थी. दावा किया गया था कि टि्वटर पर कांग्रेस के 9.18 फॉलोअर्स हैं जबकि बीजेपी के सिर्फ 7.83 लाख हैं. कांग्रेस नेता इसे जनता के बीच अपनी लोकप्रियता का पैमाना बता रहे हैं तो भाजपा नेता इस संख्या पर सवाल उठा रहे हैं.  भाजपा की ओर से कहा गया कि अगस्त 2019 में जिस कांग्रेस के मात्र 3 लाख फॉलोअर्स होते थे, वो मात्र 15 महीने में 9 लाख तक कैसे पहुंच गए. 15 महीने में 6 लाख फॉलोअर्स तो अमेरिका के राष्ट्रपति के भी नहीं बढ़े. मतलब दाल में कुछ काला है.

पाकिस्तान-अरब से रिट्वीट
भाजपा की ओर से कहा गया है कि कांग्रेस के फॉलोअर्स में ज्यादा लोग मुस्लिम हैं, जो कि पाकिस्तान और अरब देशों से जुड़े हुए हैं. कांग्रेस की पोस्ट पर अधिकतर इन्ही अकाउंट से रिट्वीट होते हैं. यह भी गंभीरता से सोचने वाला मामला है.

Tags: BJP MP politics, Madhya Pradesh Congress, Social media, Twitter

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर