लाइव टीवी

दिग्विजय और जीतू से माफी के बाद ग्रेड-पे पर अड़े पटवारी, मंत्री से बातचीत बेनतीजा

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 5, 2019, 7:14 PM IST
दिग्विजय और जीतू से माफी के बाद ग्रेड-पे पर अड़े पटवारी, मंत्री से बातचीत बेनतीजा
मध्य प्रदेश पटवारी संघ की मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के साथ हुई वार्ता बेनतीजा रही.

उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी (Jeetu Patwari) और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के बयानों के खिलाफ मध्य प्रदेश के पटवारियों की हड़ताल (Patwari Strike) शनिवार को भी समाप्त नहीं हुई. मंत्री के साथ बातचीत में पटवारियों ने नई मांगें भी सामने रख दीं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में पटवारी संघ की हड़ताल (Patwari Strike) फिलहाल खत्म होती नहीं दिख रही है. शनिवार को सीएम कमलनाथ से मुलाकात के बाद राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) के साथ हुई पटवारी संघ की बैठक बेनतीजा रही. बैठक में बात न बनने से पटवारी संघ ने हड़ताल जारी रखने का फैसला किया है. पटवारी संघ अब मंत्री जीतू पटवारी (Jeetu Patwari) और दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) से माफी के साथ-साथ ग्रेड-पे (Grade-pay) बढ़ाए जाने की भी मांग कर रहा है. मंत्री के साथ बैठक बेनतीजा खत्म होने से प्रदेश में किसानों को समस्या हो सकती है. पटवारियों की हड़ताल के कारण प्रदेश में हो रहा किसानों का सर्वे कार्य प्रभावित हो सकता है.

बैठक में नहीं बनी सहमति
पटवारी संघ का कहना है कि कांग्रेस ने अपने वचनपत्र में पटवारियों का ग्रेड-पे बढ़ाने की बात की थी, लेकिन अब तक ऐसा नहीं हुआ है. राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने पटवारियों को 6 महीने में इस मांग को पूरा करने का भरोसा दिया है. लेकिन पटवारी संघ एक निश्चित तारीख बताने पर अड़ा है. यही वजह है कि बैठक के दौरान दोनों पक्षों में कोई सहमति नहीं बन सकी. पटवारियों की हड़ताल से सूबे में किसानों के सर्वे पर असर पड़ रहा है. आपको बता दें कि तीन दिन पहले पटवारियों ने उस वक्त हड़ताल का एलान कर दिया था, जब मंत्री जीतू पटवारी के बाद दिग्विजय सिंह ने पटवारियों को भ्रष्ट करार दे दिया था. हालांकि दोनों ही नेता सफाई दे चुके हैं कि उन्होंने भ्रष्ट होने की बात सभी पटवारियों के लिए नहीं कही थी.

सीएम ने मंत्री से बातचीत की दी थी सलाह

पटवारी संघ के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार दोपहर कैबिनेट बैठक के बाद सीएम कमलनाथ से मुलाकात की थी. पटवारी संघ ने सीएम के सामने अपनी मांगें रखी. बाद में सीएम ने उन्हें राजस्व मंत्री से बातचीत के लिए कहा. इस पर पटवारी संघ का प्रतिनिधिमंडल राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के बंगले पहुंचा और वहां दोनों पक्षों के बीच बैठक हुई. बैठक में पटवारी संघ ने माफी के साथ ग्रेड-पे बढ़ाने का भी मुद्दा उठा दिया. जिस पर मंत्री ने भरोसा दिया कि इस पर सरकार 6 महीने के भीतर कोई न कोई फैसला ले लेगी, लेकिन पटवारी संघ निश्चित तारीख बताने पर अड़ा रहा.

हड़ताल से किसान परेशान
मध्य प्रदेश में पटवारियों की हड़ताल ऐसे वक्त में हो रही है जब किसानों की खराब फसलें और बाढ़ आपदा से राजस्व को हुए नुकसान का आकलन किया जाना है. हड़ताल की वजह से नुकसान के सर्वे का काम ठप हो गया है. अगर पटवारी काम पर नहीं लौटते तो सर्वे के काम पर काफी असर पड़ेगा और किसानों को वक्त पर मुआवजा नहीं मिल पाएगा. इधर, बैठक के बाद राजस्व मंत्री ने कहा कि राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि सरकार ने पटवारी संघ की मांगों पर विचार करने का भरोसा दिया है. हमने अपने वचन पत्र में जो बाते कही हैं, सरकार उसे पूरा करने के लिए वचनबद्ध है. जहां तक बात माफी मांगने की है, तो जीतू पटवारी और दिग्विजय सिंह ने सभी पटवारियों के बारे में भ्रष्ट नहीं कहा था. वहीं, पटवारी संघ के अध्यक्ष उपेंद्र सिंह बघेल ने कहा कि अभी हमने सरकार के सामने अपनी मांग रखी हैं. सरकार भरोसा तो दे रही है, लेकिन तारीख नहीं बता रही. हम सरकार के पक्ष को अपने संघ के सामने रखेंगे उसके बाद ही हड़ताल खत्म करने पर फैसला होगा.
Loading...

ये भी पढ़ें - 

कैबिनेट के फैसलेः रियल एस्टेट और पर्यटन के विकास से कमाई करेगी कमलनाथ सरकार

Navratri 2019: जबलपुर का अनोखा रावण-भक्त, नवरात्रि में करता है दशानन की पूजा

MP: शासकीय स्कूलों में पढ़ाई ठप्प, चुनाव ड्यूटी में लगाए गए शिक्षकों ने दी आंदोलन की चेतावनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 7:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...