MP में पेट्रोल और डीजल के दाम में लगी आग, भोपाल में तेल का नया रेट यहां चेक करें
Bhopal News in Hindi

MP में पेट्रोल और डीजल के दाम में लगी आग, भोपाल में तेल का नया रेट यहां चेक करें
भोपाल में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार 16 वें दिन बढ़े

Petrol-Diesel Price Hike: भोपाल में पेट्रोल में प्रति लीटर 35 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, वहीं डीजल के दाम प्रति लीटर 56 पैसे तक बढ़ा दिए गए हैं. तेल के दाम में बढ़ोतरी का असर जरूरी चीजों की सप्लाई पर पड़ सकता है.

  • Share this:
भोपाल. पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार 16वें दिन बढ़ोतरी (Petrol and diesel price hike) जारी रही. इसका असर पूरे देश के साथ-साथ मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भी पड़ा है. राजधानी भोपाल (Bhopal) में भी पेट्रोल और डीजल महंगा हो गया है. भोपाल में पेट्रोल में प्रति लीटर 35 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. पेट्रोल अब प्रति लीटर ₹87.19 पैसे हो गया है. इसी तरह डीजल के दाम में भी वृद्धि हुई है. भोपाल में डीजल की कीमत में प्रति लीटर 56 पैसे की बढ़ोतरी की गई है. शहर में डीजल प्रति लीटर ₹78.35 पैसे हो गया है. नए रेट आज से लागू हो गए हैं.

16 दिन में लगभग 10  रुपए बढ़े दाम

देश के अन्य शहरों के साथ-साथ भोपाल में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार 16वें दिन बढ़ गई हैं. राजधानी में इसी महीने 6 जून को पेट्रोल जहां 77.56 रुपए प्रति लीटर और डीजल 68.27 रुपए प्रति लीटर बिक रहा था. वहीं, आज तेल के दाम में लगभग 10 रुपए की बढ़ोतरी देखी जा रही है. दरअसल 16 मार्च से लेकर 6 जून तक सरकार ने लॉकडाउन (Lockdown) के कारण पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बढ़ाए थे. लॉकडाउन खत्म होते ही अब ईंधन के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. इस कारण मध्य प्रदेश में पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छूते दिख रहे हैं.



ये भी पढ़ें - बालाघाट में चायनीज कंपनी ने भारतीय मजदूरों को नौकरी से निकाला
 
बढ़ती कीमत का सप्लाई पर होगा असर

पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोतरी के बाद अब मध्य प्रदेश में जरूरी वस्तुओं की सप्लाई पर भी इसका असर पड़ना तय माना जा रहा है. इससे पहले राज्य सरकार ने भी पेट्रोल और डीजल पर अतिरिक्त टैक्स लगाते हुए एक-एक रुपए का इजाफा किया था. इसी का असर इनके दाम पर पड़ रहा है. दोनों की कीमतों में जबर्दस्त उछाल आया है. मध्य प्रदेश में जरूरी चीजों की सप्लाई से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि डीजल के दाम बढ़ने का असर ट्रांसपोर्ट सेवाओं और जरूरी सामान की सप्लाई पर निश्चित रूप से पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज