लाइव टीवी

राजनीतिक संकट के बीच कमलनाथ का दावा- बागी विधायकों से हुई थी गुपचुप बातचीत
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 19, 2020, 10:08 PM IST
राजनीतिक संकट के बीच कमलनाथ का दावा- बागी विधायकों से हुई थी गुपचुप बातचीत
एमपी में राजनीतिक संकट के बीच सीएम कमलनाथ को सरकार के बने रहने का भरोसा है. (File Photo)

राजनीतिक संकट के बीच सीएम कमलनाथ ने कहा है कि उनकी बागी कांग्रेस विधायकों से गुपचुप बातचीत हुई है. सीएम का दावा है कि वे दोबारा बहुमत हासिल करेंगे.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने राज्य में चल रहे राजनीतिक संकट के बीच कहा है कि उनकी बागी कांग्रेस विधायकों से गुपचुप बातचीत हुई थी. सीएम का दावा है कि वे दोबारा बहुमत हासिल करेंगे. कमलनाथ ने कहा कि अगर उनका (विधायकों का) ब्रेन वाश हुआ रहता तो वे मुझे फोन नहीं करते. इस बातचीत में कमलनाथ ने किसी भी परिस्थिति में बागी विधायकों के सहयोग से शिवराज सिंह चौहान के दोबारा सत्ता में आने से साफ इनकार किया. दरअसल, कांग्रेस के ये बागी विधायक ही कमलनाथ सरकार पर फिलहाल संकट खड़ा करते दिख रहे हैं.

शिवराज की गुगली से नहीं होंगे बोल्ड
एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि वे शिवराज की किसी भी गुगली से बोल्ड नहीं होने जा रहे हैं., उनकी गुगली चौड़ी हो जाएगी. क्रिकेट से संबंधित शब्लावली का प्रयोग करते हुए सीएम का इशारा पूर्व सीएम शिवराज सिंह की उस फोटो पर था, जिसमें वे किसी मैच में भाग लेते दिख रहे थे.

विधायकों पर है भरोसा



उन्होंने कहा, 'मैंने उनमें से कई विधायकों से कई बार बातचीत की है. मुझे अपने विधायकों पर भरोसा है, मैं उनसे संपर्क में हूं.' बता दें, मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट गहराया हुआ है. इसका कारण ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों का बागी होना है. ये विधायक अभी बेंगलुरू में मौजूद हैं, जिसका कारण सिंधिया का कांग्रेस से नाता तोड़ना और बीजेपी में शामिल होना है.



सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर रखी राय
इस दौरान सीएम ने सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि सिंधिया का इस तरह का निर्णय चौंकाने वाला था, लेकिन यह पूरी तरह अप्रत्याशित नहीं था. बता दें, पिछले कई महीनों से एमपी कांग्रेस में सिंधिया की सीएम कमलनाथ और दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह से नहीं बन रही थी. कमलनाथ ने कहा, "मैंने कभी नहीं सोचा था कि वह (ज्योतिरादित्य सिंधिया) कांग्रेस छोड़ देंगे, लेकिन हर कोई अपना भविष्य खुद तय करता है और उन्होंने अपने लिए रास्ता चुना.

दिल्ली में मौजूद नेता देंगे जवाब
सिंधिया के मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सहित किसी भी पद नहीं मिलने से नाराजगी की खबरों पर कमलनाथ ने इस मामले को दिल्ली के शीर्ष नेतृत्व से पूछने को कहा. उन्होंने कहा, 'मैं उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बना सकता था. यह निर्णय दिल्ली में लिया गया है. वो नाराज क्यों थे, इसका जवाब दिल्ली में मौजूद हमारे नेता देंगे.'
बीजेपी ला सकती थी अविश्वास प्रस्ताव
राज्यपाल लालजी टंडन को लिखे लेटर पर उन्होंने कहा कि हमारे पास बहुमत है, अगर कोई कहता है कि ऐसा नहीं है तो उन्हें अविश्वास प्रस्ताव लाना चाहिए था.

कमलनाथ ने शिवराज का सीएम बनना बताया सपना
कमलनाथ ने बीजेपी से उनकी सरकार को किसी भी तरह के खतरे से साफ इनकार किया. उन्होंने कहा कि "वास्तव में कुछ बीजेपी नेता मेरे संपर्क में हैं, शिवराज फिर से सीएम बनने का सपना देख रहे हैं."

ये भी पढ़ें:

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, कल ही होगा मध्यप्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट

कमलनाथ के मंत्री का दावा- BJP के दो विधायक हमारे साथ, संपर्क में हैं...

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 19, 2020, 9:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading