Assembly Banner 2021

MP Politics: गोविंद सिंह-विश्वास सारंग आमने-सामने, एक-दूसरे पर लगाए ये आरोप

भाजपा और कांग्रेस के बीच फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. (फाइल फोटो)

भाजपा और कांग्रेस के बीच फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. (फाइल फोटो)

भाजपा और कांग्रेस के बीच फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉक्टर गोविंद सिंह ने जहां भाजपा पर विधायकों के सवालों से बचने का आरोप लगाया, वहीं विश्वास सारंग ने कांग्रेस को विस सत्र टालने का जिम्मेदार बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2021, 2:17 PM IST
  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस के पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह और भाजपा के कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग आमने-सामने आ गए हैं. गोविंद सिंह ने जहां भाजपा पर विधायकों के सवालों से बचने का आरोप लगाया है, वहीं विश्वास सारंग ने सिंह पर गलत बयानबाजी करने और विधानसभा सत्र टालने का आरोप लगाया है.

पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने रविवार को मीडिया से कहा कि सरकार को विधानसभा में लगे विधायकों के सवालों के जवाब देना चाहिए. अभी विधानसभा में पौने दो हजार सवाल पेंडिंग हैं. इनके जवाब आना चाहिए.

प्रदेश में बढ़ रही अराजकता



पूर्व मंत्री ने कहा कि इस मामले में प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा और सीएम शिवराज को पत्र भी लिखेंगे. उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक में विधायकों के सवाल देने को लेकर समिति बनाने पर सहमति बनी थी. लेकिन सत्र स्थगित होने के बाद अभी तक समिति का गठन नहीं हुआ. जनता से जुड़े सवालों के जवाब नहीं आने से प्रदेश में अराजकता बढ़ रही है.
सारंग ने कहा- विधानसभा सत्र को कांग्रेस ने टाला

वहीं, डॉक्टर गोविंद सिंह पर पलटवार करते हुए कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि विधायकों के सवालों के जवाब विपक्ष के कारण नहीं आ रहे. सर्वदलीय बैठक में विपक्ष के नेताओं ने सत्र टालने पर ही सहमति दी थी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नहीं चाहती कि विधानसभा का सत्र संचालित हो. राज्य सरकार हर सवाल का जवाब देने को तैयार है. कांग्रेस पार्टी के विधायक सवालों को लेकर गलत बयानबाजी कर रहे हैं.

यूथ प्रशिक्षण पर भी सारंग ने लगाया आरोप

यूथ कांग्रेस में के धार में हो रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम को लेकर सियासत होने लगी. डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि यूथ कांग्रेस को आक्रामक होना होगा. आक्रामकता ही यूथ कांग्रेस की है पहचान है. संजय गांधी के समय यूथ कांग्रेस सबसे मजबूत संगठन था. विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में यूथ कांग्रेस दोबारा मजबूत होगा. वहीं, इस प्रशिक्षण कार्यक्रम पर बीजेपी के कैबिनेट मिनिस्टर विश्वास सारंग ने कहा कि यूथ कांग्रेस की पहचान भ्रष्ट संगठन और अनुशासनहीनता है. यूथ कांग्रेस ने युवाओं में अपनी साख को खो दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज