MP: भाजपा के उपेक्षित नेताओं को जोड़ रहीं सांसद प्रज्ञा, इन वजहों से बढ़ी नाराजगी

साध्वी प्रज्ञा ने पार्टी के उपेक्षित नेताओं के साथ चर्चा की.  (File pic)

साध्वी प्रज्ञा ने पार्टी के उपेक्षित नेताओं के साथ चर्चा की. (File pic)

भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (BJP MP Pragya Singh Thakur) इस बात से नाराज हैं कि स्थानीय स्तर पर भाजपा के नेताओं द्वारा उनकी उपेक्षा की जा रही है. इस वजह से उन्होंने उन नेताओं के साथ बैठक की जो पहले से ही पार्टी में उपेक्षित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 7:07 AM IST
  • Share this:
भोपाल. विवादों से गहरा नाता रखने वाली भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) भारतीय जनता पार्टी (BJP) के उपेक्षित नेताओं को अपने पक्ष में करने की तैयारी कर रही हैं. इसके लिए बाकायदा उन्होंने अपने निवास पर बैठक भी की. बैठक में करीब 30 लोगों ने हिस्सा लिया, जिसमें सभी के मोबाइल बाहर रखवा दिए गए थे. सांसद प्रज्ञा के यह कदम उठाने की वजह उनके क्षेत्र में विधायकों और पूर्व मेयर का हस्तक्षेप माना जा रहा है. पार्टी नेताओं द्वारा अपनी उपेक्षा से भी सांसद नाराज हैं.

सांसद के निवास बी-29 में हुई इस बैठक में भगवत रघुवंशी, चंद्रशेखर, विष्णु राठौर, अमर ऊंटवाल, अर्जुन यादव, विनय तिवारी, प्रेम गुरु, डॉ. दीपक मेहता, हबीबगंज ऑटो यूनियन के वीर शिवाजी ठाकरे के साथ-साथ कई लोग शामिल थे. बताय जाता है कि सांसद प्रज्ञा के पास भोपाल के 150 लोगों की सूची है, जो विधायकों से उपेक्षा महसूस कर रहे हैं. इन उपेक्षित लोगों के साथ भी वे जल्द बैठक करेंगी.

अपनी उपेक्षा पर भी की बात

जानकारी के मुताबिक, इस मीटिंग में सांसद की कई जगह हुई उपेक्षा पर चर्चा की गई. मसलन किसान सम्मेलन के कार्यक्रम में उन्हें मंच पर पीछे जगह मिली, भाजपा के नए जिला कार्यालय के उद्घाटन में उनका अपेक्षा के अनुरूप सम्मान नहीं हुआ, आर्च ब्रिज के मामले में भी उन्हें उचित जगह नहीं मिली. सूत्रों के मुताबिक सांसद ने सभी से कहा कि वे 8 विधानसभाओं की सांसद हैं. उन्हें पार्टी ने जो जिम्मेदारी दी है, उसे वे पूरा करेंदी,  कोई भी उन्हें कमजोर न समझे.
संगठन और आरएसएस तक पहुंची शिकायत

पार्टी के कुछ लोगों का कहना है कि सांसद ने इसकी शिकायत संगठन में उच्च स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में भी की है. उपेक्षित लोगों के फीडबैक के बाद वे फिर संगठन में अपनी बात रखेंगी. वहीं सांसद ने यह भी तय किया है कि लव जिहाद रोकने के कानून के साथ इसके पीड़ितों की मदद के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज