Assembly Banner 2021

जब BJP नेताओं के साथ खाने पर जाने से सिंधिया समर्थक को रोका, जानें फिर क्‍या हुआ, देखें Video

वरिष्ठ नेताओं के आगे ही सिंधिया समर्थक और भाजपा नेता विवाद करने लगे.

वरिष्ठ नेताओं के आगे ही सिंधिया समर्थक और भाजपा नेता विवाद करने लगे.

MP News:: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की मौजूदगी में सिंधिया समर्थक और भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. वरिष्ठ नेताओं ने बीच-बचाव कर मामले को शांत किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 4:25 PM IST
  • Share this:
ग्वालियर. ग्वालियर में रविवार को एक चौंकाने वाला वाकया सामने आया. यह ऐसी घटना है जो आगे चलकर मध्य प्रदेश की राजनीति में गंभीर रूप भी ले सकती है. कांग्रेस से दल बदलकर BJP में आए और राज्यसभा सांसद बने ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक और BJP के जिलाध्यक्ष आपस में उलझ गए. हालांकि, वरिष्ठ नेताओं और पार्टी की गाइडलाइन के चलते मामला शांत करा दिया गया.

दरअसल, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भाजपा के अनुसूचित वर्ग के कार्यकर्ता रामवीर निगम के साथ उनके घर खाना खाने पहुंचे थे. यहीं इन दोनों वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में ही सिंधिया समर्थक हरिओम शर्मा और भाजपा जिलाध्यक्ष योगेशपाल गुप्ता उलझ गए.

Youtube Video




वरिष्ठ नेताओं ने मामला कराया शांत
सिंधिया समर्थक हरिओम शर्मा प्रदेश पदाधिकारियों के साथ अंदर जाना चाह रहे थे, लेकिन जिलाध्यक्ष ने उन्हें रोक दिया. इस दौरान 10 मिनट तक दोनों के बीच तू-तू, मैं-मैं भी हुई. हालांकि, वहां मौजूद सिंधिया समर्थक रघुराज कंषाना, रविप्रताप भदौरिया, पूर्वमंत्री गिरराज डंडौतिया सहित अन्य लोगों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया.

जाटव समाज को साधने की कोशिश
माना जा रहा है कि वरिष्ठ नेताओं का निगम के यहां भोजन करना जाटव समाज को साधने की कोशिश है. इसी कोशिश में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रदेश पदाधिकारी रणवीर रावत, सांसद (भिंड) संध्या राय, मुकेश चौधरी और मदन कुशवाह शाम 4 बजे बूथ अध्यक्ष रामवीर निगम के घर पहुंचे और उनके यहां भोजन किया.

Youtube Video


मेहनत और विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे- वीडी शर्मा
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि निकाय चुनाव में भाजपा बूथ और पोलिंग स्तर के कार्यकर्ताओं की मेहनत और विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी. हमने घर-घर में नलों में पानी पहुंचाया और सड़कों का जाल बिछाया.

राहुल - सिंधिया के बीच हुआ था ये विवाद

हाल ही में राहुल गांधी ने एक बयान देकर सियसी हलचल मचा दी थी. राहुल गांधी ने हाल ही में कहा था कि अगर ज्योतिरादित्य कांग्रेस में होते तो मुख्यमंत्री हो सकते थे. इस पर सिंधिया ने जवाब दिया.उन्होंने कहा काश-राहुल गांधी पहले ये चिंता कर लेते.राहुल गांधी के उस बयान के बाद मध्य प्रदेश की राजनीति में बयानों के दौर चल रहे हैं. सब अपनी पार्टी लाइन और नफा-नुकसान देखकर बोल रहे हैं.इस पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बयान भी आ गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज