महंगाई का विरोध: कांग्रेस ने कहीं की जबर्दस्ती, कहीं खेला क्रिकेट, पूर्व मंत्री गए जेल

इंदौर में महंगाई के विरोध में पीएम का पुतला फूंका गया.

इंदौर में महंगाई के विरोध में पीएम का पुतला फूंका गया.

Petrol-Diesel Price Hike Protest: महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने बंद का आह्वान किया. भाजपा ने बंद को पूरी तरह असफल करार दिया. प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसियों ने कहीं क्रिकेट खेला, तो कहीं पुतला जलाया. भोपाल में पूर्व मंत्री को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 6:24 AM IST
  • Share this:
भोपाल. पेट्रोल-डीजल और गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ते दामों के खिलाफ कांग्रेसी शनिवार सुबह से सड़कों पर निकले. राजधानी में बंद का मिला-जुला असर देखने को मिला. यहां पूर्व मंत्री पीसी शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसी दुकाने बंद कराने पहुंचे. इस दौरान जब कांग्रेसी कार्यकर्ता दुकानदारों से जबरदस्ती करने लगे तो पुलिस ने पीसी शर्मा और गुड्डू चौहान सहित करीब 11 कार्यकर्ताओं को जेल भेज दिया. वहीं, बंद को लेकर भाजपा ने कहा कि कांग्रेस का बंद पूरी तरह असफल रहा.

भोपाल में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी पीरगेट, मंगलवारा और जिंसी चौराहे पर लोगों से बंद को समर्थन देने को कहा. वहीं, इंदौर में महंगाई के विरोध में पीएम का पुतला फूंका गया. यहां डीजल पेट्रोल के बढ़ते दाम को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रीगल तिराहे पर प्रदर्शन किया. कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ की जमकर नारेबाजी की. हालांकि इस प्रदर्शन में कम ही कार्यकर्ता शामिल हुए. कांग्रेसियों ने यहां सड़क पर क्रिकेट खेला. ये कार्यकर्ता डीजल पेट्रोल के दाम की तरह रनों की सेंचुरी बनाकर प्रदर्शन करते नजर आए. बंद को देखते हुए शहर के विभिन्न हिस्सों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

कांग्रेस का बंद पूरी तरह अफसल- विश्वास सारंग

भाजपा के मंत्री विश्वास सारंग ने कहा- बंद पूरी तरह असफल है. कांग्रेस के छुटभैये नेता और गुंडे गुंडागर्दी कोशिश कर रहे हैं कि बंद सफल हो. लेकिन बंद का क्या मतलब, छोटे गुमटी वाले और चाय वालों की दुकाने बंद होंगी तो उनका क्या फयदा होगा. कांग्रेस के नेता सिर्फ राजनीतिक रोटिया सेंकने के लिए बंद की राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस राजस्थान, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ में प्रदर्शन क्यों नही कर रही. जनता को बधाई देता हूं कि कांग्रेस के इस बंद में साथ नहीं दिया. इससे कांग्रेस सिर्फ अराजकता फैलाने की कोशिश कर रही है.
उज्जैन में हुआ अजीब वाकया

पेट्रोलियम पदार्थों की बेतहाशा मूल्य वृद्धि (Price hike) के विरोध में कांग्रेस के बंद में अजीबो-गरीब वाक्या देखने को मिला. दुकानों-प्रतिष्ठानों को बंद कराने को आतुर कांग्रेस ने एक होटल को तो 1000 रुपए देकर बंद कराया. इस बीच बंद के दौरान कांग्रेसियो को विरोध का सामना करना पड़ा. पिपलिनाका क्षेत्र में कांग्रेसियों के सामने रहवासी और व्यापारियों  ने पीएम मोदी के समर्थन में नारे लगा दिए. दरअसल, उज्जैन में कांग्रेसी आज अल सुबह ही सड़कों पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए निकले. उन्होंने सुबह सुबह खुलने वाली दुकानों और प्रतिष्ठानों को बंद कराया.

जबलपुर-झाबुआ-देवास में हुआ प्रदर्शन



जबलपुर में शहर के प्रमुख बड़ा फुहारा इलाके को बंद कराने कांग्रेसी कार्यकर्ता पहुंचे. नगर अध्यक्ष के नेतृत्व में यहां प्रदर्शन किया गया. वहीं झाबुआ में बंद का मुक्कमल असर देखा गया. कांग्रेस ने आधे दिन का बंद बुलाया था. झाबुआ के व्यापारियों ने स्वचेछा से अपनी दुकानें बंद रखीं. झाबुआ में मेडीकल, दूध और इक्का दुक्का ठेले वालों को छोड़कर बाकी पूरा बाजार बंद रहा.

देवास में बंद का पूर्ण रुप से समर्थन नहीं दिखाई दिया. कई जगहों पर दुकानें पूर्ण रूप से खुली दिखी तो कई दुकानें बंद दिखाई दी. पेट्रोल, डीजल, घरेलू गैस की बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेस कर रही विरोध में आज कांग्रेसियों ने बाइक रैली निकालकर व वार्डों में जाकर हाथ जोड़े, तो कहीं जगह पर खुली शटर को देखकर बंद करवाई. वहीं विकास नगर स्थित पेट्रोल पंप पर जाकर हंगामा किया. हालांकि 1:00 बजे बाद पूरा मार्केट संपूर्ण रूप से खोला गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज