MP weather: भोपाल में 15 साल बाद मई में इतनी ठंडक, पारा सामान्य से 6 डिग्री कम, खंडवा मे तापमान 38.1 डिग्री

तूफान टाउते ने प्रदेश का मौसम बदल दिया. राजधानी में ठंडक छा गई. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश में टाउते तूफान का सीधा असर दिखाई दिया. राजधानी भोपाल में 15 साल बाद मई महीने में इतनी ठंडक महसूस हुई. यहां पारा सामान्य से 6 डिग्री नीचे चला गया. खंडवा में सबसे ज्यादा तापमान 38.1 डिग्री रिकॉर्ड किया गया.

  • Share this:
भोपाल. टाउते तूफान के बाद भोपाल के मौसम में ठंडक घुल गई है. शहर में मौसम का 15 साल पुराना रिकॉर्ड टूट गया. 15 साल में ऐसा पहली बार हुआ है जब मई के महीने में सबसे कम तापमान दर्ज किया गया. हालांकि, बूंदाबांदी से राहत के बाद भी खंडवा खूब तपा है.

मौसम विभाग के मुताबिक, गुरुवार को भोपाल में दिन का तापमान 34.7 डिग्री दर्ज हुआ जो सामान्य से 6 डिग्री कम रहा. शहर में बादल दिन भर लुका-छिपी खेलते रहे और हवाएं चलीं. बुधवार के मुकाबले तापमान में 0. 6 डिग्री की गिरावट हुई. बता दें, 2006 में 22 मई को दिन का तापमान 34.6 डिग्री दर्ज किया गया था.

सीजन में दूसरी बार रात का तापमान रहा सबसे कम

तूफान के असर से दिन के साथ-साथ रात के तापमान में भी गिरावट हो रही है. रात का तापमान 21.8 डिग्री दर्ज किया गया. इस सीजन में और मई महीने में दूसरी बार रात का सबसे कम तापमान रिकॉर्ड किया है. इससे पहले 4 मई को रात का तापमान 21.4 डिग्री दर्ज किया गया था.

प्रदेश के इन जिलों में हुई बारिश

टाउते तूफान की वजह से प्रदेश के कई जिलों में बारिश हुई. सीधी में 11.6 मिमी, मंडला में 2 मिमी, ग्वालियर में 0.4 मिमी, सतना में 3 सेमी, खजुराहो में 4 सेमी, पन्ना में 6 सेमी बारिश हुई.

प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्म रहा खंडवा

प्रदेश भर में सबसे ज्यादा तापमान खंडवा का रहा. खंडवा में तापमान 38.1 डिग्री, खरगोन में 37.6 डिग्री, रायसेन में 37.8 डिग्री, सीधी में 37 डिग्री, मंडला-नरसिंहपुर में 36.4 डिग्री, धार में 36.3 डिग्री, रतलाम में 36.2 डिग्री, इंदौर में 35.9 डिग्री, भोपाल में 34.7 डिग्री, सागर में 30 डिग्री, ग्वालियर में 29.3 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया.

तापमान के बढ़ने के आसार

मौसम विभाग का कहना है कि रात के तापमान में गिरावट के लिए तीन कारण हैं. बीते 4 से 5 दिनों में बारिश के कारण नमी बनी हुई है. 34 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चल रही हैं. हवाएं चलने से तापमान में इजाफा नहीं हुआ. मौसम विज्ञानियों का कहना है कि हवाओं का रुख उत्तर-पश्चिमी है. आने वाले 1 से 2 दिनों में तापमान में इजाफा होने की संभावना है.