Home /News /madhya-pradesh /

mp urban body elections 61 percent voting in the first phase least votes cast in bhopal mpsg

एमपी नगरीय निकाय चुनाव : पहले चरण में फीका रहा मतदान, 61 फीसदी वोटिंग, फिसड्डी रहा भोपाल

Voting percentage of the first phase. राजधानी भोपाल में पिछली बार के मुकाबले 16 फीसदी कम मतदान हुआ.

Voting percentage of the first phase. राजधानी भोपाल में पिछली बार के मुकाबले 16 फीसदी कम मतदान हुआ.

Voting first phase. मध्यप्रदेश में 44 जिलों के 133 नगरीय निकायों में साल 2014-15 के मुकाबले इस बार मतदान का प्रतिशत कम रहा. भोपाल जिले में 16 फीसदी की गिरावट हुई. 2014-15 में मतदान का प्रतिशत 56 रहा था. तो इस बार मात्र 43 फीसदी ही मतदान हुआ. जागरुकता कार्यक्रम के बावजूद महिलाओं की भागीदारी भी शहर की सरकार में कम नजर आयी.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव में पहले चरण का मतदान काफी फीका रहा. बुधवार को प्रदेश के 44 जिलों के 133 नगरीय निकायों में मतदान 61फीसदी रहा. निकाय चुनाव में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं मतदान के मामले में पीछे ही रहीं. राजधानी भोपाल में प्रदेश भर में सबसे कम मतदान हुआ. साल 2014-15 के मुकाबले यहां 16 फ़ीसदी कम वोट पड़े.

बुधवार को मध्य प्रदेश के 44 जिलों के 133 नगरीय निकायों के लिए पहले चरण में वोट डाले गए. मतदान की रफ्तार शुरू से ही धीमी ही रही. मतदान के मामले में आगर मालवा सबसे आगे रहा. वहां 88.40 फीसदी मतदान हुआ. उसके बाद रतलाम में 83.70 फीसदी रहा. देवास में 80.10 फीसदी, शाजापुर, उज्जैन, जबलपुर में 76 फीसदी वोटिंग हुई.

मतदान में राजधानी सबसे पीछे
मध्यप्रदेश में नगर निकाय चुनाव के पहले चरण में सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान हुआ. भोपाल में सिर्फ 43.80% लोग मतदान करने निकले. भोपाल में प्रदेश भर में महिलाएं भी सबसे कम घरों से निकलीं. भोपाल में मात्र 42% महिलाओं ने ही वोट डाले. प्रदेश भर में मतदान के मामले में भोपाल के पुरुष भी सबसे पीछे रहे. यहां सिर्फ 45.50% पुरुषों ने मताधिकार का इस्तेमाल किया. सिंगरौली में भी मात्र 50 फीसदी महिलाओं ने मतदान किया. तो वहीं टीकमगढ़ में महिलाओं का मतदान का प्रतिशत 66 फीसदी रहा. आगर मालवा में मतदान के मामले में महिलाएं भी अव्वल रहीं. वहां 85.40% महिलाओं ने मतदान में हिस्सा लिया तो वही रतलाम में 81फीसदी महिलाओं ने वोट डाले.

इंदौर में 60.88 प्रतिशत मतदान
इंदौर में कुल 60.88 प्रतिशत मतदान हुआ जो पिछले चुनाव की तुलना में 5 फीसदी कम है. 2015 में हुए नगर निगम चुनाव में लगभग 66 प्रतिशत हुआ था. सबसे ज्यादा विधानसभा एक में 63.88 फीसदी वोट पड़े. सबसे कम 58.06 प्रतिशत मतदान विधानसभा इंदौर-पांच में हुआ. मतदान में इंदौर रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में था. कम मतदान के लिए राजनीतिक दलों ने मतदाता सूची में गड़बड़ी को जिम्मेदार ठहराया.

2014-15 के मुकाबले कम मतदान
मध्यप्रदेश में 44 जिलों के 133 नगरीय निकायों में साल 2014-15 के मुकाबले इस बार मतदान का प्रतिशत कम रहा. भोपाल जिले में 16 फीसदी की गिरावट हुई. 2014-15 में मतदान का प्रतिशत 56 रहा था. तो इस बार मात्र 43 फीसदी ही मतदान हुआ. जागरुकता कार्यक्रम के बावजूद महिलाओं की भागीदारी भी शहर की सरकार में कम नजर आयी.

11 नगर निगम, 36 नगर पालिका और 86 नगर परिषद
नगरीय निकाय चुनाव के पहले चरण में 11 नगर निगम, 36 नगर पालिका और 86 नगर परिषद में मतदान हुआ. इनके लिए कुल महापौर पद के 101 अभ्‍यर्थी चुनाव मैदान में थे. पार्षदों के पद 2850 हैं. इनमें से 42 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है. बाकी 2808 पदों पर चुनाव हुआ. इसके लिए 11 हजार 250 अभ्‍यर्थी चुनाव लड़ रहे हैं.

Tags: Madhya pradesh latest news, Municipal Corporation Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर