MP में यूजी-पीजी परीक्षा ओपन बुक सिस्टम से कराने का फैसला, इंजीनियरिंग की परीक्षाएं होंगी ऑनलाइन

मध्य प्रदेश में 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने के बाद सीएम शिवराज ने यूपी और पीजी की परीक्षाएं ओपन बुक सिस्टम पर कराने का फैसला किया है.

मध्य प्रदेश में 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने के बाद सीएम शिवराज ने यूपी और पीजी की परीक्षाएं ओपन बुक सिस्टम पर कराने का फैसला किया है.

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कक्षा 12वीं की परीक्षा के बाद UG और पीजी की परीक्षाओं पर फैसला लिया. यूजी और पीजी की परीक्षाएं ओपन बिक सिस्टम से आयोजित कराने का फैसला हुआ. तकनीकी शिक्षा विभाग की सभी परीक्षाएं ऑनलाइन ली जाएंगी.

  • Share this:

भोपाल. मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कक्षा 12वीं की परीक्षा के बाद यूजी और पीजी की परीक्षाएं ओपन बिक सिस्टम से आयोजित कराने का फैसला लिया है. वहीं तकनीकी शिक्षा विभाग की सभी परीक्षाएं ऑनलाइन ली जाएंगी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिए कि जिन विद्यार्थियों के घर पर इंटरनेट की सुविधा नहीं है, उन्हें नजदीकी शिक्षा संस्थान में परीक्षा देने की सुविधा दी जाएगी.

मध्यप्रदेश में उच्च शिक्षा की परीक्षाएं ओपन बुक सिस्टम से ली जाएगी. विश्वविद्यालय प्रबंधन के तय तारीख और समय पर स्टूडेंट्स को ऑनलाइन प्रश्न पत्र विश्विद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा. जिसका उत्तर घर बैठे ही स्टूडेंट्स लिखेंगे. उत्तर पुस्तिका को पास के संग्रहण केंद्र में जमा करा कराना होगा. जिन परीक्षार्थियों के घर पर इंटरनेट सुविधा नहीं होगी उन्हें नजदीकी शिक्षा संस्थान में परीक्षा देने की सुविधा दी जाएगी.

जून में परीक्षाएं, जुलाई में घोषित होगा रिजल्ट

स्नातक तृतीय वर्ष (यूजी) और स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर (पीजी) की परीक्षा जून में आयोजित हो रही है. रिजल्ट जुलाई 2021 में घोषित किया जाएगा. स्नातक प्रथम और द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं जुलाई 2021 में होंगी. रिजल्ट अगस्त 2021 में घोषित किया जाएगा. प्रदेश के 8 विश्वविद्यालयों में स्नातक में कुल 14 लाख 88 हजार 958 परीक्षार्थी, स्नातकोत्तर कक्षाओं में 3 लाख 08 हजार 117 परीक्षार्थी बैठेंगे.
ऑनलाइन होंगी तकनीकी शिक्षा की परीक्षाएं

मुख्यमंत्री के साथ हुई बैठक में तय हुआ कि तकनीकी शिक्षा विभाग की सभी परीक्षाएं ऑनलाइन ली जाएगी. परीक्षा ओपन बुक पद्धति पर ही आयोजित होगी. ऑनलाइन परीक्षा के लिए 02 घंटे का समय तय किया गया है. परीक्षार्थी ऑनलाइन ही उत्तर लिखेंग. मूल्यांकन में 50% पिछले सेमेस्टरों तक अर्जित सीजीपीए का अधिभार मान्य किया जाएगा. परीक्षाएं जून और जुलाई में लू जाएगी. परीक्षाओं के 10 दिन के भीतर रिजल्ट घोषित होगा. प्रदेश में तकनीकी शिक्षा महाविद्यालयों में 1 लाख 87 हजार 811 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे.

स्नातक प्रथम वर्ष और स्नातकोत्तर फर्स्ट सेमेस्टर की प्रवेश प्रक्रिया 1 अगस्त से 



मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्च शिक्षा मंत्री और उच्च शिक्षा विभाग के तमाम अधिकारियों के साथ मंत्रालय में बैठक ली.बैठक में परीक्षाओं के साथ ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया और नवीन सत्र शुरू करने को लेकर भी प्रस्ताव पर चर्चा हुई. स्नातक प्रथम वर्ष और स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर के लिए 01 अगस्त से प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी. स्नातक द्वितीय तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर की कक्षाओं के लिए 01 से 30 अगस्त तक प्रवेश प्रक्रिया चलेगी. स्नातक प्रथम,द्वितीय,तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर प्रथम और तृतीय सेमेस्टर के लिए 01 सितंबर से नवीन सत्र शुरू होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज