• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • कोरोना वैक्सीनेशन में MP अव्वल, देवास जिले की पूरी आबादी को लगा पहला टीका

कोरोना वैक्सीनेशन में MP अव्वल, देवास जिले की पूरी आबादी को लगा पहला टीका

एमपी में वैक्सीनेशन तेजी से कराया जा रहा है. फाइल फोटो

एमपी में वैक्सीनेशन तेजी से कराया जा रहा है. फाइल फोटो

MP News: मध्य प्रदेश कोरोना की वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) के मामले में देश में अव्वल चल रहा है. दूसरे राज्यों की तुलना में मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन बेहतर स्थिति है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) कोरोना (Corona) के वैक्सीनेशन (Vaccination) के मामले में देश में अव्वल चल रहा है. दावा किया गया है कि दूसरे राज्यों की तुलना में मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन बेहतर स्थिति है. कई बार वैक्सीनेशन को लेकर मध्य प्रदेश ने रिकॉर्ड बनाए. कई जिले की आबादी को वैक्सीन का पहला डोज लग गया है. प्रदेश की कई ग्राम पंचायतों में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है. 12 अगस्त तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो 3 करोड़ 67 लाख 39 हजार 380 वैक्सीन के डोज लग चुके हैं. इसमें पहला डोज 3,08,20,508 और दूसरा डोज 59,18,872 लोगों को लगा है.

मध्य प्रदेश ने 21 जून को एक दिन में 17 लाख से ज्यादा वैक्सीनेशन का रिकॉर्ड कायम किया था. वैक्सीनेशन की पहली डोज में देवास प्रदेश में नंबर वन पर है. यहां पूरी आबादी को पहला डोज लग चुका है. सीहोर के नगरीय क्षत्रों के साथ शाहगंज, बुधनी और रेहटी में भी शत प्रतिशत वैक्सीनेश का कार्य पूर्ण हो चुका है. प्रदेश की 220 पंचायतों में शत प्रतिशत वेक्सीनेशन पूरा हुआ. छिंदवाड़ा की गाजनडोह और रिधौरा पंचायत में भी 100% वैक्सीनेशन हुआ. परासिया ब्लॉक की दो पंचायतों में 100% वैक्सीनेशन का दावा है.

शहडोल में भी 100 फीसद वैक्सीनेशन
शहडोल जिले की बुढ़ार नगर परिषद क्षेत्र में सौ फीसद वैक्शीनेशन हुआ. जिले के जमुई गांव ने भी शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य हासिल किया है. शहडोल की 6 अन्य ग्राम पंचायतों में भी शत-प्रतिशत टीकाकरण सम्पन्न हुआ. छतरपुर प्रदेश का एक मात्र जिला है जहां अब तक दो नगर पालिकाओं और 9 नगर परिषदों सहित कुल 11 निकायों में पहले डोज का 100 फीसद वैक्सीनेशन हो चुका है. इन 11 निकायों को टीके का सुरक्षा चक्र मिलने के कारण इन इलाकों से कोरोना के नए मामले सामने नहीं आ रहे हैं.

टीकाकरण के लिए प्रेरित किया
यह इसलिए संभव हो सका है क्योंकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित किया गया. हर केंद्र पर प्रेरक भेजे गए. समुदाय में जाकर भी जनप्रतिनिधियों ने लोगों से टीका लगवाने की अपील की. राज्य टीकाकरण अधिकारी संतोष शुक्ला ने कहा कि टीका ही कोरोना से बचाव की गारंटी है. कार्ययोजना इस प्रकार से तय की गई जिससे छूटे हुए लोगों तक वेक्सीन पहुंच सके. मध्य प्रदेश ने दूसरे राज्यों से अलग रणनीति बनाई. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम में तीस हजार साथिया नाम से वालेंटियर बनाकर टीकाकरण का महाअभियान चलाया गया. साथ ही युवा शक्ति कोरोना मुक्ति प्रोग्राम के तहत कॉलेज के स्टूडेंट को जागरूक किया गया और उनका वैक्सीनेशन भी किया गया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज