• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP : प्राइमरी स्कूल्स की आज से बजने लगी घंटी, बाजे-गाजे के साथ पहुंचे नन्हे-मुन्ने

MP : प्राइमरी स्कूल्स की आज से बजने लगी घंटी, बाजे-गाजे के साथ पहुंचे नन्हे-मुन्ने

खंडवा में टीचर्स ढोल ढमाकों के साथ बच्चों को स्कूल लेकर आए.

खंडवा में टीचर्स ढोल ढमाकों के साथ बच्चों को स्कूल लेकर आए.

Primary schools reopen : बच्चों को कोरोना गाइड लाइन के तहत 50 फीसदी उपस्थिति के साथ स्कूल बुलाया गया है और यहां भी एक बेंच पर एक बच्चे को ही बैठाया जा रहा है. स्कूल में प्रवेश से पहले गेट पर सेनेटाइजेशन की व्यवस्था थी. क्लास रूम्स और स्टाफ रूम्स को भी सेनेटाइज किया गया है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश में लंबे इंतजार और कोरोना काल (Corona) के बाद आज से प्राइमरी स्कूल (primary school) भी खुल गए. प्रदेश के महानगरों में से भोपाल और ग्वालियर में तो स्कूल खुल गए लेकिन इंदौर और जबलपुर में अलग-अलग कारणों से फिलहाल स्कूलों पर ताला ही लटका रहा. बाकी प्रदेश के सभी छोटे बड़े शहरों में प्राइमरी स्कूल्स की घंटी आज से बजने लगी. हालांकि पहले जैसी रौनक नहीं है.

डेढ़ साल बाद मध्य प्रदेश के प्राइमरी स्कूल्स के गेट आज से खुल गए. भोपाल में टीचर्स ने नन्हे-मुन्ने बच्चों को चॉकलेट और गिफ्ट दिए. पेरेंट्स की लिखित अनुमति पर ही बच्चों को प्राइमरी स्कूलों में एंट्री दी गई. चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने भोपाल के नवीन कन्या तुलसी नगर स्थित स्कूल में जाकर व्यवस्था का जायजा लिया. बच्चों, टीचर्स और पेरेंट्स से बात भी की.

हायर, हाई और मिडिल स्कूल के बाद प्राइमरी
हायर, हाई और मिडिल स्कूल के बाद अब प्रदेश भर के पहली से पांचवी तक के प्राइमरी स्कूलों को भी 18 महीने के बाद आज से ओपन किया गया है. सरकारी और प्राइवेट स्कूल्स में कोरोना गाइड लाइन के तहत पढ़ाई की व्यवस्था की गई है. लंबे समय बाद स्कूल पहुंचने पर बच्चे भी खुश थे.

ये भी पढ़ें- पशु क्रूरता : भोपाल में युवक ने बकरे को जबरदस्ती पिलाई शराब, Video Viral हुआ तो मांग ली माफी

 बच्चों का स्वागत
नवीन कन्या स्कूल की टीचर्स ने बच्चों का फूल मालाओं से स्वागत किया. उन्हें चॉकलेट और गिफ्ट भी दिए. बच्चों को कोरोना गाइड लाइन के तहत 50 फीसदी उपस्थिति के साथ स्कूल बुलाया गया है और यहां भी एक बेंच पर एक बच्चे को ही बैठाया जा रहा है. स्कूल में प्रवेश से पहले गेट पर सेनेटाइजेशन की व्यवस्था थी. क्लास रूम्स और स्टाफ रूम्स को भी सेनेटाइज किया गया है. जो बच्चे मास्क पहनकर नहीं आए थे उन्हें मास्क दिए गए. टीचर्स ने बच्चों को सोशल डिस्टेंस के साथ पढ़ाया. क्लास में फन एक्टिविटीज भी कराई गयीं. बच्चों को पहले दिन ग्राउंड में भी ले जाया गया और आउटडोर गेम भी कराए.

पेरेंट्स की परमिशन पर एंट्री
प्राइमरी स्कूलों में पेरेंट्स की लिखित अनुमति पर ही बच्चों को क्लास में आने की अनुमति दी जा रही है. इसके लिए स्कूल प्रबंधन एक लिखित अनुमति पत्र पेरेंट्स से ले रहा है. इसके बाद स्कूल प्रबंधन बच्चों के स्कूल आने का दिन और टाइम तय कर रहा है. उसी टाइमिंग में बच्चों को स्कूल आना है. बच्चे के स्कूल आने और उसे ले जाने की जिम्मेदारी पेरेंट्स की है. साथ ही पेरेंट्स को भी कोरोना नियम का पालन करना है.

इंदौर में नहीं खुले प्राइमरी स्कूल
इंदौर में आज प्राइमरी स्कूल नहीं खुले. स्थानीय अवकाश की वजह से स्कूल बंद रहे. शहर में कल से सरकारी स्कूल खुलेंगे. निजी स्कूल दीपावली के बाद खुलने की संभावना है.

ग्वालियर में लौटी रौनक
ग्वालियर में भी आज से प्रायमरी स्कूल खुल गए हैं. जिले में MP बोर्ड और CBSE के कुल 3042 स्कूल खोल दिये गए हैं. पूरे जिले के प्राइमरी स्कूल्स में करीब 2 लाख बच्चे पढ़ते हैं. 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल खोले गए हैं. एक क्लास में 20 बच्चों के बैठाने की व्यवस्था की गयी है. साथ ही सेनिटाइजर और थर्मल स्केनिंग के इंतेज़ाम किए गए हैं. हालांकि पहले दिन स्कूलों में बेहद कम बच्चे पहुंचे.

जबलपुर में बंद रहे स्कूल
जबलपुर में भी आज प्राइमरी स्कूल नहीं खुल पाए. दरअसल यहां आपदा प्रबंधन समिति की बैठक नहीं हो पायी थी. इसलिए इस बारे में फैसला नहीं हो पाया. यहां सरकारी स्कूलों के हालात बेहद खराब हैं. स्कूलों की सफाई नहीं हो पायी थी. अब जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद ही स्कूल खोलने का फैसला होगा.

खंडवा में बैंड बाजों के साथ प्रवेश
खंडवा में नन्हे-मु्न्ने बाजे गाजे के साथ स्कूल पहुंचे. टीचर्स को भी बच्चों के आने का इंतजार था. सभी बच्चों को माला पहनाकर उनका स्वागत किया गया. शिक्षक ने ढोल-नगाड़े के साथ बच्चों को घर से लाकर स्कूलों में प्रवेश कराया. बच्चे क्लास रूम में लगातार मास्क पहन कर बैठे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज