लाइव टीवी

COVID-19: नीमच पुलिस ने बस्ती को गोद लिया, कांस्टेबल ने मजदूर परिवार के लिए घर से खाना बनवाया
Bhopal News in Hindi

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: April 7, 2020, 11:02 AM IST
COVID-19: नीमच पुलिस ने बस्ती को गोद लिया, कांस्टेबल ने मजदूर परिवार के लिए घर से खाना बनवाया
लॉक डाउन के दौरान देवदूत बनी एमपी पुलिस

Fight Against Coronavirus: संकट की घड़ी में सब परेशान हैं. दुकान-बाज़ार काम-धंधा सब बंद हैं. सबसे ज़्यादा परेशान हैं मेहनतकश मज़दूर. ऐसे गरीब परिवारों के लिए पुलिस देवदूत बन गयी है.

  • Share this:
भोपाल.कोरोना वायरस (Coronavirus) की आपदा की इस स्थिति में मध्य प्रदेश पुलिस गरीब परिवारों के लिए संकटमोचक बनकर सामने आई है. पुलिस जनसहयोग से हर संभव गरीब परिवारों की मदद कर रही है. ऐसी ही दो कहानियां नीमच (NEEMUCH) और कटनी (KATNI) से निकलकर सामने आई हैं. नीमच पुलिस ने एक ऐसे मोहल्ले को गोद लिया, जहां रहने वाले 100 मजदूर परिवारों के पास खाने के लिए अनाज का एक दाना भी नहीं था. इसी तरह से एक पेड़ के नीचे रह रहे भूखे परिवार को एक कांस्टेबल ने घर से खाना बनवाकर उनकी भूख मिटाई.

हर दिन पुलिस के जज्बे और उनकी संवेदनशीलता के मामले पता चल रहे हैं. ऐसा ही एक मामला नीमच जिला पुलिस का है. यहां की पुलिस ले नीमच लहसुन मंडी के पीछे स्थित हाट मैदान मोहल्ले को गोद लिया है. हाट मैदान मोहल्ले में आर्थिक रूप से कमजोर करीब 100 परिवार रहते हैं. पुलिस टीम ने यहां रहने वाले परिवारों को 10 दिन का राशन, सेनेटाइजर और मास्क उपलब्‍ध कराए.

मोहल्ले के लिए नोडल अधिकारी
इस मोहल्ले को गोद लेने के बाद अब मोहल्ले की पूरी जिम्मेदारी आ गई है. इसी जिम्मेदारी को निभाते हुए पुलिस थाना नीमच कैंट में पदस्थ प्रधान आरक्षक कैलाश कुमरे को हाट मैदान मोहल्ले का नोडल अधिकारी बनाया गया है. नोडल अधिकारी मोहल्ले में दैनिक उपयोग का सामान, दूध, दवाइयों की उपलब्‍धता का ध्‍यान रख रहे हैं. साथ ही मोहल्लें में रह रहे परिवारों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक कर रहे हैं.







कांस्टेबल ने घर पर खाना बनवाया
कटनी जिले के कुठला थाना में पदस्‍थ वरिष्‍ठ आरक्षक ज्‍योती शर्मा ने जब सड़क किनारे एक पेड़ के नीचे रह रहे चार बच्‍चों सहित एक असहाय परिवार को देखा, तो वे अपने आपको उनके पास जाने से रोक नहीं पाए. उन्‍होंने उस परिवार के मुखिया से पूछा कि आपकी क्‍या परेशानी है, तो उसने बताया कि हम सब भूखे हैं. यह बात सुनकर आरक्षक ज्‍योती शर्मा सीधे अपने घर पहुंचे और उन्‍होंने अपनी पत्‍नी के सहयोग से खाना तैयार कराया और माधवनगर में पेड़ के नीचे बैठे उस परिवार को भोजन करवाया.

ये भी पढ़ें-

COVID-19 : इंदौर में अगर कर्फ्यू में बाहर निकले तो सीधे जेल भेजे जाएंगे...

कोरोना चेन तोड़ने के लिए अलर्ट, खुद को इंफेक्टेड मानकर ड्यूटी करें पुलिसवाले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 10:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading