• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP: न करें रजिस्ट्री की जल्दबाज़ी, अभी नहीं बढ़ेंगे प्रॉपर्टी के दाम, सरकार ने लिया ये फैसला

MP: न करें रजिस्ट्री की जल्दबाज़ी, अभी नहीं बढ़ेंगे प्रॉपर्टी के दाम, सरकार ने लिया ये फैसला

प्रॉपर्टी के दाम बढ़ने के डर से लोगों ने धड़ाधड़ रजिस्ट्री कराना शुरू कर दिया था.

प्रॉपर्टी के दाम बढ़ने के डर से लोगों ने धड़ाधड़ रजिस्ट्री कराना शुरू कर दिया था.

MP Property News: प्रॉपर्टी की नई गाइडलाइन लागू होने की डेडलाइन को देखते हुए राजधानी भोपाल में 1 अगस्त से पहले रजिस्ट्री कराने की होड़ मच गई थी. बीते 27 दिनों में ही भोपाल में 6469 रजिस्ट्री की गईं. सरकार ने इस साल प्रॉपर्टी की गाइडलाइन दरों में वृद्धि नहीं करने लिया फैसला किया है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश में प्रॉपर्टी (Property) के दाम अभी नहीं बढ़ेंगे. प्रदेश सरकार ने इस साल प्रॉपर्टी की गाइडलाइन दरों में वृद्धि नहीं करने लिया फैसला किया है. इस फैसले के बाद अब मौजूदा गाइडलाइन से ही संपत्ति की खरीद और बिक्री होगी. हालांकि जिन 5,000 स्थानों पर अभी दरें निर्धारित नहीं थीं वहां दरें निर्धारित जरूर की जाएंगी.

इससे पहले 1 अप्रैल से लागू होने वाली गाइड लाइन को तीन बार बढ़ाने के बाद एक अगस्त से नई गाइड लाइन लागू होने वाले थी. प्रॉपर्टी कारोबार से जुड़े व्यापारियों ने कोरोना को देखते हुए इसे लागू न करने की मांग की थी. क्योंकि इससे प्रॉपर्टी के दाम में उछाल आता. इस मांग को देखते हुए सरकार ने इस साल गाइड लाइन दरों में वृद्धि न करने का फैसला किया है.

मच गई थी होड़
प्रॉपर्टी की नई गाइडलाइन लागू होने की डेडलाइन को देखते हुए राजधानी भोपाल में 1 अगस्त से पहले रजिस्ट्री कराने की होड़ मच गई थी. बीते 27 दिनों में ही भोपाल में 6469 रजिस्ट्री की गईं जबकि मंगलवार को साढ़े तीन सौ से ज्यादा लोगों ने प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त की रजिस्ट्री कराई थी. इसे देखते हुए भोपाल के पंजीयन दफ्तरों में प्रति सब रजिस्टर कोर्ट की संख्या को 36 से बढ़ाकर 56 कर दिया गया था.

ये उठ रही थी मांग
दरअसल नई गाइडलाइन लागू होने पर अकेले राजधानी भोपाल की 3000 से ज्यादा लोकेशन पर प्रॉपर्टी के दाम 10 से 40 फ़ीसदी तक बढ़ने की संभावना थी. इसके विरोध में रियल स्टेट कारोबार से जुड़े व्यापारियों का तर्क था कि अभी कोरोना काल खत्म नहीं हुआ है और रियल एस्टेट सेक्टर इससे उबरने की कोशिश कर रहा है. अगर गाइडलाइन बढ़ाई जाती हैं तो फिर लोगों की प्रॉपर्टी खरीदने की क्षमता कम हो जाएगी और सेक्टर को नुकसान उठाना पड़ेगा. ऐसे में सरकार को फायदा कम नुकसान ज्यादा होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज