Video: कमलनाथ के मंत्री ही नहीं, बेंगलुरू में MLA के पिता भी बेटे से नहीं मिल पाए
Bhopal News in Hindi

Video: कमलनाथ के मंत्री ही नहीं, बेंगलुरू में MLA के पिता भी बेटे से नहीं मिल पाए
मध्य प्रदेश की सियासत का ड्रामा फिलहाल कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में जारी है. बताया जा रहा है कि कमलनाथ सरकार के दो मंत्रियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. वहीं, एक विधायक के पिता को भी अपने बेटे से मिलने का इंतजार है.

मध्य प्रदेश की सियासत का ड्रामा फिलहाल कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में जारी है. बताया जा रहा है कि कमलनाथ सरकार के दो मंत्रियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. वहीं, एक विधायक के पिता को भी अपने बेटे से मिलने का इंतजार है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की सियासत (MP Political Crisis) का ड्रामा फिलहाल कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में जारी है. वहां कांग्रेस के 2 मंत्री सिंधिया समर्थक विधायकों से मिलने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन उनके साथ पुलिस के धक्का-मुक्की करने की खबरें आ रही हैं. बताया जा रहा है कि कमलनाथ सरकार के दो मंत्रियों जीतू पटवारी और लाखन सिंह को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. इन दोनों मंत्रियों के साथ गए सिंधिया समर्थक विधायक के पिता भी गए थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें भी बेटे से नहीं मिलने दिया. दरअसल, सिंधिया समर्थक विधायक मनोज चौधरी (Manoj Chaudhary) के पिता नारायण चौधरी भी दोनों मंत्रियों के साथ बेंगलुरू गए हैं. लेकिन वो अभी तक अपने बेटे से नहीं मिल पाए हैं. मनोज चौधरी हाट पिपल्या से विधायक हैं.

पटवारी ने विधायक के पिता का जारी किया वीडियो
इस मामले में कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी ने बाद में एक वीडियो जारी किया. इस वीडियो में मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी भी देखे जा सकते हैं. इस ट्वीट में पटवारी ने कहा, ''बीजेपी ने एमपी कांग्रेस के विधायकों का अपहरण कर उन्हें बेंगलुरू के एक रिसॉर्ट में कैद रखा गया है. जब विधायक मनोज चौधरी के पिता और मैं मिलने पहुंचे तो पुलिस द्वारा गलत व्यवहार कर हमें गिरफ्तार कर लिया गया, भाजपा तानाशाही कर लोकतंत्र की हत्या कर रही है.''
कांग्रेस नेताओं ने जताई नाराजगीइस बीच कांग्रेस के बागी विधायकों को मनाने गए मंत्रियों के साथ हुई घटना पर कांग्रेस पार्टी ने नाराजगी जताई है. कांग्रेस नेताओं ने इस मामले में कोर्ट जाने की चेतावनी भी दी है. कांग्रेस नेताओं ने भोपाल में हुई एक प्रेस वार्ता में इस घटना को लेकर विरोध जताया है. इस बीच समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक जीतू पटवारी को पुलिस ने रिहा कर दिया है. इसके बाद पटवारी कर्नाटक कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष डीके शिवकुमार से मिलने पहुंचे हैं.




दिग्विजय सिंह ने लगाया ये आरोप
सिंधिया समर्थक विधायकों को मनाने गए कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ पुलिस की झड़प को लेकर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है. इस संबंध में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ पुलिस ने वहां अभद्रता की. सिंह ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को बीजेपी ने कर्नाटक पुलिस के द्वारा बंधक बनाया हुआ है. हमारे मंत्रियों जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ बदतमीजी की जा रही है.'

ये भी पढ़ें -

MP: मंत्रियों से धक्का-मुक्की पर बोली कांग्रेस- BJP ने बंधक बनाया, की बदतमीजी

जयपुर छोड़ इंदौर लौटे कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला, कमलनाथ ने लगाई पहरेदारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज