होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /MP VYAPAM SCAM: सीबीआई कोर्ट ने 5 आरोपियों को सुनाई 7-7 साल की सजा, जुर्माना भी लगाया

MP VYAPAM SCAM: सीबीआई कोर्ट ने 5 आरोपियों को सुनाई 7-7 साल की सजा, जुर्माना भी लगाया

MP Latest News: मध्य प्रदेश व्यापम घोटाले में सीबीआई कोर्ट ने 5 आरोपियों को सजा सुनाई है.

MP Latest News: मध्य प्रदेश व्यापम घोटाले में सीबीआई कोर्ट ने 5 आरोपियों को सजा सुनाई है.

Bhopal News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh News) के व्यापम महाघोटाले (MP VYAPAM SCAM) में सीबीआई की कोर्ट ने 5 आरोपियों क ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापम महाघोटाले में बड़ा फैसला
5 आरोपियों को सीबीआई कोर्ट ने सुनाई 7–7 साल की सजा
आरोपियों पर 10–10 हजार का जुर्माना भी लगाया

भोपाल. मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापम महाघोटाले में 5 आरोपियों को सीबीआई की कोर्ट ने 7–7 साल की सजा सुनाई है. इसके साथ कोर्ट ने इन आरोपियों पर 10–10 हजार का जुर्माना भी लगाया. सीबीआई के विशेष न्यायाधीश नीति राज सिंह सिसोदिया की कोर्ट में सीबीआई ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट पेश की थी. यह चार्जशीट पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा 2013 के मामले में पेश की गई थी. इसी मामले में कुल 5 आरोपी साथ 7–7 साल की सजा सुनाई गईय सीबीआई के लोक अभियोजक मनुजी उपाध्याय ने कहा कि व्यापम ने 2013 में मध्य प्रदेश पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा आयोजित की थी

इसमें 4 परीक्षाथी कमल किशोर, अमर सिंह, नागेंद्र सिंह और सुरेश सिंह ने अपने स्थान पर किसी अन्य व्यक्ति को परीक्षा में बैठा कर लिखित परीक्षा  पास करने के लिए दलालों और मेडिएटर की मिलीभगत से परीक्षा पास की थी. नागेंद्र सिंह के स्थान पर रवि कुमार राजपूत ने परीक्षा दी थी. परिणाम आने पर चारों आरोपी पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा में पास हो गए थे.

ये भी पढ़ें:  मां ने 3 साल की मासूम के साथ की खौफनाक हरकत, फिर खुद लगाया मौत को गले

सीबीआई कर रही मामले की जांच

कोर्ट ने 32 गवाहों, 220 दस्तावेजों और 19 आर्टिकल के आधार पर चार परीक्षार्थियों कमल किशोर, अमर सिंह, नागेंद्र सिंह और सुरेश सिंह के साथ रवि कुमार को सजा सुनाई है. सजा सुनाए जाने के बाद सभी आरोपियों को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भोपाल सेंट्रल जेल भेज दिया है. इस मामले में पहले भी कई आरोपी जेल जा चुके हैं. एसटीएफ के बाद व्यापम महा घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है.

Tags: Bhopal news, Mp news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें